Sunday, December 3, 2017

फरीदाबाद को दोनों हाथों से लूट रहे है कृष्णपाल गुर्जर और उनके रिश्तेदार : ललित नागर


Krishnpal Gurjar and his relatives are looting Faridabad with both hands: Lalit Nagar

फरीदाबाद(abtaknews.com) 03 दिसंबर,2017; तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने जिले में अवैध रेती खनन, बिगड़ती कानून व्यवस्था व जमीनों पर भूमाफियाओं द्वारा किए जा रहे अवैध कब्जों को लेकर आज केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर पर फिर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदार आज फरीदाबाद शहर को दोनों हाथों से जमकर लूटने में लगे हुए है। मंत्री के रुतबे के आगे मुख्यमंत्री मनोहर लाल तक बेबस नजर आ रहे है और जिसके चलते फरीदाबाद में ऐसा लग रहा है कि मानो मुख्यमंत्री की ओर से केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदारों को खुली लूट मचाने का एक तरह से लाईसेंस दे दिया गया हो। हालात इतने खराब है कि मंत्री के रिश्तेदार जमीनों पर जबरन कब्जा कर रहे है। पीडि़त लोगों द्वारा गुहार लगाने के बावजूद जिला प्रशासन और राज्य सरकार द्वारा कोई अकुंश न लगाए जाने पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट को संज्ञान लेना पड़ा है, जो इस बात का प्रमाण है कि फरीदाबाद में किस तरह से गुंडातत्व हावी है। उन्होंने कहा कि एक ओर तो राज्य सरकार रेती के अवैध खनन पर पाबंदी लगाए हुए है, जबकि दूसरी ओर फरीदाबाद में जिला प्रशासन की नाक के नीचे पूरी रात यमुना से बड़े-बड़े डंपरों द्वारा रेती का अवैध खनन लगातार जारी है। लोगों द्वारा जब अपने गृह निर्माण के लिए छोटी-छोटी बुगिगयों में रेती लाई जाती है तो खनन विभाग द्वारा उन लोगों के खिलाफ चालान करके उनकी बुगगी तक को जब्त कर लिया जाता है, लेकिन माईनिंग विभाग को ये बड़े-बड़े डंपर दिखाई नहीं देते क्योंकि इन पर सीधे-सीधे मंत्री के रिश्तेदारों का संरक्षण प्राप्त है। श्री नागर ने मंच के माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल को खुली चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उन्होंने शहर को लूट रहे लुटैरों पर अकुंश नहीं लगाया तो वह जिले में बड़ा जनांदोलन करने पर मजबूर होंगे। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में अब लूट की राजनीति किसी भी कीमत पर नहीं चलने दी जाएगी और वह इस खुली लूट के विरोध में सरकार की ईट से ईट बजाने का काम करेंगे। श्री नागर आज ‘चलो गांव की चौपाल की ओर’ कार्यक्रम के तहत गांव बदरौला में ग्रामीणों द्वारा आयोजित सभा में उपस्थितजनों को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में पहुंचने पर ग्राम की सरदारी की ओर से विधायक ललित नागर का सम्मानरुपी पगड़ी बांधकर स्वागत सत्कार किया गया। वहीं कार्यक्रम में उपस्थित ग्रामीणों ने विधायक के समक्ष गांव की समस्याएं भी रखी, जिसको लेकर उन्होंने विधायक को बताया कि गांव के स्कूल मेंं शिक्षकों की भारी कमी है, जिसके चलते छात्रों का भविष्य चौपट होता नजर आ रहा है वहीं गांव में बुजुर्गाे को समय पर पैंशन नहीं मिलती और अनेकों बुजुर्गाे की पैंशन काट दी गई है। इसके अलावा गांव में दलित समाज के लिए कोई चौपाल नहीं है इसलिए हरिजन चौपाल का निर्माण करवाया जाए वहीं गांव में एक सामूहिक बारात घर भी बनवाया जाए। इसके अलावा दलित समाज के लोगों ने एकजुट होकर कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार के दौरान उन्हें 100-100 वर्ग गज के प्लाट दिए थे, जिनमेें गांव के कुछ लोग प्लाट से वंचित रह गए थे, लेकिन अब भाजपा सरकार के तीन साल बीतने के बावजूद भी गांव में एक भी प्लाट सरकार द्वारा मुहैया नहीं करवाया गया है। ग्रामीणों की समस्याएं सुनने के बाद विधायक ललित नागर ने कहा कि वह जल्द ही जिला शिक्षा अधिकारी को स्कूल में अध्यापकों की कमी को दूर करने के लिए निर्देश देंगे। साथ ही हरियाणा के शिक्षामंत्री को पत्र लिखकर इस समस्या से अवगत करवाया जाएगा। वहीं दूसरी समस्याओं को लेकर भी वह संबंधित अधिकारियों से मिलकर उनका निराकरण कराने का हरसंभव प्रयास करेंगे। ग्रामीणों को संबोधित करते हुए विधायक ललित नागर ने कहा कि भाजपा के तीन साल के शासनकाल में तिगांव विस क्षेत्र विकास की दृष्टि से पूरी तरह से पिछड़ गया है। यहां के लोग उस दिन को कोस रहे है, जब उन्होंने लोकसभा चुनाव में इस क्षेत्र से पूर्व में विधायक रहे व्यक्ति को चुनकर लोकसभा में भेजा था और वह व्यक्ति आज केंद्र में मंत्री बनकर इस क्षेत्र की दुर्दशा पर लोगों का उपहास उड़ा रहा है। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि अब भाजपा के दिन लद गए है और अब यह सरकार ज्यादा दिनों तक सत्तासीन नहीं रहेगी। आज पूरे हरियाणा में फिर से लोग कांग्रेस के शासनकाल को याद कर रहे है, जिससे साफ है कि प्रदेश में अगली सरकार कांग्रेस की होगी और तिगांव के बदहाली के दूर भी निश्चित तौर पर दूर होंगे और यह क्षेत्र विकास के मामले में हरियाणा में एक अपनी अलग पहचान बनाने का काम करेंगा। इस अवसर पर गजराज सरपंच, कदम सिंह सरपंच, खजान सिंह, दयाराम मेम्बर, श्याम सिंह फौजी, बृजलाल, सोहन लाल, श्रीचन्द, राजवीर सरदाना, शोराज सरदना, वेदपाल सिंह, आजाद सरपंच, चाहाती, राजवीर सिंह,  बलराज सिंह, श्यामलाल नागर, अतर सिंह, भंवर सिंह, टेकचंद, भगवत नंबरदार, रुपेश मेम्बर, श्यामबाबू, मुकेश अधाना, सूरजपाल भूरा, पोप सिंह, जयचंद्र, जयराम सरपंच, चौ ननकी, नरेन्द्र नम्बरदार, भूरा सिंह, कालीचरण सिंह, बाबू लाल रवि सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: