Sunday, January 14, 2018

क्षत्राणी शारदा राठौर ने मकर संक्रांति पर पहले किया दान, फिर बल्लबगढ़ से भरी हूंकार


 Sharda Rathore, the son-in-law of Charity, donated first on Makar Sankranti, then filled with Balbhagad

बल्लभगढ़ 14 जनवरी(abtaknews.com) पंजाबी धर्मशाला बल्लभगढ़ में मकर सक्रांति व लोहड़ी उत्सव बड़े धूमधाम से मनाया गया।इस अवसर पर हजारों महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया ।कार्यक्रम की आयोजक पूर्व मुख्य संसदीय सचिव शारदा राठौर ने कहा कि अब समय आ गया है कि महिलाओं को लोकसभा व विधानसभा में भी 33% आरक्षण मिले।महिलाएं हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही हैं ,लेकिन आज भी महिलाएं अपने अधिकारों से वंचित हैं। महिला सुरक्षा के लिए भी कड़े कानूनों की आवश्यकता है। बच्चियों और महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध पूरे देश के लिए चिंता का विषय है । जब तक महिलाएं सत्ता से दूर रहेंगी तब तक समग्र विकास संभव नहीं है। अब महिलाएं जागरूक हो रही हैं लेकिन अभी भी शिक्षा स्वास्थ्य व महिला सुरक्षा को लेकर बहुत सुधारों की जरूरत है। सरकारी नौकरियों में भी महिलाओं को समान अवसर मिलने चाहिए। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार को रोजगारपरक शिक्षा देनी होगी। निरक्षर महिलाओं के लिए भी 6 महीने व 1 साल की अवधि के रोजगारपरक कोर्स शुरू होने चाहिए व महिलाओं को स्वंय का व्यवसाय करने के लिए ब्याज रहित आसान किस्तों पर कर्ज दिया जाना चाहिए।
 Sharda Rathore, the son-in-law of Charity, donated first on Makar Sankranti, then filled with Balbhagad

इस अवसर पर डॉक्टर सपना ने महिलाओं को घरेलू  उपायों द्वारा इलाज की जानकारी दी ।उन्होंने महिलाओं द्वारा पूछे गए स्वास्थ्य संबंधी प्रश्नों के जवाब भी दिए। साधना सिंह ने महिलाओं को कानूनी जानकारी उपलब्ध कराई। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ नेत्री हरदम देवी ने की । इस उत्सव पर रेवड़ी मूंगफली व कंबल भी वितरित किए गए। कार्यक्रम में प्रमुख रुप से निहाला, पूनम, राजबाला, सुषमा ,अंजू टोंगर,  सुमन, निहारिका, किरण, वीरवती, रेखा, मंजू, अंशु, सुनीता, लीला, ललिता, डौली, सुधा पालीवाल, कविता, सगीरन, रानी गुड्डी, सुशीला, आशा, नफीसा, धर्मवती , रोशनी, शारदा, माया व नूरबानो उपस्थित थे

loading...
SHARE THIS

0 comments: