Saturday, December 2, 2017

पटना के प्रॉपर्टी डीलर की फरीदाबाद में गोली मारकर हत्या, जंगलो में 6 घंटे तड़पा प्रवीण


Patna property dealer shot dead in Faridabad, 6 hours in Praful Prabeen in Aravali forest

फरीदाबाद (abtaknews.com) 02 दिसंबर,2017; पटना के प्रॉपर्टी डीलर को फरीदाबाद बुलाकर की दो गोली मारकर की हत्या| हत्या करने से पूर्व दोनों हत्यारे प्रॉपर्टी डीलर को फरीदाबाद में जंगलों में लेकर गए और उसके पेट में गोलियां मार दी| गोली लगने के बाद मरने से पहले घायलावस्था में पुलिस और पटना में अपने एक मित्र को फ़ोन करके बताया तथा उसे बचाने की अपील भी की| लेकिन फरीदाबाद पुलिस की तरफ से उसे कोई हेल्प नहीं मिली| फरीदाबाद पहुँचने पर परिजन 6 घंटे तक पुलिस को सम्पर्क कर जंगल की लोकेशन बताते रहे, लेकिन पीड़ितों की मदद करने की बजाय पाली पुलिस चौकी इंचार्ज सिर्फ परिजनों को बरगलाता रहा| हत्यारों ने प्रोपेर्टी डीलर को फरीदाबाद आने के लिए मोबाइल फ़ोन से हवाई जहाज का टिकट भेजा था| 


फरीदाबाद का बादशाह अस्पताल है, जहां पर पटना के बैरिया प्रॉपर्टी डीलर प्रवीण की फरीदाबाद में हत्या होने के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है| दरअसल मूलरूप से पटना बिहार निवासी प्रवीण वहां प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था| अपने ही जिले में रहने वाले वरुण सिंह से उसने एक जमीन 1 करोड़ 36 लाख रुपए में खरीदी थी, जिसकी सारी पेमेंट वरुण ने ले भी ली| मृतक के भाई श्रवण कुमार शर्मा की मानें तो पेमेंट लेने के बाद जब रजिस्ट्री का समय आया तो वरुण भाग गया, जिस पर परवीन ने वरुण के खिलाफ मामला भी दर्ज करवा दिया| भाई की मानें तो उसी रंजिश में वरुण ने प्रवीण को उसके मोबाइल पर हवाई जहाज का टिकट भेजकर दिल्ली बुलाया और कोई दूसरी जगह या पैसे देने की बात कहा| उसके बाद वरुण और उसके साथी अजय यादव ने फरीदाबाद में पाली-सूरजकुंड रोड जंगलों में जाकर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी| 

मृतक के साले रंजीत कुमार की मानें तो उसके जीजा प्रवीण के मोबाइल पर हवाई जहाज की टिकिट भेजकर वरुण और उसके पार्टनर अजय यादव ने दिल्ली बुलाया और दिल्ली आने के बाद उसे फरीदाबाद ले आए और उसकी हत्या कर दी| रणजीत ने बताया कि प्रवीण ने वरुण को 1 करोड़ 36 लाख की एक जमीन बेचीं थी| पैसे लेने के बाद रजिस्ट्री नहीं की तो पुलिस ने उसके खिलाफ मामला कर भी दर्ज कर लिया| अपने खिलाफ दर्ज मामले से वरुण परेशान कर छाले था, इसलिए उसनेप्रवीन की हत्या की साजिश रच डाली| साजिश के तहत 28 नवबर को वरुण ने हवाई जहाज का टिकट भेजकर २९ नवंबर को दिल्ली आने के लिए कहा| दिल्ली में वरुण ने उसे जमीन देने की बात भी की थी| लेकिन यहां आने के बाद उसे फरीदाबाद में ले जाकर उसे पहले पीटा तथा उसे 2 गोली मारने के बाद जंगलों में फेंककर चले गए| 

रंजीत ने बताया कि वह सेलुलर कम्पनी में काम करता है, इसलिए जंगलों की लोकेशन निकलकर वह लगातार पाली पुलिस चौकी इंचार्ज से सम्पर्क करता रहा, लेकिन उसकी तरफ से कोई मदद नहीं मिली| अगर पुलिस की मदद मिल जाती तो प्रवीण की जान बचाई जा सकती थी| 


बाईट- रंजीत, मृतक का साला 


वीओ-४- वहीँ अनखीर पुलिस चौकी इंचार्ज रणधीर सिंह की मानें तो पटना निवासी प्रवीण की हत्या की सूचना मिली थी| यह हत्या मूलरूप से पटना निवासी वरुण और उसके साथी अजय ने प्रॉपर्टी विवाद में प्रवीण की हत्या की है| पुलिस ने इस संबंध में हत्या का माला दर्ज कर लिया है| 


loading...
SHARE THIS

0 comments: