Sunday, December 3, 2017

जाट आरक्षण- क्षत्रिय पद्मावती फिल्म पर रोक मांग रहे, खट्टर बोले सांसद -विधायक हों पढ़े लिखें

Jat reservation - Kshatriya Padmavati seeking a moratorium on the film, Khattar said MP - Be quantitative


चंडीगढ़ (दुष्यंत त्यागी - abtaknews.com) 03 दिसंबर,2017; जाट आरक्षण और क्षत्रिय पद्मावती पर रोक की मांग कर रहे है , हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने चिट्ठी लिखी केंद्र सरकार को कि चुनाव लड़ने वाले  सांसद और विधायक के लिए न्यूनतम योग्यता निश्चित होनी चाहिए। इससे पहले पंचायत प्रतिनिधियों के लिए न्यूनतम योग्यता तय करने के राज्य सरकार के निर्णय की काफी प्रशंसा हुई थी।  मुख्यमंत्री खट्टर के हवाले से जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘पंचायत प्रतिनिधि का चुनाव लड़ने वालों के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता तय करने के हमारे निर्णय को अदालत ने बरकरार रखा था.’ उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा हमने केंद्र सरकार को एक पत्र लिखा है कि सांसद और विधानसभा सदस्य के लिए चुनाव लड़ने वालों के लिए न्यूनतम योग्यता तय की जानी चाहिए। 


हरियाणा सरकार ने पंचायती राज एक्ट 1994 में संशोधन कर ग्राम पंचायत, ग्राम समिति और जिला परिषद का चुनाव लड़ने के लिए महिला और एससी उम्मीदवार के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 8वीं, जबकि अन्य के लिए 10वीं पास तय की कर दी थी। इस पर मामला कोर्ट में पहुंचा था. जिस पर कोर्ट ने सरकार के पक्ष में अपना फैसला सुनाया था। मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश में जाटों की आरक्षण और क्षत्रियों की पद्मावती फिल्म पर रोक की मांग और प्रदेश में बिगड़ते हालात जैसे मुद्दों को छोड़ ध्यान भटकाने के लिए केंद्र को चिट्ठी लिख दी कि सांसद -विधायक का चुनाव लड़ने वालों के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता निर्धारित की जाए।  

loading...
SHARE THIS

0 comments: