Friday, March 30, 2018

कृष्ण के कहर की इंतहा नहीं होती अब बर्दास्त इसलिए छोड़ी भाजपा पार्टी ; उमेश भाटी

press-conference-of-bjp-leader-umesh-bhati-after-join-inld-faridabad

फरीदाबाद (abtaknews.com) 30 मार्च,2018; अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर उमेश भाटी पूर्व मीडिया प्रभारी भारतीय जनता पार्टी को छोड़ कर इंडियन नेशनल लोकदल में शामिल हो गए है। क्षत्रिय नेता उमेश भाटी ने भाजपा छोड़ इनैलो का दामन थामने के बाद अपनी प्रेस वार्ता में पत्रकारों को बताया कि पुत्र मोह में अहंकारी हुए केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर द्वारा पार्टी कार्यकर्ताओ को जलील किया जाता है। अब बेइज्जती बर्दास्त नहीं होती, उनका कहर असहनीय हो गया है।  इस लिए मजबूर होकर तीन दशक के बाद पार्टी छोड़ रहा हूँ। इनेलो प्रमुख एवं पूर्व मुख्य मंत्री ओमप्रकाश चौटाला का सच्चा सिपाही बनकर पार्टी और तिगांव क्षेत्र की सेवा करूंगा। 

भाजपा छोड़ इनैलो में शामिल हुए उमेश भाटी ने अपने संबोधन में कहा कि कृष्ण पाल को हम जैसे राजपूत पसंद नहीं उन्हें तो राज के ''पूत '' (जो सत्ता बदलते ही सत्ताधारियों से चिपक जाते हैं।) फरीदाबाद भाजपा में पुराना और कर्मठ कार्यकर्ता आज स्वयं को ठगा सा महसूस करता है। भारतीय जनता पार्टी फरीदाबाद में दो बातें चर्चित है पहली ना खाता ना बही जो कृष्ण पाल गुर्जर कहे वही सही  दूसरी कृष्ण पाल की चक्की चलती धीरे धीरे है लेकिन पीसती बरीक है उसमें से कोई एकाद दाना मेरे जैसा उच्छल कर बच जाता है। भाटी ने कहा बहुत जल्द फरीदाबाद भाजपा में भगदड़ मचेगी जो-जो भी नेता जी के सताए हुए हैं वो एक एककर पार्टी छोड़ेंगे।  भाजपा छोड़कर इनेलो  पार्टी में शामिल हुए उमेश भाटी ने कहा कि आगामी 15 अप्रैल को पल्ला में विशाल रैली के माध्यम से शक्ति प्रदर्शन करेंगे जिसमें इनैलो विधायक एवं हरियाणा विधानसभा प्रतिपक्ष नेता अभय सिंह चौटाला बतौर मुख्य वक्ता लोगों को सम्बोधित करेंगे। 
press-conference-of-bjp-leader-umesh-bhati-after-join-inld-faridabad

नीलम -बाटा रोड स्थित होटल अभिनंदन में आयोजित प्रेस वार्ता में इनैलो जिला अध्यक्ष देवेंद्र चौहान, युवा जिला अध्यक्ष अरविंद भारद्धाज , रूप सिंह लाम्बा, महिला नेत्री जगजीत सिंह कौर, पवन रावत, प्रेम सिंह धनकड़, रविंद्र पाराशर एडवोकेट, गगन सिंह शिशौदिया जिला अध्यक्ष फरीदाबाद अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा फरीदाबाद मुख्य रूप से मौजूद थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: