Monday, December 4, 2017

कर्मचारी नेताओं ने भाजपा सरकार की मजदूर व जन विरोधी नीतियों के विरोध में बैठक



फरीदाबाद, 4 दिसम्बर(abtaknews.com )केन्द्रीय मजदूर संघ व कर्मचारी संगठन भाजपा सरकार की मजदूर-कर्मचारी व जन विरोधी नीतियों के विरोध में आगामी 30 जनवरी को प्रदेश के तमाम जिला मुख्यालयों पर जेल भरो की कार्यवाही करेगें। इससे पूर्व 20 दिसम्बर से 7 जनवरी के मध्य तमाम जिलों में संयुक्त मजदूर-कर्मचारी कन्वेंशन की जाएगी। तमाम संगठनों ने 17 जनवरी की परियोजना वर्करों की देशव्यापी हड़ताल को भी सफल बनाने का फैसला किया है।उक्त निर्णय आज केन्द्रीय श्रमिक संगठनों व कर्मचारी फेडरेशनों के राज्य नेतृत्व की संयुक्त बैठक में लिया गया। बैठक एटक कार्यालय में आयोजित की गई।

बैठक में इंटक के प्रान्तीय महासचिव धर्मवीर लोहान, उपप्रधान कृष्ण नैन, एटक के महासचिव बेचू गिरी, उपप्रधान मुरली, एचएमएस के उपप्रधान एस.डी.त्यागी, सीटू के प्रान्तीय अध्यक्ष सतबीर सिंह, महासचिव जयभगवान, उपप्रधान लाल बाबू शर्मा, एआईयूटीयूसी के महासचिव हरिप्रकाश, सर्व कर्मचारी संघ, हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा,  हरियाणा कर्मचारी महासंघ के कोषाध्यक्ष दिलबाग अहलावत, संयुक्त कर्मचारी मंच के हरविन्द खैर,  हकीम खान आदि नेताओं शामिल थे। बैठक की अध्यक्षता कर्मी नेता एसडी त्यागी ने की।
बैठक में केन्द्र व राज्य की भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अपने साढ़े तीन साल के कार्यकाल में मजदूरों और कर्मचारियों पर बड़े हमले किए गए है। सरकार श्रम कानूनों में मालिक परस्त बदलाव करने पर उतारू है। मजदूरों व कर्मचारियों की लम्बित मांगों पर किसी तरह का कोई फैसला नहीं लिया जा रहा। इसके विरोध में हाल ही में 9 से 11 नवम्बर तक संसद पर देश भर से लाखों मजदूरों व कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर महापड़ाव किया था, लेकिन सरकार बेशर्मी पूर्ण ढंग से महापड़ाव की मांगों को अनसुना कर रही है। जिसके खिलाफ देशभर में जेलभरो की कार्यवाहियों का फैसला किया गया है। हरियाणा में 30 जनवरी को प्रदेश के तमाम मजदूर और कर्मचारी जेलभरो आन्दोलन में भाग लेगें। जेल भरो आन्दोलन को पूर्ण रूप से सफल बनाने के लिए प्रदेश के सभी जिलों में संयुक्त कन्वेंशन की जाएगी। बैठक में आंगनवाड़ी, आशा वर्कर, मिड-डे-मील वर्करों समेत तमाम परियोजना वर्करों की 17 जनवरी को होने वाली देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने का फैसला किया। इसके साथ ही राज्य में अतिथि अध्यापकों समेत चल रहे तमाम जायज आन्दोलनों व कर्मचारी महासंघ की 20 फरवरी की प्रस्तावित हड़ताल का समर्थन करने का प्रस्ताव पारित किया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: