Saturday, January 6, 2018

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के 20 अध्ययन सदस्यीय दल का पलवल में हुआ स्वागत

 Welcome to Palwal, a 20-member study team of the University of California

पलवल, 06 जनवरी(abtaknews.com) ओहियो की केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी से 20 अध्ययन सदस्य व कैलिफोर्निया की बर्कले यूनिवर्सिटी से एक सदस्य अध्ययन सदस्य दल 05 जनवरी को उपायुक्त निवास पर पहुंचा। इस दौरान सभी सुपर सरपंचों से इस अध्ययन दल का स्वागत अभिनंदन किया तथा उनसे उक्त प्रतियोगिता के संबंध में अपने विचार सांझा किए। 
इस अवसर पर उपायुक्त मनीराम शर्मा ने 14 ग्राम पंचायतों को स्वर्ण जयंती स्वच्छता पुरस्कार के अंतर्गत एक-एक लाख रूपये के चैक वितरित किए। उन्होंने कहा कि ग्राम सरपंच गांव की एक मजबूत कडी होती है। गांव में सभी प्रकार के विकास कार्य करवाने में सरपंचों का विशेष योगदान व जिम्मेदारी होती है। इस अवसर पर अमेरिका से आए अध्ययन दल ने कार्यक्रम में सुपर विलेज चैलेंज के बारे में गांव में किए जा रहे कार्यों के बारे में जाना। इस अवसर पर उन्होंने ग्राम पंचायत अलावलपुर, गोपीखेडा, अमरपुर, कलवाका, दुधौला, भैंडोली, घसेडा, बंचारी, बांसवा, पैंगलतू, कारना, टीकरी ब्राहम्ण, पारौली तथा ककराली के सरपंचों को स्वर्ण जयंती स्वच्छता पुरस्कार के अंतर्गत एक-एक लाख रूपये के चैक वितरित किए।

ओहियो की केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी की महिला शिक्षा अधिकारी सैरोन मिलिगोन ने कहा कि ग्राम विकास का यह एक अलग और अनोखा तरीका है। उन्होंने सभी सुपर विलेज चैलेंज प्रतियोगिता के प्रतिभागी गांवों के सरपंचों को अपने-अपने गांवों में करवाए जा रहे कार्यों के बारे में बधाई दी और उन्हें आगे भविष्य में इसी तरह के विकास कार्यों को करते रहने के लिए प्रोत्साहित किया।
केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी की सोशल वर्कस एण्ड नॉन प्रोफिट मैनेजमैंट में स्नातक की विद्यार्थी जैनफर एंजलो ने महिला सरपंचों के आत्मविश्वास को सराहा। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार महिला सरपंच अपने आत्मविश्वास के साथ आगे बढ रही है। उसी प्रकार वे अपनी बेटियों को भी आगे बढाने में अपना पूरा सहयोग दें। 
केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी के स्नायुतंत्र वैज्ञानिक डॉ तेज कुमार पारिक ने कहा कि इस प्रतियोगिता में एक ग्राम सरपंच अच्छा कार्य करने वाले दूसरे ग्राम सरपंचों की मदद करके भी प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि हर सरपंच का नाम उसके कार्योंं से जिदंा रहे। जिससे लोग भी आगे भविष्य में उन्हें याद रख सके। उन्होंने कहा कि किसी भी गांव की किसी भी प्रकार की शिक्षा व चिकित्सा से संबंधित मदद का विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया। 
कैलिफोर्निया की बर्कले यूनिवर्सिटी पीएचडी छात्र ने कहा कि इस प्रतियोगिता में केवल अंक प्राप्त करके विजेता बनना ही चुनौती नहीं अपितु ग्राम सरपंचों द्वारा गांवों में किए गए विकास कार्यों को आगे भी बनाए रखना तथा उनका रख-रखाव करना भी एक बडी चुनौती है। 
मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी ने सुपर विलेज चैलेंज के बारे में अध्ययन दल को विस्तार दल को विस्तार पूर्वक अवगत करवाया। इस अवसर पर डॉ. सुदेश अग्रवाल ने सुपर विलेज चैलेंज प्रतियोगिता के प्रतिभागियों के साथ  अपने अपने विचार व्यक्त किए।
इस अवसर पर पलवल के उपमण्डल अधिकारी (ना.) एस.के. चहल, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी दीपक यादव, खंड शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, सहायक परियोजना अधिकारी नवीन शर्मा के अतिरिक्त उक्त प्रतियोगिता में प्रतिभागी जिला के विभिन्न गांवों के सरपंच मौजूद थे।
उल्लेखनीय है कि पलवल जिला प्रशासन की यह पहल न केवल हरियाणा बल्कि पूरे भारतवर्ष में एक अनूठी और अभिनव पहल है जिसमें पंचायत के जागरूक सरपंचों ने स्वयं ही उनके क्षेत्राधिकार आने वाले काम जैसे  स्कूल व आंगनवाड़ी के केंद्रों का सौन्दर्यकरण, पुरुष व महिला वाचनालयों  की स्थापना, नवजात शिशुओं  का टीकाकरण, कम्प्यूटर साधनों  का युवाओं द्वारा उपयोग, सोख्ता गड्ढों का निर्माण, पोलीथिन से गांव की मुक्ति और  युवाओं का रोजगार हेतु पंजीकरण आदि जैसे कामों का स्वत: स्फूर्त जिम्मा लिया है।  ये कुछ मापदंड है जिनके लिए निश्चित अंक निर्धारित किए गए है। सरपंचों को ऑनलाइन वेब पोर्टल (www.supervillagepalwal.in) पर रजिस्ट्रेशन कराना होता है निरीक्षण टीम द्वारा निरीक्षण उपरांत ऑनलाइन अंक दिए जाते है जिनको कोई भी देख सकता है। अगर किसी सरपंच द्वारा कोई अभिनव पहल की जाती है तो उसके लिए बोनस अंक दिए जा रहे है। प्रशासन केवल मार्गदर्शन और मोनीटरिंग का काम कर रहा है। गत दिनों हुई बैठक में सभी सरपंचों ने इस प्रतियोगिता को शानदार पहल बताया और अपने-अपने गांव के वातावरण को सुधारने के लिए मनसा-वाचा-कर्मणा मेहनत करने का वचन दिया है। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: