Wednesday, December 6, 2017

भाजपा कार्यकर्ताओं ने महापरिनिर्वाण दिवस के रुप में मनाया बाबा साहेब का बलिदान दिवस

BJP workers celebrate Baba Saheb's sacrifice as Mahaparinirvana day
फरीदाबाद(abtaknews.com) 06दिसंबर,2017 ; भारत रत्न बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर का बलिदान दिवस आज भाजपा कार्यकर्ताओं ने महापरिनिर्वाण दिवस के रुप में मनाया। इस दौरान डबुआ कालोनी के सामुदायिक भवन में एक समारोह का आयोजन कर बाबा साहेब को याद किया गया। कार्यक्रम का आयोजन भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष जगदीश द्वारा आयोजित किया गया। समारोह में मुख्यातिथि के रुप में एनआईटी विधानसभा क्षेत्र के पूर्व भाजपा प्रत्याशी यशवीर डागर व भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा उपस्थित थे, जबकि कार्यक्रम मेें विशेष अतिथि के रुप में वरिष्ठ महिला भाजपा नेत्री नीरा तोमर, एस.सी. मोर्चा अध्यक्ष लक्ष्मण तंवर, मीडिया प्रभारी ठाकुर अनिल प्रताप सिंह मौजूद थे। कार्यक्रम में मौजूद भाजपाईयों ने सर्वप्रथम डा. अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए यशवीर डागर ने कहा कि डा. भीमराव अंबेडकर भारत के संविधान निर्माता थे और उन्होंने सदैव गरीब, पिछड़े व दलितों के हितों के लिए संघर्ष किया। आज उन्हीं के प्रयासों का परिणाम है कि समाज में हर व्यक्ति को समानता का अधिकार मिला हुआ है। यही कारण है कि डा. अंबेडकर आज भी लोगों के दिलों में जिंदा है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब भारतीय संविधान के शिल्पकार और आज़ाद भारत के पहले न्याय मंत्री थे। सामाजिक भेदभाव के विरोध में कार्य करने वाले सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक डा. भीमराव अंबेडकर भारतीय न्यायविद, अर्थशास्त्री, राजनेता और समाज सुधारक के नाम से जाने जाते है। उन्होंने कहा कि महिला, मजदूर और दलितों पर हो रहे सामाजिक भेदभाव के खिलाफ आवाज़ उठाने और लडक़र उन्हें न्याय दिलाने के लिए भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर को सदा आदर से स्मरण किया जाता रहेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा ने डा. भीमराव अंबेडकर की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भीमराव अंबेडकर विश्व विख्यात शख्सियत है, जिन्हें पूरे संसार में श्रद्धांपूर्वक याद किया जाता है। उन्होंने कहा कि डा. अंबेडकर ने अपना पूरा जीवन समाज के दलित व पिछड़ों को उनका अधिकार दिलाने में व्यतीत किया। भीमराव आंबेडकर को आम तौर पर बाबासाहेब के नाम से जाने जाता है, जिन्होंने आधुनिक बुद्धिस्ट आन्दोलनों को प्रेरित किया और सामाजिक भेदभाव के विरुद्ध दलितों के साथ अभियान चलाया, स्त्रियों और मजदूरो के हक्को के लिए लड़े। वे स्वतंत्र भारत के पहले विधि शासकीय अधिकारी थे और साथ ही भारत के संविधान निर्माता भी थे। श्री शर्मा ने उपस्थितजनों से आह्वान किया कि वह बाबा साहेब के आदर्शाे को अपनाकर समाज व देशहित में कार्य करेे, यही उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस मौके पर उपाध्यक्ष राजकुमार वोहरा, भाजपा जिला सचिव भगवान सिंह, सतीश फागना, मास्टर जेपी सिंह, सचिन सरपंच, ओमपाल वाल्मीकि, संजीव कुमार, सोनू कौली, सुनील कुमार, विकास तंवर, प्रीतम सिंह, नानक माहौर, सुनील लौहट, विजय कुमार, दीपक तंवर, रवि कुमार, अनिल गौतम, नरेश कुमार, रोहित, सुरजीत सिंह, सुनील तोमर सहित अनेकों भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: