Tuesday, January 30, 2018

अंबाला की लड़की बोली जिसे दिल से चाहा इन आँखों ने, क्यूँ ना इस प्यार को एक नाम दें

Ambala's girl quote, Dil To Chhaa These eyes, why not give this love a name

फरीदाबाद (abtaknews.com-दुष्यंत त्यागी) 30 जनवरी,2018 ; विकलांग होना कोई अपराध नहीं है बल्कि ये सोच है जिसे बदलने की जरुरत है। आजकल शारीरिक रूप से विकलांग हर क्षेत्र में अपना नाम कमा रहे है । अंबाला की लड़की बोली जिसे दिल से चाहा इन आँखों ने, क्यूँ ना इस प्यार को एक नाम दें ये कहना है आखो से न देख पाने वाले मुकेश की. मौका था इनरव्हील क्लब फरीदाबाद सेंट्रल की ओर से तीन नेत्रहीन जोड़ों का विवाह का। शादी के दौरान मुकेश की शादी सबके आकर्षण का केंद्र रही क्यूंकि अम्बाला से आयी एक नार्मल लड़की ने लड़की ने मुकेश से शादी की। लड़की के मुताबिक़ मुकेश से उसकी बातचीत फोन पर होती रहती थी और उसे मुकेश से प्यार हो गया।  ने फरीदाबाद के मुकेश से की शादी 

फरीदाबाद सेक्टर 16 के कम्युनिटी सेंटर में तीन नेत्रहीन जोड़ो की शादी कराई गयी।महिलाओं द्वारा संचालित इनरव्हील क्लब ऑफ फरीदाबाद सेंट्रल की तरफ से  वैदिक रीति-रिवाज से धूमधाम के साथ विवाह संपन्न करवाया गया । जिंदगी को सही तरह से चलने के लिए क्लब की तरफ से आर्थिक सहयोग भी  किया गया । इस मौके पर क्लब की डिस्ट्रिक्ट चेयरमैन गीता धवन ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि दिल्ली एनसीआर में 60 से ज्यादा महिलाओं द्वारा संचालित इनर व्हील क्लब है, जो अपने-अपने क्षेत्र में लगातार इस तरह के सामाजिक कार्य करते रहते हैं । उनके मुताबिक़  इनर व्हील क्लब ऑफ फरीदाबाद सेंट्रल के सभी सदस्यों ने अपने सामाजिक दायित्वों को समझते हुए इन नेत्रहीन जोड़ों की शादी ही नहीं करवाई, बल्कि अन्य कमजोर और जरूरतमंद लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने में  मदद की है।

शादी के दौरान मुकेश की शादी सबके आकर्षण का केंद्र रही क्यूंकि अम्बाला से आयी एक नार्मल लड़की ने मुकेश से शादी की। लड़की के मुताबिक़ मुकेश से उसकी बातचीत फोन पर होती रहती थी और उसे मुकेश से प्यार हो गया। उनकी माने तो प्यार में उसके लिए इस बात का कोई फर्क नहीं है की मुकेश विकलांग है।मुकेश और वो अब साथ जीने मरने की कस्मे खा रहे है। 




loading...
SHARE THIS

0 comments: