Monday, March 5, 2018

सर्व कर्मचारी संघ 14 से 20 मार्च तक सरकार के खिलाफ करेगा प्रदेशव्यापी आन्दोलन


All employees' union will fight against the government from March 14 to March 20

फरीदाबाद,5 मार्च (abtaknews.com) सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने सरकार के खिलाफ प्रदेशव्यापी आन्दोलन का बिगुल बजा दिया है। यह जानकारी देते हुए सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा,वरिष्ठ उप प्रधान नरेश शास्त्री व मुख्य संगठनकर्ता बीरेन्द्र सिंह डंगवाल ने यह जानकारी देते हुए बताया की आन्दोलन के प्रथम चरण में विभिन्न विभागों के कर्मचारी 14 से 20 मार्च के बीच सभी मंत्रियों के आवासों पर प्रदर्शन करेंगे और मांग पत्र देकर चुनाव धोषणा पत्र में कर्मचारियों से  कियें वादों पर अमल करने की मांग करेंगे। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने सरकार पर जनसेवाओं के विभागों मे पीपीपी, निजीकरण व आऊटसोर्सिंग की जन विरोधी नीतियों को लागू करने और कर्मचारियों की एकता तोड़ने के आरोप लगायें है । सकसं ने आन्दोलन के दुसरे चरण मे सरकार की वादाखिलाफी और मांगों की धोर अनदेखी के विरोध मे 29 अप्रेल को जीन्द में राज्य स्तरीय रैली करने का ऐलान किया है । प्रदेश के कर्मचारी 21 से 26 मार्च तक कर्मचारी डीसी कार्यालयों पर सामूहिक पड़ाव डालेंगे और 27 मार्च को डीसी कार्यालयों पर आक्रोश प्रदर्शन करते हुए नयी अंशदायी पैंशन स्कीम को बन्द करने व जनवरी,2006 के बाद सेवा मे आयें कर्मचारियों को पुरानी पैंशन स्कीम के दायरे में लाने व सभी प्रकार के कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने ,पक्का होने तक बिना भेदभाव के समान काम के लिए वेतनमान देने के समर्थन प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम कर्मचारियों का हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन उपायुक्तों को सौंपे जायेंगे। 

कर्मचारियों की प्रमुख मांगें निम्न है:- कर्मचारियों की प्रमुख मांगों में  2 वर्ष की सेवा पुरी कर चुके सभी प्रकार के पार्ट-टाइम व कच्चे कर्मचारियों को बिना शर्त पक्का किया जायें,गैर कानूनी ठेकेदारों के मार्फत लगायें गयें कर्मचारियों को सीधा विभागों के रोल पर रखा जायें,पक्का होने तक सभी कच्चे कर्मचारियों को समान काम,समान वेतन सहित पैंशन,ग्रेज्यूटी,सभी प्रकार के अवकाश,मेडिकल लाभ ,नौकरी की सुरक्षा आदि सामाजिक लाभ दियें जाये,जनसेवा के विभागों में खाली पड़े लाखों पदों को पक्की भर्ती से भरते हुये इनको मजबूत किया जायें,आरक्षित श्रेणियों के बैकलॉग को विशेष भर्ती से भरा जाये,पंजाब के समान वेतनमान व पैंशन दी जाये, निजीकरण व ठेका प्रथा पर रोक लगाई जाये,सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों अनुसार सभी प्रकार के भत्तों को जनवरी,2016 से बढाया जाये,बिना सीमा के कर्मचारियों,पैंशनर्ज व उनके आश्रितों को कैशलेस मेडिकल सुविधा देना ,सांतवे वेतन आयोग की विसंगतियों को दुर किया जाये, आंगनबाड़ी,आशा,मिड-डे-मील ,ग्रामिण चौकदारों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा दिया जाये व प्रदेश मे चल रहे विभागीय यूनियनों/एसोसिएशनों के आन्दोलनों का बातचीत से समाधान करना आदि शामिल है ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: