Sunday, January 14, 2018

1857 की क्रांति के अमर शहीद भूरा सिंह वाल्मीकि जी का बलिदान दिवस मनाया गया"

 The martyrdom of the martyr Bhura Singh Valmiki ji celebrated the Revolution of 1857 "


फरीदाबाद (abtaknews.com)14 जनवरी 2018 ; सेक्टर-3 बल्लभगढ़ में शहीद भूरा सिंह वाल्मीकि बलिदान दिवस प्रबन्ध कमेटी द्वारा देश की आज़ादी के लिये सन 1857 की क्रांति में अग्रणी पंक्ति में रहे राजा नाहर सिंह के साथ अहम भूमिका निभाने वाले अमर शहीद भूरा सिंह वाल्मीकि जी का बलिदान दिवस मनाया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में बल्लभगढ़ विधायक श्री मूलचंद शर्मा जी ने कहा कि शहीद पूरे देश का होता है,शहीदों की कोई जाति नहीं होती। उन्होंने शहीद भूरा सिंह वाल्मीकि द्वार बनाने की घोषणा की, विशेष अतिथि के रूप में गाँव मिर्ज़ापुर के सरपँच महिपाल आर्य जी ने कहा कि इतिहास में वाल्मीकि समाज ने देश व समाज के सम्मान के लिये अनेकों कुर्बानियां दी हैं लेकिन उनकी कुर्बानियों को दबा दिया गया। वार्ड 35 के पार्षद कपिल डागर ने श्रद्धा सुमन अर्पित कर कहा कि देश को आज़ाद कराने में सभी वर्गों के लोगों का सहयोग रहा है हमे इससे प्रेरणा लेनी चाहिए। पूर्व पार्षद राव रामकुमार जी ने कहा कि हम इन शहीदों के हमेशा ऋणी रहेंगे। 

9 जनवरी 1858 को राजा नहर सिंह जी के साथ उनके अज़ीज़ साथी भूरा सिंह वाल्मीकि, गुलाब सिंह सैनी व खुशहाल सिंह को एक साथ फाँसी दी गयी थी।इनके साथ इस श्रधांजलि सभा में समाजसेवी भीमसेन जैन जी, सेक्टर-3 वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष देवेन्द्र यादव, जी.के शुक्ला जी, दीपक चौधरी वार्ड 37, अखिल भारतीय जाट महासभा के जिला अध्यक्ष व जिला परिषद अवतार सारंग मौजूद रहे।गणमान्य अतिथि के रूप में सुंदर जी सरपँच गाँव पाली, अशोक सरपँच गाँव बडौली, राहुल सरपँच गाँव हीरापुर, कल्लूराम जी अध्यक्ष टूरिज्म मैगपाई आदि मौजूद रहे।

 मंच का संचालन जयपाल बैनिवाल ने किया। साथ ही इस सभा में मनोज मिर्जापुरिया ने कायर्क्रम की अध्यक्षता की व कार्यक्रम में अशोक बालगुहेर, सूरजभान, राजेन्द राजौरिया, ऋषि, अमित,  रामकुमार,  वाल्मीकि धर्म प्रचारक अनिल चंडाल जी, अजय, विनोद, बबलू राजेश, राजेश करौतिया व अन्य साथी मौजूद रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: