Saturday, January 13, 2018

सुप्रीम कोर्ट के जजों को भी मीडिया का सहारा, आखिर किस दिशा में जा रही देश की न्यायिक प्रणाली

 Even the Supreme Court judges support the media, in which direction the judicial system of the country going
नई दिल्ली(abtaknews.com)सुप्रीम कोर्ट के जजों को भी मीडिया का सहारा, आखिर किस दिशा में जा रही देश की न्यायिक प्रणाली। ये जो 4 जज तहलका मचाने के चक्कर में हैं, जानिये ये हैं कौन और इनकी पृष्टभूमि क्या है...प्रीम कोर्ट के 4 जज  मीडिया के सामने आये और वो भी अफ़ज़ल गैंग के कुख्यात वामपंथी पत्रकार शेखर गुप्ता के साथ, और ये जज कहने लगे की देश का लोकतंत्र खतरे में है, चीफ जज हमारी बात नहीं मानता, देश को बचाइए, देश खतरे में है चलिए इन जजों के बारे में जानिये, ये लोग कौन है, इनकी पृष्टभूमि क्या है, पहले इन्होने क्या किया है ताकि आपको अंदाजा लग जाये की असल स्तिथि है क्या, ये सभी जज कांग्रेस के राज में जज बने थे, पहले आपको बताते है इनमे से एक जज जोसफ कुरियन के बारे मेंये जज मानसिकता से एक ईसाई कट्टरपंथी है, प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को एक कार्यक्रम रखा था तो इसने ऐतराज़ जताया की इसे तो रविवार को चर्च जाना है, मोदी को ईसाई विरोधी साबित करने की कोशिश की, मसलन जज साहेब के लिए काम नहीं बल्कि ईसाइयत यानि मजहब पहले है

जस्टिस चमलेश्वर पर, ये वो जज है जो कांग्रेस के काफी करीबी माने जाते है और हाल ही में इन्होने आधार का भी विरोध किया था, कांग्रेस आधार का विरोध करती है, आपको बता दिए की आधार से भ्रष्टाचारियों की नींद उडी हुई है चूँकि उस से सबकुछ कनेक्ट किया जा रहा है, कई तरह के फर्जीवाड़े आधार से बंद हो चुके है जस्टिस गोगोई असम के पूर्व मुख्यमंत्री केशब चंद्र गोगोई का पुत्र है, केशब चंद्र गोगोई कांग्रेस के मुख्यमंत्री हुआ करते थे, और ये जज साहेब कोंग्रेसी मुख्यमंत्री के पुत्र है 
     
 इन लोगों के साथ घूम रहा है शेखर गुप्ता जैसा अफ़ज़ल प्रेमी, अवार्ड वापसी गैंग का कुख्यात पत्रकार, और ये लोग कह रहे है की देश का लोकतंत्र खतरे में है, भैया 2018 का साल है 2019 में चुनाव है, अब ऐसे सभी लोग सामने आते रहेंगे, क्यूंकि 2019 में कांग्रेस को चाहिए सत्ता इसलिए अब लोकतंत्र इत्यादि सब खतरे में आएगा, ऐसा आपको समय समय पर बताया जाता रहेगा....

loading...
SHARE THIS

0 comments: