Sunday, December 3, 2017

गायों के हक का चारा खा रहे हैं गौशाला मालिक, गायों को मिलती है धान की पराली व सूखा भूस

Gaushala owner, cows are getting the fodder for cows, Parli and dry straw
फरीदाबाद(दुष्यंत त्यागी abtaknews.com) 03 दिसंबर,2017 ; पृथला विधानसभा के गांव छायंसा में बनी हुई एक निजी गौशाला में मालिकों द्वारा गायों के हक का चारा खाने का मामला सामने आया है, गौशाला में करीब 15 सौ गायें है जिनके लिये 13 हजार बीगा जमीन है जिसमें गायें के लिये चारा उगाया जाता है मगर जमीन को पट्टे पर उठाकर मालिक गायों को धान की पराली खिला रहे हैं और जमीन के पैसे से अपनी जेबें गर्म कर रहे हैं, इतना ही नहीं सर्दी गायों के लिये शैड भी नहीं हैं ताकि गायें सर्दी से बच सकें। 

पृथला विधानसभा के गांव छांयसा में देहली पिंजरापोल सोसाइटी की तरफ से प्राइवेट गौशाला बनी हुई है जिसमें करीब 15 सौ से ज्यादा गायें रहती हैं, इस गौशाला के नाम करीब 13000 बिग्गा जमीन है, जिसमें गायों के लिए हरा चारा उगाया जाता है पर सोसाइटी के कार्यकर्ता और सोसाइटी के मालिक विनोद गौशाला के नाम जो जमीन है उसे पट्टे पर उठाकर अपनी जेब गर्म करते हैं और गौशाला में मौजूद गायों को धान की कटी हुई पराली और सूखा भूसा खिलाकर जिंदा रखते हैं,  इतना ही नहीं सर्दियों में गायों को सर्दी से बचाने के लिए गौशाला में कोई भी इंतजामात नहीं है। सरकार बेशक गायों के प्रति कितनी भी संवेदनशील हो जाये मगर गाय के नाम पर लाखों करोडों डकारने वाले अपना मौका नहीं छोडते।

इस बारे में गौशाला के कर्मचारीपूर्ण ने बताया कि गौशाला के नाम पर जमीन है मगर हरा चारा नहीं उगाते हैं फिलहाल धान की पराली और सूखा भूसा खिला रहे हैं, वहीं जब सर्दी के मौसम में गायों को रखने के बारे में पूछा तो उनका कहना था कि उनके पास इंतजाम है मगर देखने पता लगा कि जो शैड है वो काफी छोटे हैं और गायों की संख्यां बहुत ज्यादा, उसके बाद भी जो शैड हैं वो भी टूटे हुए हैं। गांव छायंसा के चेयरमैन से बात की गई तो उन्होंने कहा कि गौशाला मालिक गायों की जमीन को पट्टे पर उठा देता है और गायों भूखी मरती रहती हैं, इसकी शिकायत लेकर वो जल्द ही जिला उपायुक्त से मिलेंगे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: