Sunday, January 21, 2018

सैनिक सोसायटी के अधीन सैनिक विहार के निकाले ड्रा, 700 परिवार होंगे लाभान्वित

 Drawing drawn from Sainik Vihar under Sainik Society, 700 families will be benefitted

फरीदाबाद(abtaknews.com दुष्यंत त्यागी) फरीदाबाद की सबसे बड़ी रिहायशी सोसायटी सैनिक सोसायटी की रविवार को हुई 28वीं साधारण वार्षिक सभा में आज सोसायटी के अधीन सेक्टर-88 स्थित सैनिक विहार प्रोजेक्ट के फ्लोरों का सार्वजनिक तौर पर ड्रा निकाल दिया गया। सभा की अध्यक्षता सोसायटी के अध्यक्ष राकेश धुन्ना ने की, जबकि संचालन सोसायटी के निदेशक पूनम आहुजा द्वारा किया गया। बैठक में सैनिक विहार से संबंधित सभी प्रस्तावों को सर्व सम्मति से एकमत होकर ध्वनिमत से पास कर दिया गया। इस अवसर पर 700 ऐसे लोगों को लाभान्वित करने का काम किया, जिन्होंने 20 वर्ष पूर्व 1997 में सोसायटी के इस प्रोजेक्ट से जुड़े थे और वर्षाे से वह इस प्रोजैक्ट को शुरु कराने की मांग कर रहे थे। बैठक में उक्त प्रोजेक्ट के करीब 100 डिफाल्टरों में से कुछ सदस्यों ने खड़े होकर यह मांग की कि उन्हें एक मौका और दिया जाए, जिससे वह अपनी बकाया राशि आदि जमा करवा सके क्योंकि ऐसे सदस्यों राशि जमा करवाने की तिथि समाप्त हो चुकी थी, जिसको लेकर सोसायटी द्वारा पत्र एवं नोटिस के माध्यम से अवगत करवा दिया गया था। सदस्यों के आग्रह पर सोसायटी ने ऐसे सभी डिफाल्टरों को 15 दिन का और समय देने का ऐलान कर दिया। प्रधान राकेश धुन्ना ने बताया कि नो प्रॉफिट-नो लॉस के अधीन कार्य कर रही सैनिक सोसायटी ने सन् 1997 में फरीदाबाद के सेक्टर-88 में लोगों के लिए आशियाना बनाने का प्रोजेक्ट शुरु किया था, जिसमें 700 लोगों ने सदस्यता ग्रहण की थी। लेकिन कुछ कानूनी व सरकारी अड़चनों के चलते इस प्रोजेक्ट अधर में अटक गया था, लेकिन सोसायटी के मौजूदा गर्वनिंग बॉडी व पूर्व के साथियों की मदद से उन्होंने इस प्रोजेक्ट को शुरु करने के लिए प्रयास तेज किए और वह सरकार से इस प्रोजेक्ट का लाईसेंस लेने में कामयाब रहे है और जल्द ही इस पर काम शुरु हो जाएगा। वहीं उन्होंने सेक्टर-48 स्थित सैनिक कालोनी को नगर निगम के अधीन सौंपने के बारे में बताते हुए कहा कि केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर व स्थानीय विधायक श्रीमती सीमा त्रिखा के प्रयासों से उक्त कालोनी को नगर निगम के अधीन करने की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है और जल्द ही बकाया पैसा जमा करवाने के बाद सैनिक कालोनी को नगर निगम के अधीन हो जाएगा, जिसके लिए उनकी गर्वनिंग बॉडी पूरी तरह से प्रयासरत है वहीं उन्होंने आम सभा की बैठक को संबोधित करते हुए स्पष्ट कहा कि सैनिक कालोनी में अवैध कब्जों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा कुछ भूमाफियाओं ने यहां सोसायटी में अवैध रुप फ्लैट बनाने शुरु दिए थे, जिसको लेकर सोसायटी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की और परिणामस्वरुप उन अवैध कब्जों को ध्वस्त किया गया और आगे भी वह किसी कीमत पर अवैध कब्जे नहीं होने देंगे क्योंकि यह सोसायटी नो प्रॉफिट-नो लॉस के तहत काम करती है और किसी भी तरह से अवैध रुप से व्यवसायिक गतिविधियों को नहीं चलने दिया जाएगा। इस अवसर पर प्रधान राकेश धुन्ना के अलावा उपाध्यक्ष अंजू चौधरी, निदेशक महावीर सिंह, पूनम आहुजा, अमरनाथ रावल, शकुंतला देवी सहित पूर्व निदेशक जयभगवान शर्मा, भीरम राघव, अनीता दहिया, ओम निरंकार, जर्मन सिंह सहित सभी सदस्य मौजूद थे। सोसायटी के प्रधान राकेश धुन्ना ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल में अपने निदेशकों के सहयोग से जहां सैनिक कालोनी के सर्वांगीण विकास के लिए भरपूर कार्य किए, जहां अडानी की पीएनजी लाईन बिछवाई गई वहीं पानी के ट्यूबवैल लगवाने के अलावा बिजली व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए ग्रामीण फीडर से बदलवाकर शहरी फीडर में जुड़वाने का कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि कालोनी के विकास के लिए जब भी उनके पास कोई प्रस्ताव आया, उन्होंने नियमानुसार उसे पूरा करवाने का काम किया।





loading...
SHARE THIS

0 comments: