Monday, December 11, 2017

फरीदाबाद पुलिस द्वारा शुरू किया गया महिला विरूद्ध अपराध जागरूकता अभियान


 फरीदाबाद(abtaknews.com) अपने ऐंकरिंग के संबंध में अपना 2 मिनट का विडियों बनाकर  उपरोक्त फेसबुक लिंक पर अपलोड करना है। 2 मिनट की विडियों का सबजेक्ट स्टुडेंट.पुलिस कैडेट प्रोग्राम की उपयोगिता होगी। इस कार्यक्रम की जानकारी वेबसाईट ¼facebook.com/studentpolicecadetprogram) पर उपलब्ध है। प्रोग्राम के बारे में नवीनतम जानकारी टविटर हैंडल पर भी ली जा सकती है। उन्होने बताया कि अनुभवी निर्णयकों की टीम इन विडियों की समीक्षा करेगी और आत्मविश्वासए बोलने की कला और फेसबुक पर मिले लाईक्स और शेयर की संख्या के आधार पर कुल 16 श्रेष्ठ ऐंकरों का चयन किया जाएगा। आॅडिशन के माध्यम से सर्वश्रेष्ठ 4 ;2 छात्र व 2 छात्राओंद्ध का चयन करेंगी। और वो ही स्टूडेंट पुलिस कडेट के राष्ट्रीय शुभारम्भ कार्यक्रम का मंच संचालन करेंगे।

फाइनल 16 में और अंतिम 4 मे जगह बनाने वाले छात्र एवं छात्राओं को प्रशांसा पत्र एवं आकर्षक इनाम जैसे कंप्यूटरए मोबाईल फोनए हार्ड ड्राइव इत्यादि इनाम दिया जाएगा और इनके स्कूल के प्रिंसीपल और संबंधित अध्यापक को भी प्रशांसा पत्र एवं मंच पर विशेष स्थान दिया जाएगा।क्रार्यक्रम में बच्चों को बताया कि यह कार्यक्रम बच्चों की प्रतिभा को बढावा देने के लिए चलाया गया है इससे उनमें आत्मविशवास बड़ेगा और स्टुडेंटस.पुलिस कैडेट प्रोग्राम से छा़त्रों शिक्षकों एवं माता पिता में भी जागरूकता पैदा होगी। उन्होने बताया कि स्टुडेंट इस प्रोग्राम में हिस्सा लेने के लिए फेसबुक लिंक पर अपना विडियों दिनांक 15ण्12ण्17 तक अपलोड कर सकते है।

1-डेंट पुलिस कडेट कार्यक्रम केंद्र और राज्य सरकार का साझा कार्यक्रम है। साठ प्रतिशत बजट केंद्र सरकार देगी और चालीस प्रतिशत राज्य सरकार।

2- पहले ये छोटे स्तर पर दो.चार राज्य में चल रहा था। इसकी उपयोगिता को देखता हुए इस  सारे राज्यों में लागू करने का फैसला किया गया है।

3- हरियाणा को केंद्र सरकार से इस कार्यक्रम को लागू करें के लिए साठ लाख रुपए का बजट प्राप्त हो चुका हैं। आगामी सप्लमेंटरी बजट में राज्य सरकार से सत्ताईस लाख मिलेंगे।

4- इस बजट का उपयोग एजुकेशनल विडीओ बनाने और बुक्लेट छापनेए कडेट्स के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम और कैम्प लगाने और प्रतियोगिता आयोजित करने में किया जाएगा।

5- इस कार्यक्रम को शिक्षा विभाग के सहयोग से लागू किया जाएगा। साल में २६ कार्यक्रम आयोजित किए जाएँगे। इसका उद्देश्य होगा कडेट को ये बताना कि रू. कानून क्या है और इसका स्वेच्छा से पालन कैसे उनके और देश के हित में है। पुलिस कैसे काम करती है और किन स्थिति में और कैसे इसकी मदद ली जा सकती है। देश की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था को क्या चुनौतियाँ है और उससे निबटने के लिए कैसे राज्य पुलिसए अर्धसैनिक बल और खुफिया तंत्र काम करता है। विभिन्न पुलिस तन्त्र में कैसे कैरीअर बनाया जा सकता है। सिपाही इन्स्पेक्टरए डीएसपी और आईपीएस अधिकारी कैसे बना जा सकता है।

6- कार्यक्रम आठवीं और नवमी वर्ग के छात्र.छात्राओं के लिए है। एजुसेट के माध्यम से छात्रों को वर्क इक्स्पिरीयन्स वाले पिरीयड में उपरोक्त विषयों पर विडीओ दिखाया जाएगा। प्रशिक्षित पुलिस अधिकारी एवं सम्बद्ध शिक्षक प्रश्नों के जवाब देंगे। कडेट्स को थानाए पीसीआरए कंट्रोल रूमए एसपी ऑफिसए पुलिस लाइन का दौरा कराया जाएगा और यहाँ क्या कैसे होता है ये बताया जाएगा।

7- देखा गया है बच्चे लोगों  के  सामने अपनी बात ठीक नहीं रख पाने की वजह से जिंदगी में पिछड़ जाते हैं। ऐंकर टैलेंट हँट के माध्यम से पब्लिक स्पीकिंग को बढ़ावा दिया जा रहा है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: