Monday, December 11, 2017

महामंडलेश्चर कामता दास महाराज का आह्वान, समरस गंगा कार्यक्रम में समाज हो संगठित


Mahamandaleshwar calls on Kamta Das Maharaj, Samras Ganga program organized in society

पलवल(abtaknews.com)समाज के द्वारा, समाज के लिए हो रहा कार्यक्रम है समरस गंगा। यह शब्द महामंडलेश्वर कामता दास जी महाराज ने प्रैसवार्ता आयोजित कर पंचवटी मंदिर के प्रांगण में कहे। उन्होंने प्रैस को संबोधित करते हुए कहा कि समरस गंगा समाज का कार्यक्रम है इसके लिए समाज को संगठित होकर उन लोगों को अपनी शक्ति का अहसास कराना है जिन्होंने समाज को अपनी राजनीति के लिए जाति, धर्म में बांट रखा है। उन्होंने समाज से आह्वाहन किया कि 31 दिसंबर को समाज संगठित होकर समरस गंगा कार्यक्रम में शहीदों का सम्मान करें। उन्होंने कहा कि राष्ट्र निमार्ण के लिए जाति और धर्म से ऊपर उठकर काम किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस राष्ट्र निमार्ण के कार्य में पूरा समाज भागीदार बने क्योंकि यह राष्ट्र, यह समाज किसी एक का नही है यह सभी का है। महामंडलेश्वर ने अपने संबोधन में कहा कि कुछ लोग अपनी स्वार्थ पूर्ति के लिए पूरे समाज को जाति और धर्म के नाम पर बांटने का घृणित कार्य करते हंै वह ठीक नही है। उन्होंने ऐसे लोगों को आगाह करते हुए कहा कि अब समाज जागृत हो रहा है और जाति व  धर्म की राजनीति करने वालों को सबक सिखा कर रहेगा।
इस अवसर पर उपस्थित महंत ऋषि कुमार दास ने कहा कि समरस गंगा राष्ट्र के निमार्ण के लिए समाज को संगठित करने के लिए किया जाने वाला एक पुण्य कार्य है। समरस गंगा कार्यक्रम से समाज संगठित होकर राष्ट्र निमार्ण में अपनी भागीदारी तय करेगा। उन्होंने कहा कि पलवल की पावन धरा पर हो रहे समरस गंगा कार्यक्रम के द्वारा पलवल को राष्ट्रीय नही अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचाना जाएगा। उन्होंने कहा कि वे इस पुनित कार्य के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और अन्य सभी संस्थाओं को बधाई देते है और लोगों से आह्वान करते है कि वे इस पुनित कार्य में भागीदार बनने का संकल्प लें।


loading...
SHARE THIS

0 comments: