Saturday, December 16, 2017

सराय ख्वाजा सरकारी स्कूल में ग्यारहवां रक्तदान शिविर, छात्रों संग टीचरों ने किया रक्तदान


Eleventh Blood Donation Camp at Sarai Khwaja Government School, students with blood donation

फरीदाबाद (abtaknews.com) 16 दिसंबर,2017; राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा की सैंट जान एंबुलैंस बिगे्रड, जूनियर रैडक्रास तथा स्काउटस गाइडस ने मिल कर ग्यारहवें रक्तदान शिविर का आयोजन प्राचार्या श्रीमति नीलम कौशिक की अध्यक्षता में बी के हस्पताल और संतों का गुरुद्वारा ब्लड बैंक के सहयोग से किया। सराय विद्यालय की जूनियर रैडक्रास और सैंट जान एंबुलैंस बिगे्रड अधिकारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि इस समय सभी ब्लड बैंकों में रक्त की अल्पता बनी हुई है अतः कोई भी स्वस्थ व्यक्ति जिस की उम्र अठारह वर्ष से साठ वर्ष के बीच हो, वजन पैतालीस किलोग्राम से ज्यादा हो तथा हिमोग्लोबिन की मात्रा बारह दशमलव दो हो, रक्तदान कर आपात स्थिति में जरुरतमन्द व्यक्ति की जीवन रक्षा कर उसे जीवन दान दे सकता है। मनचन्दा ने बताया कि मानव रक्त का एकमात्र साधन और विकल्प स्वयं मानव ही है इसलिए एक बार रक्तदान करके जरुरतमन्द का बहुमूल्य जीवन बचाने का प्रयास अवश्य किया जाना चाहिए।
Eleventh Blood Donation Camp at Sarai Khwaja Government School, students with blood donation

मुख्य अतिथि के रुप में इंडियन रैडक्रास सोसाइटी फरीदाबाद शाखा सचिव बी बी क्थूरिया ओर सडक सुरक्षा नोडल अधिकारी डाक्टर एम पी सिंह नें रक्तदाताओं का हौसला बढाते हुए कहा कि रक्तदान करने से किसी भी प्रकार की कमजोरी नही आती और रक्तदान किए गए रक्त की कमी चैबीस घन्टे में ही हो जाती है तथा वह व्यक्ति अगले तीन मास बाद पुनः रक्तदान भी कर सकता है। क्थूरिया, सचिव, रैडक्रास सोसाइटी फरीदाबाद ने रक्तदान को महान कार्य बताते हुए सभी रक्तदाताओं की सराहना की। उन्होने रक्तदान कर रहे छात्रों, अध्यापकों  तथा विशेष रुप से विद्यालय के पूर्व छात्रों की सराहना करते हुए कहा कि  आप्रेशन के समय, दुर्घटना के समय शरीर में रक्त की कमी, प्रसव काल में महिला के लिए, थैलेसिमिया, हिमोफिलिया के इलाज के लिए एवम नवजात का रक्त बदलने के लिए रक्तदान की जरुरत होती है इन छात्रों ने युवावस्था से ही अच्छे कार्यांे की आदत बना ली है अवश्य ही हमारा समाज, हमारा प्रान्त तथा देश इस जागरुक युवा पीढी के हाथ में बिल्कुल सुरक्षित है
  इस अवसर पर प्राचार्या श्रीमति नीलम कौशिक ने विद्यालय की जे आर सी और एस जे ए बी की रक्तदान शिविर लगाने के लिए प्रशंसा की। उन्होनंे विशेष रुप से रविन्द्र कुमार मनचन्दा और देशराज गोला के छात्रों को रक्तदान के लिए प्रेरित करने के लिए भी सराहना की। श्रीमति नीलम कौशिक ने रक्तदान शिविर संयोजित करने के लिए पूरे स्टाफ का आभार व्यक्त किया व विशेष रुप से सैंट जान एंबुलैंस बिगे्रड प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा की, रेनु मेहरा ने अपने जन्मदिन पर व रेनु चैधरी, वीना कुमारी, सरोज, चन्दन बिन्दु, अनीता गांधी सहित बीस अध्यापकों और सतरह छात्रों, अभिभावकों, पूर्व छात्र चन्दन, इमाम हुसैन सहित कुल 52 रक्तदानियों की बहुत प्रशंसा करते हुए आभार प्रकट किया । रेनु शर्मा, वेदवती, शारदा ने रक्तदान को सर्वोतम दान बताया क्योंकि एक रक्तदानी ही  दूसरे को जीवन का वरदान दे सकता है रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने रक्तदान शिविर को सफल बनाने के लिए सभी छात्रों एवम स्टाफ का आभार व्यक्त किया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: