Tuesday, January 23, 2018

बालाजी कॉलेज में दीक्षांत समारोह में सफेद टोपी-पटका डालकर विद्यार्थियों ने की डिग्री ग्रहण

 Students take the degree of degree by putting white cap in the convocation ceremony at Balaji College

फरीदाबाद 22 जनवरी,2018(abtaknews.com) मलेरना रोड़, बल्लभगढ़ स्थित बालाजी कॉलेज में दीक्षांत समारोह का आयोजन धूमधाम से किया गया। समारोह में गाँधीवादी व अपनी पुरानी परम्पराओं के अनुरूप छात्र-छात्राओं एवं अतिथियों ने सिर पर सफेद टोपी व गले में सफेद पटका डालकर एक बेहतर सादगीपूर्ण माहौल बना दिया। इस अवसर रंगारंग राष्ट्रभक्ति के ओजपूर्ण गीत व पूरे देश के सभी राज्यों की संस्कृति व परम्पराओं से परिपूर्ण लोकनृत्य प्रस्तुत कर छात्राओं ने समारोह में समां बाँध दिया।  समारोह में मुख्य अतिथि वाई.एम.सी.ए. यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. दिनेश कुमार रहे। जबकि सम्मानित अतिथिगणों में वॉटरमैन ऑफ इंडिया के नाम से प्रसिद्ध राजेन्द्र सिंह, इग्रू के डिप्टी डायरेक्टर डा. सिद्धांत कमल मिश्रा, लाल बहादुर शास्त्री विद्यापीठ से प्रो. आर.पी. पाठक, गांधी शांति प्रतिष्ठान से रमेश चन्द शर्मा, पूर्व आई.ए.एस. अधिकारी जयपाल सिंह सांगवान, जिला बाल अधिकार समिति के चेयरमैन एच.एस. मलिक, शिक्षाविद् टी.एस. दलाल, पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह के मीडिया सलाहकार ज्ञानेन्द्र रावत, बालाजी कॉलेज के चेयरमैन सबरजीत सिंह व निदेशक जगदीश चौधरी आदि ने सफेद टोपी पहनकर कर सफेद टोपी पहने छात्र-छात्राओं को बी.एड. की डिग्रियाँ वितरित की और अपने जीवन के अनुभवों को सांझा करते हुए एक अच्छे अध्यापक की समाज व देश के प्रति जिम्मेवारी के बारे में बताया और कहा कि अच्छे नागरिक बनाना, देश व राष्ट्र के प्रति सम्मान व सहयोग की भावना आदि का संचार शिक्षक की जिम्मेवारी होती है जोकि अपना पूर्ण जीवन राष्ट्र के विकास के लिए लगाता है। मुख्य अतिथि ने प्रो. दिनेश कुमार व वाटरमैन राजेन्द्र सिंह ने पर्यावरण, शिक्षा, देश की संस्कृति, सुरक्षा, सहयोग, राष्ट्रनिर्माण, आपसी प्रेम, भाईचारा, समाज में भागीदारी व मनुष्य जीवन की विशेषताओं के बारे में विस्तारपूर्वक बताया और दृढ़ संकल्प व अनुशासन से ही जीवन को बेहतर स्तर तक ले जाया जा सकता है। पर्यावरण से प्यार नहीं करेंगे तब जब मनुष्य के अंदर सहयोग की भावना नहीं बनेगी। इसलिए  हमें भूमिपुत्र बनकर पानी, पेड़, पौधे, जमीन व वायु के प्रति कार्य कर पर्यावरण सुरक्षा को बढ़ावा देकर उसका हिस्सा बनना चाहिए तभी हम एक अच्छा व स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।
 Students take the degree of degree by putting white cap in the convocation ceremony at Balaji College

बालाजी कॉलेज के निदेशक जगदीश चौधरी ने बताया कि कॉलेज में छात्र-छात्राओं को अनुशासन पूर्ण जीवन और एक अच्छे शिक्षक की जिम्मेवारियों से परिपूर्ण किया जाता है कि वह एक अच्छा अध्यापक के साथ एक राष्ट्र निर्माण में अपना भरपूर योगदान दे सके। इसके लिए कॉलेज में समय-समय पर हर विषय पर सेमिनार व वर्कशॉप का आयोजन किया जाता है। इससे पूर्व बालाजी शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सबरजीत सिंह फौजदार व निदेशक जगदीश चौधरी ने अतिथियों का सफेद टोपी व गले में सफेद पट्का डालकर पौधा देकर स्वागत किया। इस सादगी से कार्यक्रम में आये सभी अतिथियों ने अपनी खुशी जाहिर की। इस अवसर पर समारोह में इग्रू के डिप्टी डायरेक्टर सिद्धांत कमल मिश्रा व बालाजी कॉलेज के निदेशक जगदीश चौधरी द्वारा लिखित पुस्तक ‘समावेशी विद्यालय का निर्माण’ का विमोचन भी अतिथियों द्वारा किया गया। इस पुस्तक की विशेषताओं के विषय में दोनों लेखकों ने उपस्थित जनों को विस्तापूर्वक जानकारी दी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: