Friday, December 8, 2017

समरस गंगा, महोत्सव बनेगा पलवल की पहचान, समाज उत्साहित- देशभक्त

Samaras Ganga, will celebrate Palwal's identity, society excited-patriotic

पलवल(abtaknews.com) 08 दिसंबर,2017 ; समरस गंगा, कार्यक्रम को लेकर को लेकर युवा व सभी सामाजिक संगठन उत्साहित हैं। समरस गंगा महोत्सव पलवल को एक नई पहचान राष्ट्र स्तर पर देगा। समाज इस कार्यक्रम को महोत्सव के रूप में मनाने की ठान चुका है। यह शब्द जिला संघचालन देशभक्त आर्य ने कहें। वह संघ कार्यालय पर हुई बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम को लेकर सामाजिक संगठनों ने जनसम्पर्क अभियान को तेज कर दिया है वहीं दूसरी तरफ यज्ञों की शुरूआत कर लोगों को एक संदेश भी दिया है कि समाज में समरसता मजबूत हो यह बहुत जरूरी है। इस महोत्सव को लेकर जिले में जगह-जगह पर बैठकों का आयोजन किया जा रहा है।

इसी कड़ी में बुधवार को गुरूद्वारा कमेटी ने बैठक कर समरस गंगा कार्यक्रम की सराहना की और इस कार्यक्रम को समाज को जोडऩे वाला कार्यक्रम बताया। बैठक में उन्होंने कहा कि समाज संगठित हो यह बहुत जरूरी है क्योंकि संगठन ही समाज की शक्ति है।  इस बैठक में गुरू द्वारा कमेटी ने गुरू नानक देव, गुरू गोविन्द सिंह का जिक्र करते गुरूद्वारा कमेटी के प्रधान सरदार दलजीत सिंह ने कहा कि उन्होंने समाज जागरण और संगठन के लिए ही सदैव कार्य किए। उन्होंने कहा कि गुरू गोविन्द सिंह ने तो अपने पूरे परिवार को ही देश के लिए न्यौछावर कर दिया। इस अवसर पर गुरूद्वारा कमेटी के प्रधान सिंह ने कहा कि जिस तरह सैनिक अपना कर्तव्य समझ कर देश की सीमाओं पर रक्षा में लगे हुए है, हमें भी समाज के अंदर ऐसी भावना पैदा करनी चाहिए ताकि देश और समाज सशक्त बने क्योंकि समाज संगठित होगा तो देश भी सशक्त होगा। उन्होंने कहा कि हम सभी का कर्तव्य है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और सामजिक संस्थाओं के द्वारा आयोजित इस महोत्सव में हम देश के लिए योगदान दें समरस गंगा महोत्सव भी देश के लिए किया जा रहा ऐसा ही कार्यक्रम है जो राष्ट्र स्तर पर पलवल को एक नई पहचान देगा।

इस अवसर पर सरदार परमिन्दर सिंह, ज्ञानी क्षविन्दर सिंह, ज्ञानी सतनाम सिंह, सरदार मोहन सिंह, सरदार सतविन्दर सिंह, सरदार गुरविन्दर सिंह, सरदार अमर सिंह, सरदार गरवन्त सिंह, सरदार गुरूलाल सिंह, सरदार तेजा सिंह, सरदार मनप्रित ङ्क्षसह, सरदार बिट्टू सिंह, प्रवीन ग्रोवर व विकाश मैंदीरत्ता सहित मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: