Thursday, December 14, 2017

रामकथा में कथाव्यास जगत प्रकाश स्वामी बोले कलयुग में केवल राम नाम का ही सहारा

In the story of the story, the story of Jagat Prakash Swami, in the Kali-Yuga, only the name of Ram Naam


फरीदाबाद 14 दिसम्बर,2017 (abtaknews.com )मानव सेवा समिति की ओर से जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिये आयोजित की जा रही श्रीरामकथा के छठे दिन कई दानी सज्जन व समाजसेवियों नेे भाग लेकर समिति के उद्देश्य व कार्यों की सराहना करते हुए मानव विद्या निकेतन स्कूल बल्लबगढ़ की सहायतार्थ आर्थिक सहयोग प्रदान किया और कथाव्यास स्वामी महामंडलेश्वर जगत प्रकाश स्वामी के प्रवचनों का अमृतपान किया। बीच-बीच में उनके द्वारा गाये गए भजनों पर महिलाओं ने खूब नृत्य किया। अपने प्रवचन में श्री स्वामी ने बताया कि भगवान राम भाव के भूखे हैं। गरीब हो या अमीर जो भक्ति भाव से अभिमान त्याग कर श्रीराम जी की पूजा करता है मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम उसकी प्रत्येक मनोकामना पूरी करते हैं। कलयुग में केवल राम नाम का ही सहारा है। उन्होंने आगे कहा कि दान देकर, भक्ति करके उसका बखान करना निन्दनीय है, ऐसा करने से फल की प्राप्ति नहीं होती है। गुरुवार को कथा सुनने के लिए शहर के प्रमुख समाजसेवी एम. पी. रूंगटा, राजकुमार अग्रवाल, अशोक गोयल, विनय गुप्ता, अवतार मित्तल, सी. एम. गर्ग, पी. डी. गर्ग, शेलेन्द्र गर्ग, चौधरी नरेन्द्र डांगी, महिला सैल की चैयरमेन उषाकिरण शर्मा आदि उपस्थित रहे, सुबह की नवग्रह पूजा में, यजमान अरूण बजाज ने भाग लेकर पूजा अर्चना की और स्वामी जी से आर्शीवाद प्राप्त किया। कथा प्रसंग के दौरान दिखाई गई राम, लक्ष्मण, सीता की सुंदर झांकी का भक्तजनों ने अवलोकन करके उस पर फूल बरसाए और उनके आगे झूम-झूम के नृत्य किया। 

समिति के अध्यक्ष पवन गुप्ता, चेयरमैन अरुण बजाज, मुख्य संयोजक, कैलाश शर्मा, चेयरमैन प्रोजेक्ट गौतम चैधरी, कार्यक्रम संयोजक रान्तीदेव गुप्ता, अमर खान, महासचिव सुरेन्द्र जग्गा कोषाध्यक्ष राजेन्द्र गोयनका व अन्य पदाधिकारी एस.सी. गोयल, वाई.के. महेश्वरी, पी.डी. गर्ग ने श्री स्वामी जी से अतिथियों का स्वागत कराया। स्वामी जी ने श्रद्धालुओं व शहर के अन्य समाजसेवियों, दानी सज्जनों से पुन: अपील की कि समिति द्वारा जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा देने के लिए चेरिटी के रूप में आयोजित की जा रही इस श्रीरामकथा में सभी बढ़-चढक़र दान दें जिससे समिति को स्कूल के लिए जमीन खरीदने में सहायता प्राप्त हो। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: