Tuesday, November 7, 2017

फरीदाबाद में सुबह से अजीब धुंध सी छाई, आँखों में जलन, लोगो ने कहा धुंध नहीं प्रदूषण


फरीदाबाद(abtaknews.com)आज दिल्ली - एनसीआर में कोहरे की चादर में लोगो की सुबह हुई, लोगों को लगा की अब धुंध भरी सर्दी का आगाज़ हो चुका है लेकिन लोगों को उस वक्त घरों से बाहर निकलने पर इस कोहरे की हकीकत का सामना करना पड़ा. जब उनकी आँखों में अजीब सी जलन और घबराहट होने लगी, फरीदाबाद में भी ऐसा नज़ारा देखने को मिला तो लोगो ने कहा की यह सर्दी वाला कोहरा नहीं बल्कि प्रदूषण का धुँआ है । इस प्रदूषण से दमा के मरीज बीमार बुजुर्गो को बडी परेशानी हुई।  

धुंध की चादर में दिखाई दे रहा यह नज़ारा फरीदाबाद का है जहाँ आज लोगो को सुबह से ही सूरज देवता के दर्शन देर से हुए. जैसे ही फरीदाबाद के लोग सुबह उठे तो उन्होंने धुंध जैसे माहौल को देख सोचा की अब सर्दी का आगाज हो चुका है लेकिन जैसे ही लोग तैयार होकर अपने घरो से बाहर निकले तो उनकी आँखों में अजीब सी जलन होने लगी. खासकर दोपहिया वाहन चालकों को इस धुंध से परेशानी होने लगी. स्थानीय लोगो ने बताया की जिस तरह से धुंध का माहौल बना हुआ है वह धुंध नहीं बल्कि धुएँ का प्रदूषण है यदि यह सर्दी वाली धुंध होती तो अब तक उनकी स्वेटर और जैकेट्स निकल चुकी होती और अब भी वह पंखे की हवा में बैठे है जिससे साफ़ होता है की यह धुंध नहीं प्रदूषण है. उन्होंने बताया की वह दुकानदार है और उनके स्टाफ के फील्ड बॉय आज उन्हें आँखों में जलन होने की समस्या के बारे में शिकायत कर रहे है वहीँ उन्होंने बताया की वह जबकि दूकान के अंदर बैठे है इसके बावजूद प्रदर्शन के कारण उनकी आँखों में जलन हो रही है. लोगो ने इस प्रदूषण का कारण किसानो द्वारा खेतो में पराली जलाने को बताया है. उन्होंने कहा की सरकार किसानो को कहती तो है की पराली जलानी नहीं है लेकिन सरकार किसानो में जागरूकता लाने के लिए विफल रही है जिसके चलते आज इतना प्रदूषण बढ़ रहा है. सरकार को चाहिए की जो किसान पराली जलाता है उस पर सख्त कार्यवाही की जाए ताकि वह पराली न जलाये। वहीँ एक बुजुर्ग ने बताया की वह बहुत समय से बीमार है और आज इस प्रदर्शन के कारण उनकी सेहत और बिगड़ रही है. 

loading...
SHARE THIS

0 comments: