Friday, March 9, 2018

इजराइल के दूतावास से मिले मुख्यमंत्री मनोहर लाल शहर, गांव, कृषि और उद्योग पर रहेगा फोकस

CM meeting with Ambassador of Israel, and Chairman, NCSC Press Conference at Chandigarh

चण्डीगढ़, 9 मार्च(abtaknews.com) हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने हरियाणा विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के  पांचवें दिन सदन में घोषणा की कि सरसों की सरकारी खरीद 15 मार्च, 2018 से आरम्भ की जाएगी जो आमतौर पर पहली अप्रैल से आरम्भ होती है और सरकार सरसों के एक-एक दाने की खरीद करेगी। 
श्री धनखड़ बजट सत्र के दौरान इनेलो के रणबीर सिंह गंगवा द्वारा पूछे गए प्रश्न के उत्तर में सदन में बोल रहे थे। उन्होंने सदन को अवगत करवाया कि कपास, बाजरा, गेहूं और सरसों की उत्पादन लागत का अनुमान केन्द्रीयकृषि लागत और मूल्य आयोग द्वारा राज्य सरकारों, कृषि विश्वविद्यालयों अर्थ-शास्त्रियों अन्य विशेषज्ञों के साथ विचार-विमर्श के बाद लगाया जाता है। 
उन्होंने बताया कि उन उपजों के न्यूनतम समर्थन मूल्य का भुगतान चैक द्वारा किया जाता है। गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य का भुगतान बिलिंग-कम-भुगतान एजेंट और हैफेड मंडियों में सोसायटी के माध्यम से किया जाता है।
-----------------------------------------------------
चण्डीगढ़, 9 मार्च- हरियाणा सरकार ने विभिन्न विभागों में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा हरियाणा लोक सेवा आयोग/हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से आवेदन भेजे जाने के सम्बंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। 
इस सम्बन्ध में मुख्य सचिव द्वारा सभी प्रशासनिक सचिवों, विभागाध्यक्षों, आयुक्तों, अम्बाला, हिसार, रोहतक, गुरुग्राम, फरीदाबाद और करनाल मण्डल, रजिस्ट्रार पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय चण्डीगढ़ तथा प्रदेश के सभी उपायुक्तों को एक परिपत्र जारी किया गया है। परिपत्र में कहा गया कि सामान्यत: हरियाणा लोक सेवा आयोग या हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा विज्ञापित कुछ अन्य पदों के लिए सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों के आवेदनों को भेजने के मामले के निपटान करने में देरी हो जाती है, जिसके परिणामस्वरूप उम्मीदवारों के हित प्रभावित होते हैं। 
अब राज्य सरकार ने इस मामले पर विचार करके मानदण्ड निर्धारित किए हैं और सक्षम प्राधिकारी इन मानदण्डों की अनुपालना के उपरांत भर्ती एजेंसी को उनके आवेदन भेज सकते हैं। 
हरियाणा राज्य से सम्बन्धित भर्ती के मामले में जिन कर्मचारियों ने राज्य सरकार के साथ कोई बोंड नहीं किया है, को विभाग से एनओसी लेने की आवश्यकता नहीं होगी, उनके आवेदन राज्य भर्ती निकाय को भेजे जाने की अनुमति होगी। यदि कर्मचारी ने राज्य सरकार के साथ बोंड किया है तो उसे विभागाध्यक्ष की एनओसी लेनी होगी।
इसके अतिरिक्त, भर्ती निकाय सरकारी कर्मचारी से इस आशय की एक स्वघोषणा की भी मांग करेगा कि कर्मचारी के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही नहीं चल रही है।केन्द्र सरकार या अन्य राज्यों से सम्बन्धित भर्तियों के सम्बन्ध में भर्ती निकाय यह कह सकते हैं कि  आवेदन उचित माध्यम से जमा किए जाएं और इसलिए निर्देशों में निर्दिष्टï पूर्ववर्ती व्यवस्था प्रचलित रहेगी।
----------------------------------------
चण्डीगढ़, 9 मार्च- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने बताया कि हरियाणा में 130 स्थानों में से 87 स्थानों पर इंजेक्शन कुओं का निर्माण किया गया है, जिन पर आज तक राज्य निधि से 153.16 लाख रुपये की राशि खर्च हुई है। मुख्यमंत्री आज हरियाणा विधानसभा के चल रहे बजट सत्र के दौरान विधायक परमेंद्र सिंह ढुल द्वारा पूछे गये एक प्रश्न के जवाब में ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शेष कुओंं का निर्माण कार्य हरियाणा के विभिन्न जिलों में विभिन्न स्थ्लों पर प्रगति पर है।
उन्होंने बताया कि  राज्य के विभिन्न हिस्सों में इंजेक्शन कुओंं द्वारा कृत्रिम भूजल पुनर्भरण के लिए एक योजना तैयार की गई थी। परियोजना में चयनित किए गये 390 कुओं में से केवल पुनर्भरण के लिए 130 स्थान व्यवहार्य पाए गये हैं। 

--------------------------------------
 शहर, गांव, कृषि और उद्योग पर पूरा फोकस 

चंडीगढ़, 9 मार्च- रोहतक के विधायक और प्रदेश के सहकारिता राज्य मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर ने बजट को शहर, गांव, कृषि, उधोग, शिक्षा और स्वास्थ्य के प्रति समर्पित बताया है। उन्होंने कहा कि बजट में कोई भी नया कर नहीं लगाया है । कर्मचारियों व पेंशनर्स के लिए कैशलेस मेडिकल सुविधा का प्रावधान किया है । 
बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए मंत्री श्री ग्रोवर ने कहा कि हरियाणा का बजट 1 लाख करोड़ रुपए से अधिक को पार कर गया है। बजट में जिस तरह का आवंटन हुआ है , उससे समूचे हरियाणा का विकास होगा। शहरी विकास के लिए  5000 करोड़ रुपए से अधिक  का प्रावधान किया है । वही आईआईएम रोहतक का भवन निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। इस वर्ष से कक्षाएं नए कैंपस में आरंभ हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि युवाओं को शिक्षित करने के लिए 29 नए कॉलेज खुलेंगे। 20 नई आईटीआई बनेंगी। 22 आईटीआई आदर्श स्थापित होंगी। वही पलवल में बनाई जा रही विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय का काम तेजी से शुरू हो गया है और गुरुग्राम में अस्थाई कैंपस बना दिया गया है। महेंद्रगढ़ और गुरुग्राम में मेडिकल कॉलेज की स्थापना होगी। सीएचसी और पीएचसी पर हर माह बुजुर्गों के स्वास्थ्य की जांच के लिए कैंप लगाए जाएंगे। कानून व्यवस्था को और मजबूत बनाने के लिए पंचकूला में पुलिस कंट्रोल रूम बनेगा। साथ ही करीब 1000 महिला पुलिस कर्मियों की भर्ती भी होगी। उन्होंने कहा कि बजट में हर वर्ग का पूरी तरह ख्याल रखा गया है। साथ ही हरियाणा की जनता पर कर का कोई बोझ भी नहीं डाला गया है।
----------------------------------
शहरी विकास और महिला उत्थान में आएगी तेजी: जैन 
चंडीगढ़, 9 मार्च- हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कविता जैन ने वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु द्वारा पेश किए गए बजट में शहरी विकास के लिए 13.13 प्रतिशत तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के लिए 10.80 प्रतिशत बजट में बढोतरी की सराहना करते हुए कहा कि इससे शहरी विकास और महिला उत्थान की योजनाओं को तेजी से क्रियान्वित किया जाएगा। 
आज यहां बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन ने कहा कि प्रदेश में शहरों के सुनियोजित विकास के लिए खाका तैयार किया गया है, जिसमें केंद्र सरकार की सहायता से हरियाणा सरकार गुरूग्राम को स्वंय के संसाधनों से स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित कर रही है। वहीं फरीदाबाद और करनाल शहर को स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने के लिए चुना जा चुका है। इस कडी में अमु्रत योजना के तहत प्रदेश के 18 शहरों में सीवरेज, पानी, परिवहन, पर्यावरण, सामुदायिक विकास पर जोर दिया जा रहा है। प्रदेश में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 882.50 करोड रूपए की राशि से 11,259 ईडब्ल्यूएस फ्लैट्स के निर्माण को स्वीकृति भी प्रदान की गई है। मंत्री कविता जैन ने कहा बीते वित्त वर्ष के मुकाबले शहरी विकास के लिए इस बार 5626.84 करोड रूपए का आवंटन किया गया है, जिसमें 4221.83 करोड रूपए स्थानीय निकाय क्षेत्रों के लिए तथा 1405.01 करोड रूपए नगर एवं ग्राम आयोजना के लिए आवंटित किए गए है, जो गत वर्ष के मुकाबले 13.13 प्रतिशत अधिक है। 
महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कविता जैन ने कहा कि वर्तमान सरकार के प्रयास और बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान के सफल क्रियान्वयन की बदौलत वर्ष 2011 में प्रति हजार लडकों पर 830 लडकियों के जन्म से अब वर्ष 2017 में प्रति हजार लडकों पर 914 लडकियों का स्तर पहुंच गया है। महिला विकास एवं बाल विकास के लिए आगामी वित्त वर्ष के लिए 10.80 प्रतिशत अधिक धन के आवंटन से कुपोषण, महिला सुरक्षा समेत विभिन्न बिंदुओं पर बेहतर तरीके से काम करना संभव होगा। उन्होंने कहा कि बजट में सभी वर्गों का ख्याल रखा गया है, जो प्रदेश के विकास के क्षेत्र में आगे ठोस तरीके से बढने की सीढ़ी साबित होगी।
------------------------------------------------------------
चंडीगढ़, 9 मार्च- हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने आज वित्त मंत्री द्वारा हरियाणा विधानसभा में पेश किए गए बजट 2018-19 को शिक्षा उन्मुखी बताया और कहा कि इससे प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता में और अधिक सुधार आएगा। उन्होंने बताया कि हरियाणा राज्य के 35 राजकीय महाविद्यालयों में बेहतर शिक्षा के लिए स्मार्ट कक्षाएं स्थापित की गई हैं। राजकीय महाविद्यालय, पंचकूला में एक ऊष्मायन (इंक्यूबैशन) केंद्र स्थापित किया गया है और संचालन के लिए तैयार है।
उन्होंने बताया कि हरियाणा के स्कूलों में अध्ययन एवं संस्कार ग्रहण करने की प्रक्रिया के लिए, हरियाणा के स्वर्ण जयंती वर्ष के दौरान स्वच्छ प्रांगण, सु-संस्कार, सुगम शिक्षा और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की नई योजनाएं  शुरू की गई हैं। श्री शर्मा ने बताया कि उच्चतर शिक्षा की विभिन्न योजनाओं के तहत विभिन्न श्रेणियों के लगभग 1.18 लाख विद्यार्थी लाभान्वित हुए हैं। इनमें छात्रवृत्ति, प्रोत्साहन और वजीफा योजनाएं शामिल हैं। उन्होंने बताया कि राज्य के हर कोने में सभी विद्यार्थियों तक उच्चतर शिक्षा की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए वर्ष 2017-18 में अलेवा, हथीन और बरोटा में तीन नए राजकीय महाविद्यालय शुरू किए गए हैं और सरकार ने सोनीपत, शहजादपुर, उकलाना, उगालन, गुल्हा चीका, मानेसर, जुंडला, कुरुक्षेत्र, उन्हानी, छिलरो, कालांवाली, रानियां, मोहना, बिलासपुर, रादौर, बडोली, रायपुर रानी, मंडकोला, नाचौली, लोहारू, तरावड़ी, रिठोज, खेड़ी चोपटा, डाटा, कुलाना, हरिया मंडी, चमू कलां, बल्लबगढ़ और सेक्टर-52, गुरुग्राम में 29 राजकीय महाविद्यालय खोलने का भी निर्णय लिया है। इन महाविद्यालयों का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है और इन महाविद्यालयों में आगामी शैक्षणिक सत्र से कक्षाएं अस्थायी भवनों में शुरू हो जाएंगी।
उन्होंने बताया कि हरियाणा में वर्ष 2017 में गुरुग्राम विश्वविद्यालय, गुरुग्राम और वल्र्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिजाइन, सोनीपत की स्थापना हुई। नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, सोनीपत में कक्षाएं वर्ष 2018-19 से शुरू होनी प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि बजट अनुमान 2018-19 में शिक्षा (प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्चतर शिक्षा) के लिए कुल 13,978.22 करोड़ रुपये के परिव्यय का प्रस्ताव किया गया जो कि संशोधित बजट 2017-18 के 12,606.08 करोड़ रुपये पर 10.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।
------------------------------------

चंडीगढ़, 9 मार्च- हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने बताया कि इस बजट से तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा। इस वर्ष तकनीकी शिक्षा के लिए 482.95 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पंचकूला और रेवाड़ी में दो नए राजकीय बहुतकनीकी-सह-बहु कौशल विकास केन्द्रों और यमुनानगर के सढ़ौरा में एक राजकीय बहुतकनीकी का निर्माण कार्य प्रगति पर है। इनके अलावा राज्य सरकार ने झज्जर के सिलानी केशो और रेवाड़ी के जैनाबाद में दो नए इंजीनियरिंग कॉलेज स्थापित किए हैं जिनमें शैक्षणिक सत्र 2017-18 से कक्षाएं  शुरू हो गई हैं। 
उन्होंने बताया कि दो प्रमुख संस्थानों नामत: भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) रोहतक और भारतीय डिजाइन संस्थान (एनआईडी) कुरुक्षेत्र के भवन निर्माण के अन्तिम चरण में हैं और शैक्षणिक सत्र 2018-19 से नए परिसरों में कक्षाएं शुरू होने की सम्भावना है। 
श्री शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईएफटी) पंचकूला का निर्माण कार्य शीघ्र ही शुरू होने की संभावना है। इसी प्रकार शैक्षणिक सत्र 2018-19 से राजकीय बहुतकनीकी पिंजौर और पंचकूला के नए भवन में कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।
----------------------------------------
चंडीगढ़, 9 मार्च- हरियाणा के पर्यटन मंत्री श्री राम बिलास शर्मा ने बताया कि आज वित्त मंत्री द्वारा प्रस्तुत किए गए बजट से राज्य में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। सरकार द्वारा पर्यटन के क्षेत्र में इस वर्ष 52.12 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। स्वदेश दर्शन योजना के तहत रेवाड़ी-महेंद्रगढ़-माधोगढ़ के लिए टूरिज्म इन्फ्रास्ट्रक्चर हैरिटेज सर्किट विकसित किया जाएगा।
श्री शर्मा ने बताया कि सरकार द्वारा सिंधु दर्शन, मानसरोवर यात्रा और गुरु दर्शन यात्रा के लिए तीर्थ यात्रियों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने कृृष्ण सर्किट के तहत कुरुक्षेत्र की पहचान एक प्रमुख पर्यटन गंतव्य स्थल के रूप में स्थापित की है। इसके लिए, राज्य द्वारा ब्रह्मसरोवर, ज्योतिसर, नरकातारी और सन्निहित सरोवर के अतिरिक्त शहरी अवसंरचना का विकास किया जा रहा है। 
----------------------------------------


loading...
SHARE THIS

0 comments: