Saturday, December 16, 2017

लोगों को राम-भरत-लक्ष्मण-शत्रुघ्न के आदर्शों को जानकर आपस में भाईचारे से रहना चाहिए : स्वामी जी


People should know the ideals of Ram-Bharat-Lakshman-Shatrughna and live together with brotherhood: Swamiji

फरीदाबाद 16 दिसम्बर(abtaknews.com)मानव सेवा समिति द्वारा जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा देने हेतु बल्लभगढ़ में चलाए जा रहे विद्यालय मानव विद्या निकेतन की सहायतार्थ आयोजित संगीतमय श्रीरामकथा के आठवें दिन भारी संख्या में भक्तजन खासकर महिलाओं ने कथा का अमृतपान किया और कथा प्रसंग के दौरान दिखाई गई झांकी के दर्शन करके उनके आगे नृत्य किया। कथा प्रसंग के दौरान स्वामी महामंडलेश्वर जगत प्रकाश महाराज (चित्रकूट धाम) ने पिछले सात दिन में सुनाई गई श्रीरामकथा का संक्षिप्त सार बताते हुए कहा कि मनुष्य को मर्यादा पुरुषोतम राम की जीवनी पर आधारित श्रीरामचरित्र मानस का नित्य पाठ करना चाहिए और श्रीराम के आदर्शों को अपने जीवन में समावेश करके मानव जीवन को सफल बनाना चाहिए। स्वामी जी ने आगे कहा कि भाई-भाई में प्रेम हो, भरत जैसा होना चाहिए जिन्होंने अपने बड़े भाई राम के चरण पादिकाओं को अयोध्या के राजसिंघासन पर रखकर 14 साल तक  उनको अयोध्या का राजा मानकर ही राजसिंघासन चलाया और राम के वन से वापिस आने पर उन्हें पूरा राज सिंहासन सौंप दिया। आज छोटी-छोटी बातों, धन-सम्पत्ति व जमीन को लेकर भाई-भाईयों में दरार पैदा हो रही है। यहां तक कि एक-दूसरे के जान के दुश्मन भी हो गए हैं, ऐसा नहीं होना चाहिए। ऐसे लोगों को राम-भरत-लक्ष्मण-शत्रुघ्न के आदर्शों को जानकर आपस में भाईचारे से रहना चाहिए। 
People should know the ideals of Ram-Bharat-Lakshman-Shatrughna and live together with brotherhood: Swamiji

रामकथा सुनने के लिए शहर के प्रमुख समाजसेवी व दानी सज्जन कैलाश चन्द शर्मा, हरीश मित्तल, श्याम लाल गोयल, विनोद मित्तल, पी.पी. पसरीजा, विश्व हिन्दू परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रमेश गुप्ता, लायन अनिल अरोड़ा, रवि बोहरा, राकेश गुप्ता, भव्य पायल, बी.के. चक्रवर्ती, सतीश गुप्ता, सतीश मलिक, घनश्याम खुराना, सीमा जैन, सनानतम धर्म मंदिर सेक्टर-9 के प्रधान श्री अरोड़ा व उनके सदस्यों ने भाग लिया और समिति को आर्थिक सहयोग प्रदान किया। सुबह की नवग्रह पूजा में यजमान सी.बी. रावल, वाई.के. महेश्वरी, दिनेश शर्मा ने पूजा अर्चना करके स्वामी जी से आशीर्वाद प्राप्त किया। इस कथा के सफल संचालन में कार्यक्रम संयोजक रान्ती देव गुप्ता व उनकी टीम के सदस्य अमर खान,  बांकेलाल सितोनी, ओ.पी. सहल, पी.डी. गर्ग, एस.सी. गोयल, राजकिशोर गुप्ता, सरिता गुप्ता, धर्मवीर गुप्ता, महिला टीम की सदस्य ऊषा किरण शर्मा, रमा सरना, राज राठी, सुनीता बंसल, कमला वर्मा, सीमा मंगला, नीतू मंगल, सुष्मिता भूमिक आदि की विशेष भूमिका रही। रामकथा का समापन रविवार 17 दिसंबर को सुबह यज्ञ-हवन व भण्डारे के साथ किया जाएगा। समिति ने सभी लोगों से अपील की है कि वे रविवार दोपहर 12 बजे सेक्टर-9 स्थित सनातन धर्म मंदिर प्रांगण में आयोजित भण्डारे में भाग लेकर प्रसाद ग्रहण करें।

loading...
SHARE THIS

0 comments: