Wednesday, December 27, 2017

पलवल में 31 दिसम्बर से समरस गंगा कार्यक्रम से आरआरएस करेगा समाज परिवर्तन

 RRS will organize gentle power by organizing samaras ganga program in Palwal from 31st December

पलवल (abtaknews.com)27 दिसंबर,2017 :- राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पलवल द्वारा आगामी 31 दिसम्बर को होने जा रहे समरस गंगा कार्यक्रम को  लेकर प्रांत कार्यवाह देवप्रशाद भारद्वाज ने केशव भवन परिसर में प्रेस वार्ता कर राष्टीय स्वयं सेवक संघ की कार्य प्रणाली  तथा कार्यक्रम की जानकारी दी ! उन्होंने बताया की राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की 92 वर्ष की  यात्रा का अब चौथा चरण है जो समाज की अपेक्षा का समय  है ! जिसमें अब संघ समाज की सज्जन शक्ति को संगठित कर समाज परिवर्तन का काम कर  रहा है ! प्रेस कोंफ्रेंस के समय जिला संघ चालक देश भक्त आर्य तथा हरियाणा प्रदेश खेल परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष दीप भाटिया भी विशेष मौजूद थे! 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के हरियाणा प्रांत कार्यवाह देवप्रशाद भारद्वाज ने प्रेस वार्ता कर बताया की राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने  सन 1925 से काम करना शुर किया था ! वह संघ का प्रथम चरण था जिसमें संघ की उपेक्षा की गई , दूसरा चरण 1948 के बाद का रहा जब संघ ताकतवर होने लगा तो संघ का विरोध होना शुरू हुआ , तीसरा चरण 1962 के चीन युद्ध के बाद शुरु हुआ - जो  संघ के लिए सहयोग  वाला समय रहा अब संघ का चौथा चरण है -- इस चरण में पूरा समाज और देश ही पूरा विश्व संघ की और आशा भरी निगाहों से देख रहा है !  विश्व के 45 देशों में संघ की गतिविधियाँ चलती है ! 

श्री भारद्वाज ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया की संघ की  शाखाएँ तो मूल काम है ही अब संघ ने  शाखाओं से आगे बढ़कर प्रदेश में पांच काम अपने हाथ में लिए हैं जिनमें पहला काम है सामाजिक समरसता , दूसरा काम है कुटुम्भ प्रबोधन , तीसरा काम है समग्र ग्राम विकाश , चौथा काम है गौ  रक्षा -सेवा और सम्वर्धन ,और पांचवा कार्य है धर्म जागरण और समन्वय का ! उन्होंने बताया की आगामी 31 दिसम्बर को होने वाला कार्यक्रम सामाजिक समरसता का कार्यक्रम है जिसमें जिले से सभी शहीदों  के परिवारों के साथ साथ  राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर जिले का नामा रोशन करने वालों को सम्मानित किया जाएगा ! उन्होंने बताया की इस-समरस गंगा कार्यक्रम में देश के जाने माने रिटायर्ड  मेजर जनरल जी डी बक्शी मुख्य अतिथि होंगे तथा देश विदेश में धर्म जागरण की अलख जगाने वाले पूज्य  धर्मदेव आदि कई बड़े संत लोगों को सम्बोधित करेंगे ! 


loading...
SHARE THIS

0 comments: