Thursday, February 22, 2018

न्यायालयो में हिन्दी भाषा लागू कराने के लिए वकीलो ने की नारेबाजी सौपा ज्ञापन



फरीदाबाद (abtaknews.com) 22 फरवरी,2018;  पंजाब एण्ड हरियाणा उच्च न्यायालय की भाषा के रूप में हिन्दी को प्राधिकृत करने के लिए सैकडो वकीलो ने आज मुख्यमन्त्री के नाम तहसीलदार सुशील शर्मा को सैक्टर-12 लघुसचिवालय में जिला संयोजक भारतीय भाषा अभियान के अध्यक्ष करतार सिंह रावत व सह सयोजक हरियाणा प्रदेश संतराम शर्मा के नेतृत्व में ज्ञापन सौपा और हिन्दी भाषा लागू करने के लिए नारे लगाए गए और मांग की सभी न्यायालयो में हिन्दी भाषा में कार्यघ्किया जाए। बार कांउसिल पंजाब एण्ड हरियाणा एनरोलमैन्ट कमैटी चैयरमैन ओ$पी$ शर्मा ने कहा कि भारत में सभी न्यायालयो के प्रसासनिक सेवा में सभी कार्य हिन्दी में होने चाहिए बार काउंसिल पंजाब एण्ड हरियाणा अनुसासन व निगरानी कमेटी के मनोनित सदस्य शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने कहा कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भी कहा है कि न्यायालय में स्थानिय भाषा में बहस और निर्णय होने चाहिए। और देश के सभी सरकारी संस्थाओ में भी हिन्दी अनिर्वाय कर देनी चाहिए। चैयरमैन कंवर दलपत सिंह ने कहा कि स्वंत्रता के 70 वर्षो के बाद भी पंजाब एण्ड हरियाणा उच्च न्यायालय में काम काज की भाषा अंगे्रजी है जबकि हिन्दी में होना चाहिए। इस मौके पर जिला बार एसोसिएसन माहसचिव सतबीर शर्मा एडवोकेट आर एस पारासर ओ$पी$ यादव सुखराम जाखड कैलाश वशिष्ठ सुरेन्द्र खत्री मनोज शर्मा नदन कौशिक राजकुमार शर्मा डा आलोकदीप अवदेश शर्मा डी$एस रावत पवन मनोज नरेश अरसद खान अफाक खान आदि अधिवक्ता मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: