Thursday, February 8, 2018

हरिया गिरोह का अरुण गुर्जर मुठभेड़ में मारा गया, फरीदाबाद पुलिस ने गांव अरुआ में किया एनकाउंटर


फरीदाबाद (abtaknews.com) 08 फरवरी,2018 ; कुख्यात हरिया गिरोह का अरुण गुर्जर मुठभेड़ में मारा गया,  फरीदाबाद पुलिस ने गांव अरुआ में किया एनकाउंटर। सफेद रंग की ब्रेजा गाड़ी में आए थे हरिया उर्फ़ पवन सहित 3 बदमाश जिनमें हरिया और उसका एक अन्य साथी भागने में कामयाब हो गया जबकि अरुण गुर्जर को पुलिस ने एनकाउंटर में मारा गिराया।  अरुण गुर्जर भैंसरावली गांव का रहने वाला है।  हरिया ने पिछले 3 महीने में भैंसरावली गांव में एक दूधिया भीम का मर्डर किया था।  इसके बावजूद वह पुलिस की गिरफ्त से दूर था। तिगांव के निकट गांव भैंसरावली में  दो बार दो घरों पर लगभग 60- 60 गोलियां चलाकर ग्रामीणों में दहशत बना चुका है।इनामी बदमाश हरिया हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश तथा राजस्थान का मोस्ट वांटेड है। बुधवार की रात 12 बजे से बृस्पतिवार सुबह
  2.30 बजे तक पुलिस की बदमाशों के साथ मुठभेड़ चली। बदमाशों की सफेद रंग की ब्रेजा गाड़ी क्षतिग्रस्त हालत में छायंसा थाने में खड़ी है। इस पूरे एनकाउंटर को क्राइम एसीपी राजेश चेची लीड कर रहे थे। छायंसा थाने और सीआईए की कई टीमें इस मुठभेड़ में शामिल रहीं।
 हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली एनसीआर के इनामी बदमाश हरिया उर्फ़ पवन सहित चार साथियों के साथ देर रात फरीदाबाद पुलिस की जमकर मुठभेड हुइ घंटों चली पुलिस और बदमाशों की मुठभेड में इनामी बदमाश का साथी वरुण मारा गया, एनकाउंटर में साथी के मरते ही हरिया अपने दो अन्य साथियों के साथ बरेजा गाडी को छोडकर पुलिस को चकमा देकर भाग निकला, पुलिस ने वरुण के शव को पोस्टमार्डम के लिये अस्पताल में रखवा दिया है और इनामी बदमाश हरिया और उसके साथियों की जांच के लिये टीम लगा दी हैं। बता दें कि हरिया ने हाल में राजस्थान की एक ज्वैलरी शाॅप में लूट की थी और इससे पहले फरीदाबाद के भैंसरावली गांव में एक दूधिया की हत्या कर तिगांव में दो मकानों पर अंधाधुध फायरिंग की थी।

फरीदाबाद पुलिस ने शहर को अपराध मुक्त करने के लिये अपने हथियार उठा लिये जिसका एक उदाहरण बीती रात फरीदाबाद में उस वक्त देखा गया जब इनामी बदमाश हरिया पर पुलिस ने घेराबंदी कर दी। बता दें कि हरिया ने हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली एनसीआर में हत्या, लूट, डकैती और चोरी की वारदातों से आंतक मचाया हुआ है जिसको लेकर पिछले कई महीनों से फरीदाबाद पुलिस की टीमें हरिया और उनके साथियों की तलाश में जुटी हुई थी, जिसकी मुखबिर द्वारा रात को सूचना मिली, सूचना पर पुलिस ने ब्रेजा गाडी में अपने तीन अन्य साथियों के साथ एक और वारदात की फिराक में घूम रहे हरिया और उनके तीन साथियों की घेराबंदी की, घेराबंदी के दौरान बदमाशों ने पुलिस पर फायर करना शुरु कर दिया जिसके जबाब में पुलिस ने बदमाशों पर गोली दागना शुरु कर दिया। पुलिस ने बल्लभगढ के बहबलपुर गांव से बदमाशों का पीछा करना शुरु किया और करीब 2 घंटों तक पीछा करते हुए गांव अरुआ चांदपुर में एनकांउटर को अंजाम दिया। जिसमें हरिया के एक साथी वरुण को गोली लगी, साथी को गोली लगने के बाद हरिया अपने तीन साथियों के साथ गाडी को छोड पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस घायल वरुण को अस्पताल लेकर गई जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

वहीं क्राईम ब्रांच एसीपी राजेश चेची ने बताया कि इनामी बदमाश ने हाल में राजस्थान के एक ज्वैलरी शाॅप में लूट की वारदात को अंजाम दिया है जिसके लिये राजस्थान पुलिस भी इनके पीछे लगी हुई थी। पिछले दिनों के अपराध ग्राफ की बात क तो हरिया भैंसरावली गांव का रहने वाला है जहां कुछ महीने पहले हरिया ने एक दूधिया की गोली मारकर हत्या की थी और उसके बाद गवाहों को धमकाने के लिये तिगांव में दो मकानों पर अंधाधुध गोलियां बरसाई। पुलिस को लंबे अर्से से हरिया और उनके साथियों की तलाश थी, मगर इस बार भी हरिया पुलिस के हाथों से बच निकला, जिसकी पुलिस टीम लगातार जांच कर रही हैं। वहीं पुलिस ने लोगों से ईनामी बदमाश को पकडवाने में सहयोग की मांग की है।

एनकाउंटर से दहले ग्रामवासियों खचेड़ा सिंह और योगेश भाटी ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि गांव अरुआ और चांदपुर के बीच में पुलिस ने देर रात करीब 12 बजे के बाद एनकाउंटर को अंजाम दिया, जिसके बारे में उन्हें सुबह उस वक्त पता लगा जब सडक पर खून और गाडियों के शीशे टूटे हुए मिले।

loading...
SHARE THIS

0 comments: