Saturday, January 13, 2018

खट्टर सरकार की दमनकारी नीतियां बर्दाश्त नहीं : कृष्ण अत्री


 Khattar government does not tolerate oppressive policies: Krishna Atri

फरीदाबाद (abtaknews.com )एनएसयूआई फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को सेक्टर 16 पंडित जवाहरलाल नेहरु कॉलेज के गेट पर हरियाणा सरकार की छात्र दमनकारी नीतियों के खिलाफ मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर का पुतला फूंका । प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने किया । इस मौके पर मुख्य रूप से जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा , विकास फागना, नरेश राणा मौजूद रहे।प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि हरियाणा की खट्टर सरकार अपने वायदों को पूरा ना करने की वजह से सदमे में है। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा करता है तो उसे जेल का मुँह देखना पड़ता है। साथ ही उसपे संगीन धाराओं के तहत मुकदमा भी दर्ज कर दिया जाता है। उसी का जीता जागता उदाहरण पंचकूला में आयोजित "कनेक्ट टू सी एम" कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर पहुँचे हुए थे। इस दौरान हरियाणा एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष दिव्यांशु बुद्धिराजा ने मनोहरलाल खट्टर से तीन सवाल पूछे जिसमे पहला सवाल जब 25 अगस्त ,2017 को पंचकूला जल रहा था तो आप कहा थे ? लोगों का हालचाल जानने की भी जरूरत नही समझी।
दूसरा सवाल सरकार को ओर से 12वी और ग्रेजुएट के बाद भत्ता देने की बात कही गई थी, अभी तक कितने युवाओ को भत्ता दिया गया है?
 Khattar government does not tolerate oppressive policies: Krishna Atri
तीसरा सवाल भाजपा के कई मंत्री और विधायक समाज को तोड़ने का प्रयास कर रहे है उनके खिलाफ कार्यवाही क्यों नही की जा रही है?
कृष्ण अत्री ने बताया कि इन सवालों का जवाब देने की जगह मुख्यमंत्री खट्टर बोखला गए और तरह तरह की बातें करने लगे। अत्री ने कहा कि इस दौरान खट्टर के इशारे पर एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष दिव्यांशु बुद्धिराजा और हार्दिक नैन पर संगीन धारा लगा कर जेल में डाल दिया गया।वही एनएसयूआई के जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा और विकास फागना ने संयुक्त रूप से कहा कि अगर कार्यक्रम युवाओ के लिए रखा गया था तो क्यों तो युवाओ को प्रवेश करने से रोका गया और साथ ही जब युवाओ ने सवाल किए तो उनके जवाब भी नही दिए । उन्होंने कहा कि खट्टर सरकार का इस तरह का रवैया समझ से परे है। खट्टर सरकार का तंत्र फैल हो चुका है, जो वायदे किये थे उन्हें पूरा नही कर पा रही है। या तो खट्टर सरकार अपने वायदे पूरे करें या फिर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे ।इस मौके पर रूपेश झा, पुनीत कौशिक, मोहित चंदीला, इरशाद अली, अक्की पंडित, दीपक चौधरी, मोहित मोर, योगेश चौधरी, हर्ष शर्मा, शैंकी पोसवाल,  नीतीश गुज्जर, मुबारिक खान, विकास नागर, विनीत पांडेय, अभिषेक वशिष्ठ, आकाश गुज्जर , बॉबी नागर, अजय, कृष्णा यादव आदि छात्र मौजूद थे ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: