Tuesday, January 30, 2018

नौकरी दिलाने के नाम पर खातो में पैसे जमा कर धोखाधडी करने वाले आरोपियों गिरफ्तार

Arrested fraudsters by depositing money in food after eating a job


फरीदाबाद (abtaknews.com )पुलिस आयुक्त अमिताभ सिंह ढिल्लो के दिशा निर्देश पर प्रभारी साईबर अपराध शाखा निरीक्षक सुरेश कुमार व उनकी टीम के सहायक उप निरीक्षक योगेश कुमार, मय साईबर टीम स.उप.नि. राजेश कुमार, स.उप.नि. बाबूराम, स.उप.नि. जावेद खान, स.उप.नि. ध्रमेन्द्र, स.उप.नि. प्रमोद कुमार, स.उप.नि. सरजीत, मु.सि. नरेन्द्र, मु.सि. वीरपाल सि. देवेन्द्र कुमार व म/सि. इन्दूबाला ने  नौकरी दिलाने के नाम पर खातो में पैसे जमा कर बेरोजगार व्यक्तियों से धोखाधडी करने वाले चार आरोपियों को तकनीकी सहायताव मुख्बर खास से मिली सूचना पर दिल्ली से 25,26 व 27.01.18 को गिरफतार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में  रवि कुमार पुत्र स्वर्गीय श्री सीताराम निवासी 6/2, केन्द्रीय विधालय, तुगलकाबाद, दिल्ली, विवेक अरोडा पुत्र महेन्द्र सिंह अरोडा निवासी जे-3, 106, संगम विहार दिल्ली, लेखराज उर्फ दीपक पुत्र नेकराम निवासी जे-3, 109, संगम विहार दिल्ली, विवेक चैहान पुत्र प्रकाश सिंह निवासी डी0-1/1118, रतिया मार्ग, संगम विहार दिल्ली।

विगत  23जनवरी को शिकायतकर्ता सतेन्द्र कुमार निवासी म.न. 218, गली न. 14, भीकम कालोनी, बल्लबगढ ने एक शिकायत दी थी कि उसके पास अक्टूबर 2017 में  ेीपदमण्बवउ की म्गचमतपे थ्पतउ की तरफ से फोन आया कि उनकी फर्म देश-विदेश में च्संबमउमदज कराती है। अभी सिंगापुर में जगह खाली है, अगर आप इच्छुक है तो हमारी रजिस्ट्रैशन फीस 2500 रु. है। अपना सी.वी. पासपोर्ट साईज फोटो हाईयर एजुकेशन सर्टिफिकेट व आधार कार्ड मेल द्वारा भेजे। हमारे एच.आर. मैनेजर आपका इन्टरव्यु लेंगे और आपको रजिस्ट्रेशन फीस के लिये बैंक खाता न0 देंगे। जिसपर शिकायत कर्ता के पास काॅल आई और एक व्यक्ति ने उसका इन्टरव्यु लिया और पैसा जमा कराने हेतु बैंक डिटेल उपलब्ध करा दिये। शिकायत कर्ता ने उनकी मांग के अनुसार अलग-2 समय में कुल 4 लाख 71 हजार रु. उनके बैंक खातों में जमा करा दिए थे। इसके बाद उन्होने अपने फोन स्वीच आॅफ कर लिये थे और संपर्क नही हो पा रहा था। पीडित सतेन्द्र की शिकायत पर मुकदमा न. 119 दिनांक 23.01.18 धारा 406, 420 भा.द.स. के अन्तगर्त थाना शहर बल्लबगढ, फरीदाबाद में अभियोग अकिंत किया गया था।

पूछताछ के दौरान सामने आया कि जिन लोगो को नौकरी की जरूरत होती थी वो साईन डाट काम पर अपनी आईडी बनाकर अपना डाटा अपलोड करते थे उपरोक्त आरोपियान एक पेलेसमेंट एजेंसी के तहत नौकरी के इच्छूक लोगो के डेटा को कलेकट करते थे और उनकी पढाई के अनुसार उनको श्म्गचमतपे थ्पतउ के नाम से फोन कर देश-विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर उनको ठगते थे।प्रभारी साईबर सैल ने बताया कि आरोपियान काॅल सेन्टर के रूप में काम करके नौकरी लगवाने की बात करते थे, और पिछले एक साल से फर्जीवाडा कर रहे थे। आरोपियान ने सिरसा, कोटा राजस्थान, गुरूग्राम में ऐसी वारदातों को अंजाम दिया हुआ है। तथा पकडे जाने के डर से बार-2 अपने फोन की सिम जोकि फर्जी आई.डी पर होती थी बदलते रहते थे व अपने आॅफिस की मोहन कापरेटीव तुगलकाबाद संगम विहार में लोकेशन बदलते रहते थे।

नौकरी पाने के इच्छुक लोग आरोपियान द्वारा बताए गए बैंक खातों में रजिस्ट्रैशन चार्ज, ट्रेनिंग चार्ज, रिहायसी खर्चा व हवाई जहाज टिकट इत्यादि की एवज में पैसे जमा कराया करते थे। लोगों से अलग-2 खातों में पैसे लेकर बाद में अपने फोन बन्द कर लेते थे। आरोपियान दुसरे लोगो के नाम पर खाते खुलवाते थे और आपरेट खुद कर ए.टी.एम के माध्यम से पैसे निकालकर ऐशो-आराम व मौज-मस्ती करते थे।

उन्होने बताया कि आरोपी रवि व लेखराज ने बीकाम तक पढाई की है। अन्य दो आरोपी 12 वी पास है। रवि के पिता दिल्ली में सरकारी अध्यापक के तौर पर रिटायर्ड हुए थे जिनका अब स्वर्गवास हो चुका है। बरामदगीः- 2 लाख 80 हजार हजार रूप्ये, अपराध मे प्रयोग किया गया मोबाईल फोन व बैको के ।ज्ड ब्ंतक व 31 मोबाईल फोन बरामद किए गए है। उक्त सभी आरोपियों को अदालत में पेश कर जिला जेल निमका भेजा गया है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: