Thursday, November 30, 2017

आदर्श गांव तिलपत के जल्द बदलेंगे हालात, सड़कें, सीवर,सफाई से होगा कायाकल्प

Adarsh village will soon change the conditions of Tilpat, roads, sewer, cleanliness will be done.
फरीदाबाद (abtaknews.com-दुष्यंत त्यागी ) 30 नवंबर,2017; आदर्श गांव तिलपत का एक साल के अंदर काया कल्प होने वाला है। ऐतिहाहिक गांव की बदहाली का वनवास ख़त्म होने वाला है। ग्रामीणों को जल्द ही यहाँ की चमचमाती सड़कें और भव्य प्रवेश मार्ग से आदर्श गांव की अलग ही झलक देखने को मिलेगी। हुडा विभाग के उच्च अधिकारी ने अपनी टीम के साथ गांव का दौरा किया। इस दौरे के समय तिलपत के सरपंच नंदकिशोर शर्मा उर्फ़ पिंटू, पंचायत सदस्य एवं अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे। फरीदाबाद सांसद एवं केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर द्वारा तीन साल पहले गौद लिया हुआ गांव तिलपत में करोड़ो की राशि मंजूर होने के बाद 6 महीने के अंदर अंदर गांव का काया कल्प होने जा रहा है।
Adarsh village will soon change the conditions of Tilpat, roads, sewer, cleanliness will be done.

कई दशकों से बदहाली के आंसू बहाता ऐतिहासिक गांव तिलपत के अब दिन फिरने वाले हैं। हरियाणा कांग्रेस कार्यकारणी सदस्य (एसटी एससी प्रकोष्ठ ) बाबू लाल रवि ने अबतक न्यूज़ पोर्टल को बताया कि  तिगांव विधान सभा का तिगांव के बाद सबसे बड़ा गांव तिलपत है। बाबा सूरदास की तपोभूमि तिलपत में स्थित बाबा सूरदास मंदिर को जाने वाली मुख्य सड़क का बुरा हाल है , इसके अलावा अन्य बदहाल सड़कें , नालियों का गन्दा पानी रास्ते में बहते रहना, गंदगी के ढेर, कॉलोनियों में गंदे पानी की सप्लाई की समस्या, बिजली की समस्या बहुत ज्यादा है , गांव की डिस्पेंसरी में शौचालय टूटा हुआ है जिसके कारण प्रसूति नहीं हो पा रही है , गांव में लगभग 14 हजार मतदाता हैं हालाँकि अधिकांश लोगो की वोट नहीं बनी जो बेचारे वोट बनवाने के लिए दिनरात परेशान रहते है। गांव के सरकारी स्कूल का सबसे बेकार रिजल्ट आता है क्योंकि स्कूल में टीचर पर्याप्त नहीं है। गांव की गलियों में आज भी पुराने लोहे वाले बिजली के खम्बे लगे हैं जिनमे करंट उतरकर मवेशियों और ग्रामीणों के झुलसा देते है कई मवेशियों की करंट से मौत हो चुकी है , ग्रामीणों ने लोहे के खम्बो पर प्लास्टिक लगाई हुई है ताकि करंट से बचा जा सके। गांव वालों को गांव के काया पलट होने का अभी सपना ही दिखाई देता है।  ग्रामीणों का कहना है कि चार साल में कुछ नहीं हुआ तो एक साल में कैसे बहुत कुछ हो जायेगा , मंत्री का वोट मांगने का समय दोबारा आने वाला है इसलिए मीडिया के माध्यम से बयान बाजी की जा रही है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: