Wednesday, December 13, 2017

छात्राओं ने अध्यापकों के लिये फरीदाबाद के डीसी दफ्तर किया प्रदर्शन

Schoolgirl performs DC office in Faridabad for teachers

फरीदाबाद 13 दिसंबर(abtaknews.com)सरकारी स्कूल में टीचर ना होने और वर्तमान पोस्टेड टीचरों का लगातार ट्रांसफर करने के विरोध में आज सैकड़ों छात्राएं और ग्रामीण डीसी ऑफिस पहुंचे और यहां उन्होंने डीसी को ज्ञापन भी दिया। इस मौके पर छात्राओं और ग्रामीणों ने प्रदर्शन भी किया। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को 18 दिसंबर तक का अल्टीमेटम दिया है यदि इस दौरान टीचरों की नियुक्ति स्कूल के अंदर दोबारा नहीं की गई तो ग्रामीणों ने सरकार और प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलने की चेतावनी दी है। दिखाई दे रहा नजारा फरीदाबाद के सेक्टर 12 स्थित लघु सचिवालय का है जहां बल्लभगढ़ के पन्हेडा खुर्द गांव के ग्रामीण और छात्राएं सरकार और प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करने पहुंचे हैं। यह नारेबाजी और प्रदर्शन बल्लभगढ़ के गांव बनेडा खुर्द में लगातार घट रही शिक्षकों की संख्या को लेकर हो रहा है। विद्यार्थियों और ग्रामीणों का नेतृत्व कर रहे हैं। गांव में रहने वाले डीके शर्मा की माने तो 3 साल पहले उनके गांव के सरकारी स्कूल से गणित के टीचर का ट्रांसफर हो गया था। 4 महीने पहले फिजिकल, फिजिक्स तथा इंग्लिश का टीचर का ट्रांसफर हो गया था, जिसके बाद उनकी जगह किसी नए शिक्षक की नियुक्ति नहीं हुई। अभी 1 दिन पहले स्कूल से संस्कृत के टीचर का भी ट्रांसफर कर दिया गया। शर्मा की माने तो यदि इसी तरह शिक्षकों का तबादला होता रहा और उनकी जगह किसी नए शिक्षक की नियुक्ति नहीं हुई तो बच्चे पूरी तरह से फेल हो जाएंगे। शर्मा की मानें तो वार्षिक परीक्षाएं नजदीक आ रही है और सरकार और उच्च स्तर के अधिकारियों को इस मामले में कम से कम यह सोचना चाहिए कि अगर स्कूल में टीचर नहीं होंगे तो पढ़ाई कैसे होगी। इसलिए हमारा सरकार से अनुरोध है कि वार्षिक परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए शिक्षकों की नियुक्ति जल की जाए। वहीँ स्कूल में पढऩे वाली छात्रा दिव्यानी की मानें तो सरकार बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओं का नारा देती है, लेकिन बेटी तो बच रही हैं, लेकिन उनके पढऩे का जहां तक सवाल है, वो भला कैसे पढेंगी। कहने की बात है, लेकिन ऐसा लगता है कि ये नारे बेकार हैं। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: