Tuesday, January 30, 2018

प्राइवेट स्कूल संचालकों ने शिक्षाविदों की सुरक्षा की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

Memorandum submitted to private school operators seeking the protection of academics

फरीदाबाद(abtaknews.com)हरियाणा प्रोग्रेसिव कांफ्रैंस के बैनर तले शहर के प्राइवेट स्कूलों ने आज एकजुट होकर मुख्यमंत्री के नाम एडीसी जितेंद्र दहिया को 12 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन में उन्होंने स्कूल व शिक्षकों के सम्मान व सुरक्षा की गुहार लगाई है। प्राइवेट स्कूल संचालकों का कहना है कि सरकार की दोहरी नीतियों से गुरु-शिक्ष्य परंपरा धुमिल होती जा रही है। इस मौके पर हरियाणा प्रोग्रेसिव कांफ्रैंस  के प्रदेशाध्यक्ष एसएस गोंसाईं, जिलाध्यक्ष सुरेशचंद्र, प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश डागर, सुमित वर्मा, एसएस चौधरी सहित अनेक स्कूल संचालक मौजूद रहे। यमुनानगर में प्रिंसीपल की हत्या के विरोध में आज स्कूल संचालकों ने स्कूल बंद रख कर अपना शोक भी व्यक्त किया।
ज्ञापन में स्कूल संचालकों ने मांग की है कि बिना कानूनी जांच के टीचर, प्रिंसीपल और स्कूल प्रबंधन को गिरफ्तार नहीं किया जाना चाहिए। प्राइवेट स्कूल की अथॉरिटीज़ का सम्मान करना चाहिए। प्राइवेट स्कूल संचालकों का कहना है कि उन्हें स्कूल के अंदरूनी नियमों जैसे स्कूल का समय, छुट्टियां आदि के बारे में कोई भी निर्देश सलाह के रूप में दिए जाएं न कि सख्त लहजे में। स्कूल में पेरेंट्स, एनजीओ और सरकारी कर्मचारी द्वारा किसी भी प्रकार का अनुचित व्यवहार यदि किया जाता है तो उसकी जांच करवाई जाए। जब तक कोई केस विशेष जांच के तहत दर्ज न हो पुलिस का स्कूल में कोई रोल नहीं होना चाहिए। स्कूलों ने मांग की है कि शिक्षा विभाग में गंभीरता के साथ अधिकारी तैनात किए जाएं जोकि स्कूलों के प्रबंधन और एजुकेशन सिस्टम के प्रति सम्मान रखने वाले हों। स्कूलों व शिक्षा से संबंधित अंदरूनी आदेशों के लिए जिला स्तर पर एक कमेटी गठित की जाए जिसमें स्वतंत्र स्कूलों व शिक्षाविदों के प्रतिनिधि शामिल हों। कुछ स्कूलों के अभिभावक भी इसका हिस्सा हो सकते हैं। जो भी सरकारी विभाग स्कूलों से डील करें वो उनके प्रति सम्मान से पेश आएं। किसी प्रकार की अभद्र भाषा शैली का प्रयोग स्कूल के प्रति न किया जाए। इसके अलावा सरकारी टैक्स जो स्कूलों से वसूले जा रहे हैं, उन्हें भी हटाया जाए।




loading...
SHARE THIS

0 comments: