Tuesday, February 6, 2018

उत्तर प्रदेश का अपना घर मेले में दर्शकों को कर रहा है अपनी ओर आकर्षित

Uttar Pradesh's own home is doing its best to attract visitors to the fair

फरीदाबाद 5 फरवरी(abtaknews.com ) यूपी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा। यह टैग लाईन इस बार 32वें अंतराज़्ष्ट्रीय सूरजकुंड षिल्प मेला में थीम राज्य उत्तर प्रदेष ने दी है और हर बार की तरह इस बार भी थीम राज्य द्वारा अपना घर स्थापित किया गया है। थीम राज्य उत्तर प्रदेष ने अपना घर मुख्य चैपाल के पीछे मुख्य द्वार पर स्थापित किया है और उत्तर प्रदेष के अपना घर में आपको उत्तर प्रदेष के ग्रामीण आंचल में बसने वाले लोगों के घरो जैसे घर को दषायज़ गया है। यह घर कच्ची मिट्टी व लेप से तैयार किया गया है और छत पर घास-फूंस का छप्पर लगाया गया है। आपने अपने बचपन में ग्रामीण आंचल में इस प्रकार के घर देखे होंगे।


उत्तर प्रदेष के अपना घर में आप लोगों को एक खटिया, मेज तथ कुसीज़् दिखाई देगी जो कि वहां पारंपरिक घरों में आम तौर पर होती है। इसके अलावा उत्तर प्रदेष के अपना घर में एक कुंआ जिस पर चाप है जिसे हम आमतौर पर हेंडपंप भी कहते हैं, को दषायज़ गया है। वहीं दूसरी ओर अपना घर में नीचे बैठने के लिए एक समतल स्थान भी मिट्टी और लेप से तैयार किया गया है जो कि उत्तर प्रदेष में ऐसे ग्रामीण घरों में होते हैं। उत्तर प्रदेश के अपना घर में करघा को भी दिखाया गया है, जिस पर षिल्क का कायज़् करते हुए कलाकार भी उपस्थित है। इस करघा को देखकर लोग काफी उत्साह के साथ देख रहे हैं और उक्त कलाकार के साथ अपना घर तथा उसमें रखे हुए सामान के बारे में जानकारी ले रहे हैं। 

गाजियाबाद से आए हुए राममेहर ने बताया कि वे इस मेला में दूसरी बार आए हैं और उन्होंने यहां पर यूपी द्वारा बनाई गई विभिन्न कलाकृतियों को देखा है लेकिन जब वे थीम राज्य उत्तर प्रदेष के अपना घर में आए तो उन्हें अपना बचपन याद आ गया कि वे भी इस प्रकार से ऐसे ही घरों में पले-बढे हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेष में पहले ज्यादातर ग्रामीण आंचल में इसी प्रकार के छप्पर वाले घर हुआ करते थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: