Tuesday, December 5, 2017

आउटसोर्सिंग में लगे 43 सफाई कर्मचारियों को निकालने के विरोध में जारी है धरना


In protest against the removal of 43 clean workers in outsourcing part-1

फरीदाबाद, 5 दिसम्बर(abtaknews.com)आउटसोर्सिंग पार्ट-1 में लगे 43 सफाई कर्मचारियों को गैर कानूनी ढंग से नौकरी से निकालने व लाईन नंबर-3 मंझावली में लगे 22 टयूबवैल आॅपरेटरों 8 गार्डों व 688 आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को निगम रोल पर रखने, विनोद बिल वितरक को डयूटी पर लेने व इको ग्रीन कंपनी को ठेका देते समय श्रम कानूनों को दरकिनार करने का मुददा अब गर्मा चुुका है। नगर निगम के कर्मचारियों ने भोजनावकाश के समय निगम सभागार में नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री की अध्यक्षता में आम सभा आयोजित कर निगम प्रशासन के अधिकारियों की नादरशाही व वायदाखिलाफी के खिलाफ आर-पार के आंदोलन का ऐलान करते हुए कहा कि कल निगम महापौर के कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए कर्मचारियों की मांगों का समाधान करने की अपील करेंगे। यदि महापौर द्वारा हस्ताक्षेप कर मांगों का समाधान नहीं करवाया जाता है तो संघ द्वारा दिए गए आंदोलन के नोटिस के अनुसार 10 दिसम्बर से समस्त नगर निगम के कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे।

श्री शास्त्री ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि शहर की जनता के उपर अतिरिक्त सफाई टैक्स लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इको ग्रीन कंपनी आवासीय व काॅमर्शियल बिल्डिंगों पर 50 रूपये से 500 रूपये तक वसूला जाएगा। यह वसूली इको ग्रीन कंपनी करेगी। श्री शास़्त्री ने हरियाणा सरकार को दलित विरोधी बताते हुए कहा कि सरकार द्वारा दलित एवं आम जनताविरोधी करार देते हुए कहा कि सरकार को इको ग्रीन कंपनी को ठेका देते समय घरों में काम करने वाले बाल्मीकि विरादरी के लोगों के रोजगार के बारे में विचार करना चाहिए था। इको ग्रीन कंपनी द्वारा शहर का डोर टू डोर कूड़ा कलैक्शन करने का कार्य भार संभालने के बाद फरीदाबाद की दो हजार वाल्मीकि परिवार बेरोजगार हो जाएंगे।  श्री शास्त्री ने बाल्मीकि बिरादरी के सभी संस्थाओं धार्मिक-सामाजिक लोगों से अपील की है कि सभी मिलकर रोजगार बचाने की लड़ाई में शामिल हों।

न्गर पालिका कर्मचारी संघ द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन को सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान अशोक कुमार व फरीदाबाद ब्लाक के वरिष्ठ उपप्रधान करतार सिंह ने सर्व कर्मचारी संघ की ओर से समर्थन देते हुए जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि निगम कर्मचारियों की न्यायोचित मांगों को बातचीत के माध्यम से निपटान करें अन्यथा सर्व कर्मचारी संघ से सम्बन्धित सभी विभागों की यूनियनें निगम कर्मचारियों के आंदोलन में कूद पड़ेगी।

कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य सचिव सुनील चिंडालिया, जिला वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खांड़िया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, डाईवर यूनियन के प्रधान परसराम अधाना, वेद भडाना, रामकिशोर त्यागी, सुभाष फेंटमार, रंजीत शुक्ला ने कहा कि निगम के अधिकारियों की बर्बरता व लापरवाही का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि नगर निगम के आउटसोर्सिंग पर कार्यरत डाईवर दो दिन से हड़ताल पर है और अधिकारियों ने आज तक डाईवर यूनियन से बात करना भी गंवारा नहीं समझा है। इससे स्पष्ट होता है कि हरियाणा सरकार के आला अधिकारी जनता के प्रति कर्मचारियों के प्रति कितने जिम्मेदार है। यदि यहीं आलम रहा तो माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर जी का स्मार्ट सिटी बनाने व स्वच्छ हरियाणा-स्वस्थ हरियाणा बनाने का सपना चकनाचूर हो जाएगा। संघ नेताओं ने आक्रोशित स्वर में चेतावनी देते हुए कहा कि निगम प्रशासन जब तक 43 कर्मचारियों सहित 22 टयूबवैल आॅपरेटरों, 8 गार्डों, विनोद बिल वितरक को बहाल नहीं करेंगा व  688 कर्मचारियों को निगम रोल पर रखने, दैनिक वेतन भोगी व अनुबंधित आधार पर लगे कर्मचारियों को नियमित करने, समान काम-समान वेतन देने, 14.29 प्रतिशत बढ़ोत्तरी का एरियर देने, सांतवे वेतन आयोग का एरियर देने आदि मांगों का समाधान नहीं किया जाता तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा।

आज के इस प्रदशन को अन्य के अलावा कर्मी नेता नानकचंद खैरालिया, सोमपाल ंिझंझोटिया, श्री नन्द ढकोलिया, रघुवीर चैटाला, देवेन्द्र मंझावली, बल्लू चिंण्डालिया, प्रेमपाल, राजू मंढोतिया, कृष्ण चिण्डालिया, महेन्द्र कुड़िया, धर्म सिंह मुल्ला, राजबीर चिण्डालिया, विरेन्द्र भंडारी, महिला नेता माया, शंकुतला, कमलेश, ममता, बृजवती सहित सैकड़ों कर्मचारी शामिल थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: