Wednesday, January 10, 2018

भाजपा की खट्टर सरकार के रैन बसेरे में रहने के लिए देने पड़ते हैं 50 रूपये, गजब सरकार


 BJP's Khattar Sarakkar has to pay 100 rupees for living in the Ran Basare, the government workers do a great job

फरीदाबाद(abtaknews.com)  10 जनवरी,2018 'एक तरफ पूरे उत्तर भारत को ठंड ने पूरी तरह से कंपकपा दिया है तो दूसरी ओर फरीदाबाद में रैड क्रॉस का नया कारनामा सामने आया है शहर में लोग फुटपात और प्लेटफॉर्म पर सोने पर मजबूर है क्योंकि रैड क्रॉस द्वारा बनाये गये रैन बसेरों से रात्रि के समय भी ताले लगे हुए हैं, अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम द्वारा रियलिटी चैक करने पर बडखल विधानसभा के राजा चौक पर बने रैन बसेरे पर ताला लटका हुआ मिला। इतना ही नहीं बेसहारों को सहारा देने के लिये खोले गये रैन बसेरों को फरीदाबाद में खुद सहरों की जरूरत है, ओल्ड फरीदाबाद राजीव चौक पर बनाये गए नगर निगम के रैन बसेरे के बारे में फुटपात पर सोने वाले बेघर व बेसहारा लोगों ने आरोप लगाया है कि निगम के रैन बसेरे में सोने के लिये उनसे 50 रूपये प्रति रात लिये जाते हैं।


हरियाणा सरकार लोगों को सहूलियतें देने के चाहे लाख दावे कर ले मगर उनके ही विभागों के अधिकारी पलीता लगा रहे हैं, प्रदेश के मुखिया मनोहर लाल खट्टर ने आदेश दिये हैं कि किसी भी शहर में कोई व्यक्ति खुले में न सोये उनके लिये रैन बसेरों की सुविधा की जाये,, आदेशों की पालना करते हुए रैडक्रॉस और नगर निगम ने रैन बसेरे तो बना दिया और उनकी लिस्ट सरकार को पहुंचा कर अपनी नौकरी पक्की कर ली, मगर सीएम साहब आप भी देख लीजिये जहां सर्दी ने पूरे प्रदेश को कंपा दिया है वहीं रैडक्रॉस के रैन बसेरे पर रात्रि के समय ताला लटका हुआ है। ऐसे में लोग सडक किनारे फुटपात और रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर सोने के लिये मजबूर हैं। 
रात के समय रैन बसेरे से लटका हुआ दिखाई दे रहा ये ताला बडखल क्षेत्र के राजा चौक का है जहां रैडक्रॉस ने बडे जोर शोर से बेघर और बेसहारा लोगों के लिये रैन बसेरा बनाया है मगर सच्चाई उस वक्त सामने आई जब रियलिटी चैक के दौरान रात्रि के समय रैन बसेेरे से ताला लटका हुआ मिला। 

शहर में अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम द्वारा  रियलिटी चैक करने परे राष्ट्रीय राजमार्ग नम्बर 2 ओल्ड फरीदाबाद चौक पर ओवर ब्रिज के नीचे कुछ लोग सोते हुए दिखाई दिये जिनके पास में नगर निगम फरीदाबाद द्वारा बनाया गया अस्थाई रैन बसेरा भी रखा हुआ था,, उसके बाबजूद भी खुले में सोने वाले बेघर और बेसहारा लोगों से पूछने पर पता लगा कि रैन बसेरे में सोने के लिये बेसहाराओं से 50 रूपये प्रति रात लिया जाता है। उनके पास रैन बसेरा को देने के लिये पैसे नहीं हैं इसलिये वो खुले में सो रहे हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: