Wednesday, February 28, 2018

एक कोशिश। थैलासीमिया को जड़ से ख़तम करने की


फरीदाबाद (abtaknews.com)एक कोशिश। थैलासीमिया को जड़ से ख़तम करने की। रविंदर डुडेजा, डॉ पुनिता हसीजा, मीनाक्षी, लक्ष्य व् मदन चावला ने  डी. ए.  वी. इंस्टिट्यूट ऑफ   मैनेजमेंट  फ़रीदाबाद के छात्र छात्राओ को थैलासीमिया के बचाव के बारे में जानकारी दी। छात्र छात्राओ  को काफी विस्तार से डॉ पुनिता ने बतया की किस प्रकार हम सब मिल के थैलासीमिया रोग को जड़ से ख़तम कर सकते है। उन्होंने  छात्रों को बताया की अगर पति पत्नी  दोनों ही थैलासीमिया करियर / माइनर होंगे तभी ऐसा बच्चा पैदा होगा।  बहुत से छात्रों ने तो थैलासीमिया जैसी घातक बीमारी तक के बारे में तो सुना तक ही नहीं था। परन्तु जब उनको यह विस्तार से बताया गया ही थैलासीमिया ग्रस्त बच्चे को जीवनभर दूसरे के रक्त पर व् काफी महगी दवाइयों पर जीवित रहना पड़ता है।  तो वो सब थैलासीमिया करियर का टेस्ट करवाने के लिए तैयार  हो गए इस अवसर पर रविंदर डुडेजा व् मदन चावला ने सभी बच्चो को आश्वान दिया की संस्था की और से आने वाली 8 मार्च को एक निशुल्क  थैलासीमिया करियर का कैंप  डी. ए.  वी. इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट में लगया जायेगा। 

जिसके लिए  डी. ए.  वी. इंस्टिट्यूट ऑफ   मैनेजमेंट की प्रिंसिपल नीलम गुलाटी, वन्दना जैन , रीमा नांगिया, लक्ष्य वासुदेवा पूरा सहयोग रहेगा जिसके लिए उन्होंने आश्वासन दिया है।  मदन चावला ने बच्चो से प्रार्थना की वो फाउंडेशन अगेंस्ट थैलासीमिया के मिशन में साथ दे ताकि 2025 तक भारतवर्ष में एक भी थैलासीमिया ग्रस्त बच्चा पैदा ना हो। मीनाक्षी शर्मा जो एक थैलासीमिया ग्रस्त बच्चे की माँ है उन्होंने छात्र छात्राओ अपनी दर्द भरी कहानी बच्चो की बताई की किस प्रकार एक मासूम को हर 15-20 दिन बाद रक्त चढ़वाना पड़ता है कितना दर्द उस बच्चे को सहन करना पड़ता है जिसमे उस बच्चे का कोई दोष नहीं है।  दोष है तो सिर्फ नासमझी का जिसके कारण थैलासीमिया ग्रस्त बच्चा उनके यह पैदा हुआ उन्होंने को बताया की किस प्रकार उस मासूम को देख कर रोना आता है जब उसको सुइयों का दर्द सहन करना पड़ता है  पर उसके सामने रो भी नहीं सकती अगर मै रोउंगी तो वो मासूम टूट जायजा।

उन्होंने को बताया की अब जब सब जानकारी भी है उसके लिए फॉउण्डेशन अगेंस्ट थैलासीमिया संस्था  हर समय उनके साथ है व् उनके निशुल्क टेस्ट भी रोटरी क्लब ऑफ़ दिल्ली साउथ सेंट्रल दवरा करवाए जायेगे जिसके लिए रोटरी क्लब ऑफ़ दिल्ली साउथ सेंट्रल के प्रेजिडेंट श्री मुकेश अग्रवाल जी ने आश्वासन दिया है की सब के टेस्ट उनका क्लब फ्री करवाएगा अगर इन सब के होते हुए भी उनके यह थैलासीमिया गस्त बच्चा पैदा होता है तो समझना जानभुज कर ऐसा किया।  मीनाक्षी की दर्दभरी दास्तान सुन के बच्चे बहुत ही प्रभवित हुए उन्होंने वडा किया की वो थैलसिमिया का टेस्ट तो करवाएंगे ही उन बच्चो के बच्चो के लिए रक्त भी दान करेंगे।     

loading...
SHARE THIS

0 comments: