Sunday, February 4, 2018

पुलिस ने पकडे झारखडं से लडकियों को काम दिलाने के बहाने यौन शोषण करने के आरोपी

Accused of sexually assaulting girls in Jharkhand police custody

फरीदाबाद(abtaknews.comदुष्यंत त्यागी)काम दिलाने के बहाने झारखंड से लडकियों की खरीद फ्ऱोखत कर उन्हेें एनसीआर मे लाकर उनका शोषण करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके कब्जे से पांच लडकियों को भी फरीदाबाद के अलग अलग स्थानों से छुडाया गया है। वहीं अभी आरोपियों के दो अन्य साथी फरार हैं जिनमें एक महिला भी शामिल है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाही शुरू कर दी है। पिछले चार साल के दौरान आरोपी झारखंड से 28 लडकियों को एनसीआर में लाए हैं जोकि यहां आने के बाद उन पर अत्याचार किए जाते हैँ। इस बात का खुलासा डीसीपी सैँट्रल भूपेन्द्र ङ्क्षसह ने पत्रकार वार्ता के दौरान किया है। 

झारखडं से लडकियों को काम दिलाने के बहाने उनका शोषण एवं उनपर अत्याचारी आरोपी फरीदाबाद पुलिस की गिरफ्त में हैं। ये आरोपी पिछले चार साल इस काम का अंजाम दे रहे थे और फरीदाबाद में ही इन्होंने दो मकानों में अपना ठिकाना बनाया हुआ था। डीसीपी सैँट्रल भूपेन्द्र ङ्क्षसह की मानें तो सुरेन्द्र मालतों और अरूण को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है दोनो ंआरोपी झारखंड के रहने वाले हैं। सरेन्द्र झारखंड से एक लडकी को पांच हजार रूपये में खरीद कर लाया था जिसको उसने आगे बेच दिया। और उसके बाद उस पर काफी अत्याचार हुए पीडित लडकी को एक एनजीओं ने इनके कब्जे से छुडाया था जिसके बाद उसे बादशाह खान अस्पताल में भर्ती कराया हुआ है।  उसके बाद पुलिस ने इस मामले की गहनता से जांच की है और इसके अलावा इसी गिरोह के दो सदस्य अभी फरार हैं जिनमें एक महिला भी शामिल है। डीसीपी के अनुसार ये चारों मिलकर झारखंड से लगभग 28 नाबालिग लडकियों को अभी तक ला चुके हैं जिन्हें आरोपियों ने दिल्ली सहित अलग अलग जगह पर छोडा हुआ है। पुलिस ने पांच लडकियों को फरीदाबाद में इनके चुंगल से छुडाया है। जल्द अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया जाएगा। आरोपी लडकियों को घरो में काम दिलवाने की एवज में एक साल की पेमेेंट मकान मालिक से ले लेते थे और लडकियों को पैसे नहीं देते थे । पैसे ना देने का कारण था कि कभी लडकी यहां भाग ना जाए। 

आरोपी सुरेन्द्र नें मीडिया को बताया कि वे पिछले चार साल से इस गंदे धंधे में संल्पित है। अभी तक 28 से जयादा लडकियों को झारंखड से ला चुका है। आरोपी की मानें तो वह झारखंड से लडकियां लाकर उन्हें मनी मिश्रा को सौंप देता था। इसके बाद उन्हें घरों में काम दिलवाने के एवज में एक साल की पेमेंट ले ली जाती थी ओर लडकियों को पैसे नहीं दिए जाते थे। सब इंस्पेक्टर राजरानी महिला थाना फरीदाबाद के द्वारा आरोपी से गहन पूछताछ की गई पूछताछ के दोरान आरोपी सुरेंदर ने बताया की वह अपने व् आस पास के गाँव झारखंड से लडकिया खरीद कर मणि मिश्रा व् उसकी घर वाली को 15.20 हजार में बेच देता था।

आरोपी सुरेंदर ने बतलाया की मणि मिश्रा और उसकी पत्नी मेरे द्वारा लाइ गई लडकियों को आगे घरेलू कार्य करने के लिए फरीदाबाद व् छब्त् एरिया के घरो में सप्लाई करता था। आरोपी सुरेंदर ने बतलाया की लडकियों की देख रेख के लिए अरुण नाम के लड़के को रखा हुआ था।आरोपी सुरेंदर ने बताया की इस केस की पीडिता लड़की के साथ मैंने व् मणि मिश्रा ने कई बार जबरदस्ती गलत काम किया था मणि मिश्रा इस लड़की को दिल्ली से वापिस लेकर आया था और इस लड़की को पगार के रूप में मिले 30 हजार रुपयों को भी आरोपी मणि मिश्रा व् सुरेंदर ने मारपीट कर छीन लिये थे।आरोपी सुरेंदर ने बताया की मणि मिश्रा के दो घर है जहा एक में वो अपनी बीवी बच्चो के साथ खुद रहता है व् एक घर जहा पर वो खरीद कर लाइ गई लडकियों को रखता है वहा से मै 3 लडकियों को बरामद करवा सकता हु।  आरोपी सुरेंदर अब तक मणि मिश्रा को 25.30 लडकिया बेच चूका है। 



loading...
SHARE THIS

0 comments: