Thursday, December 7, 2017

79 साल के ब्रिटिश नागरिक का इण्डिया के मेट्रो हॉस्पिटल फरीदाबाद के डाक्टरों ने किया इलाज


79-year-old British citizen of India metro hospital Faridabad doctors did successful treatment

फरीदाबाद-07 दिसंबर,2017(abtaknews.com) : अब तक लोग क्रिटिकल सर्जरी के लिए यूएस और यूके का रुख करते थे लेकिन शायद ये पहली बार है कि किसी ब्रिटिश नागरिक ने ब्रिटिश डॉक्टर्स से ज्यादा विश्वास  हिन्दुस्तान के डॉक्टर्स पर जताया और यहाँ आकर सर्जरी कराई। दरअसल 79 साल के एक ब्रिटिश नागरिक को हार्ट से सम्बंधित बेहद क्रिटिकल बिमारी थी और ब्रिटिश में उसको फ्री इलाज भी मिल सकता था लेकिन 79  के ब्रिटिश नागरिक ने सर्जरी के लिए फरीदाबाद के मेट्रो हॉस्पिटल को चुना और यहाँ अपना सफल ऑप्रेशन कराया,और यहां मिले इलाज के बाद अब वह काफी खुश है, उसकी सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। गनी ने  इण्डिया और इंडियन डाक्टरों का धन्यवाद कर रहा है। 

मेट्रो हॉस्पिटल फरीदाबाद के डॉक्टरों द्वारा ब्रिटिश नागरिक गनी सदून का सफल ओप्रशन किया गया। मीडिया से बातचीत में गनी ने बताया कि 2015 में उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ था, जिसमे उनकी किडनी को काफी नुक्सान हुआ था. अब गनी की हार्ट की ट्रिपल वेसल बिमारी से पीड़ित थे. ब्रिटिश डॉक्टर्स ने उन्हें मामले की गंभीरता को देखते हुए बाईपास सर्जरी कराने की सलाह दी जो कि बेहद रिस्की थी। वहीँ 79 साल के ब्रिटिश नागरिक को ब्रिटिश में फ्री इलाज भी मिल रहा था लेकिन इसके बावजूद बाईपास के लिए गनी तैयार भी नहीं थे, इसके बाद उनके किसी जानकार ने भारतीय डॉक्टर्स का जिक्र किया जिसके बाद गनी ने इंटरनेट पर फरीदाबाद मेट्रो हॉस्पिटल के बारे में जाना और ऑप्रेशन के लिए यहाँ चले आये. अब गनी एंजिओप्लास्टी कराकर बेहद खुश हैं और स्वस्थ महसूस कर रहे रहे हैं और आपरेशन करने वाले डॉक्टर्स को धन्यवाद् भी कह रहे हैं।  

मेट्रो हॉस्पिटल के मेनेजिंग डायरेक्टर डॉ एस एस बंसल ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि गनी का आपरेशन उम्र, गुर्दे की बीमारी, ब्रेन हेमरेज और  ट्रिपल वेसल बीमारी के चलते बेहद चुनौतीपूर्ण था। उनकी बाई आर्टरी में कई हार्ड ब्लॉक थे. जिसके चलते मेट्रो हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने उनकी एंजिओप्लास्टी का फैंसला किया और उसे सफलतापूर्वक अंजाम दिया।  डॉ बंसल ने कहा कि उन्हें ख़ुशी है कि पहले लोग अच्छे इलाज के लिए विदेश जाते थे लेकिन अब यह ट्रेंड बदलने लगा है और विदेशी मरीज भारत में आकर अपना इलाज कराना चाहते हैं। डॉ एस एस बंसल- यह गर्व की बात है कि ट्रेंड बदल रहा है और विदेशी मरीज़ अब भारत आकर अपना इलाज कराना चाहते हैं।  

loading...
SHARE THIS

0 comments: