Friday, January 19, 2018

एनएसयूआई ने भाजपा पार्टी के "बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ" नारे को दी श्रद्धांजलि


NSUI gives tribute to BJP party's "Beti Bachao - Beti Practice" slogan

फरीदाबाद-19 जनवरी,2018(abtaknews.com)प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर दर्जनों युवाओ ने एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में सेक्टर 16 अपना पार्क में बीजेपी के "बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ" नारे को श्रंद्धाजलि देने के लिए सभा का आयोजन किया गया । इस दौरान मुख्य रूप से जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा , अभिषेक वशिष्ठ , गुलशन , गौरव , पुनीत मौजूद थे ।

इस दौरान एनएसयूआई हरियाण के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि वर्तमान समय में "बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ" के नारे का कोई औचित्य नही रह गया है । पिछले दिनों में  दुष्कर्म व हत्या की बड़ी घटनाओं से प्रदेश में दहशत का माहौल बना हुआ है ।

उन्होंने कहा कि बेख़ौफ़ घूम रहे अपराधी एक के बाद एक दर्दनाक और दिल दहला देने वाली वारदातों को अंजाम देकर पूरी मानवता को कलंकित करने का काम कर रहे है , लेकिन असहाय सरकार केवल लकीर पीटने का काम कर रही है । सरकार प्रदेश में शांति व सौहार्द का माहौल देने में पूरी तरह से विफल साबित हो चुकी है । उन्होंने कहा कि हरियाणा की खट्टर सरकार के नेतृत्व में महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है ।

कृष्ण अत्री ने बताया कि 2014 के मुकाबले 2016 में, मात्र 2 सालो में , हरियाणा का अपराध दर बढ़ कर 78 हो गया है । जो की साल बिगड़ते हालातो को बयां करता है । हाल ही में जारी हुए राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार हरियाणा में 1187 दुष्कर्म और 191 गैंगरेप की घटनाएं हुई है, जो देश मे सबसे आगे रहा है ।

वही जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा और अभिषेक वशिष्ठ ने सामूहिक रूप से कहा कि सबसे बड़ी शर्मनाक और चिंता की बात यह है कि लगभग आधे से ज्यादा वारदातों की शिकार नाबालिग बच्चियां हो रही है । बढ़ते अपराधों के कारण आमजन खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है।   महिलाएं अपने बच्चो को घर पर अकेला छोड़ने से डरती है । उन्होने कहा कि खट्टर सरकार के सब तंत्र फैल हो चुके है, प्रदेश का कोई भी वर्ग सरकार की कार्यशैली से खुश नही है । इस दौरान सचिन चौधरी, सुमित तिवारी, दिनेश कटारिया, रोहित कबीरा , राजू, विशाल, सोनू सिंह, कृष्ण, रोहित झाझरु, सोनू, पिरत्युष, उमेश, आकाश राय, योगेश, शुभम, हर्ष मौजूद रहे ।



loading...
SHARE THIS

0 comments: