Saturday, December 23, 2017

विद्यासागर स्कूल में पहुंचा सांता, नौनिहालों को बांटी खुशियां


फरीदाबाद 23 दिसंबर (abtaknews.com)। सेक्टर-2 स्थित विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों ने क्रिसमस पर्व ख़ुशी और उत्साह के साथ मनाया। क्रिसमस के अवसर पर शिक्षिकाओं ने क्रिसमस के धार्मिक महत्व की जानकारी दी। इसके अलावा ईशा मसीह के जीवन के बारे में भी बताया, बच्चो ने क्रिसमस सम्बंधित गीत प्रस्तुत किया तो वहीं दूसरी और ग्रेड 2 व् 3 के छात्रों ने ईशा मसीह के जन्म पर सुन्दर नृत्यनाटिका प्रस्तुत कर सबका मन मोह लिया। प्रेप के छात्रों ने क्रिसमस-ट्री पर बहुत प्यारा डांस प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। वहीं कक्षा नर्सरी की नन्ही परियो ने ‘आयी एम बार्बी गर्ल’ पर बहुत ही प्यारा नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम को चार- चांद लगाने की लिए बच्चे बहुत ही आकर्षक वेशभूषा में नजर आए। इस मौके पर छात्र सांता क्लॉस बनकर सबको गिफ्ट्स बांट रहे थे तो वहीं कुछ छात्राएं कोई मरियम व् पारी बनकर सबका मनमोह रहीं थी। कार्यक्रम में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के बाद चर्च से आए कुछ कलाकारों ने कैरोल सिंगिंग व् प्रभु येशु के प्रार्थना गीतों द्वारा सारा समा बांध दिया। अंत में क्रिसमस केक काटकर व् नव वर्ष की शुभकामनाय दी गयी। इस अवसर पर स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने कहा की क्रिसमस ईसाइयो का प्रमुख त्यौहार है। यह त्यौहार पवित्रता व् भाईचारे का संदेश देता है तथा उच्च मार्ग पर चलने हेतु सभी को प्रेरित करता है। वहीं स्कूल के डायरेक्टर दीपक यादव ने क्रिसमस पर्व पर प्रकाश डालते हुए कहा की ईशा मसीह ऊंच-नीच के भेदभाव को नहीं मानते थे, क्रिसमस दूसरो के साथ प्रेम, आनंद और शांति बांटने का त्यौहार है। इस अवसर पर स्कूल की डायरेक्टर सुनीता यादव ने सभी की नए साल की शुभकामनाय दी व कहा की क्रिसमस समस्त मानव समुदाय को ईसा मसीह की तरह अपने कार्यो से दूसरो  के जीवन में खुशियां बांटने का सन्देश देता है। स्कूल की हेडमिस्ट्रेस ज्योति चौधरी ने सभी छात्रों को क्रिसमस का महत्व बताते हुए कहा कि यह पर्व हमें प्रेम की भावना सीखाता है साथ ही बुराईयों से दूर रहकर सभी को खुशियां बांटने का संदेश देता है। उन्होंने बच्चों को प्रभु ईसा मसीह द्वारा दिखाए रास्ते पर चलने की प्रेरणा दी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: