Wednesday, November 15, 2017

अतिथि अध्यापको को बैकडोर एंट्री करार देने व नियमित न करने के बयान पर कड़ी नाराजगी ; सुभाष लाम्बा



फरीदाबाद (abtaknews.com)सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने मुख्यमंत्री के अतिथि अध्यापको को बैकडोर एंट्री करार देने व नियमित न करने के बयान पर कड़ी नाराजगी जताई है । उल्लेखनीय है की माननीय मुख्यमंत्री ने सोमवार को नारनौल मे शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा की मौजूदगी में पत्रकारो से रूबरू होते हुए यह बयान दिया था ।

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा ने मुख्यमंत्री के बयान पर कड़ी नाराजगी जताते हुए बताया की गेस्ट टीचर बैकडोर एंट्री नही है । बकायदा पद विज्ञाप्ति किये गये थे और शक्तियों का विकेन्द्रीकरण करते हुए स्कूल स्तर पर चयन कमेटियों का गठन किया गया था । जिनके माध्यम से गेस्ट टीचर का चयन किया हुआ है । उन्होने बताया की इसी बजय से भाजपा के पूर्व अध्यक्ष व वर्तमान शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा ने गेस्ट टीचरो के आन्दोलन में शामिल होकर भाजपा के सत्ता में आने पर गेस्ट टीचर को नियमित करने का पक्का आश्वासन दिया था । जिससे प्रभावित होकर गेस्ट टीचर व उनके परिवार भाजपा के समर्थन में खुलकर आये थे । अब माननीय मुख्यमंत्री उन्हें बैकडोर एंट्री बताकर उन्हें अपमानित कर रहे है और शिक्षा मंत्री जिन्होंने उन्हे नियमित करने का आश्वासन दिया था, वह भी माननीय मुख्यमंत्री के बयान का समर्थन कर रहे थे । यह गेस्ट टीचर के साथ सरासर धोखा व विश्वाशघात है । सकसं महासचिव लाम्बा ने नौकरी से निकाले गेस्ट टीचर को वापस सेवा में लेने, गेस्ट टीचर को नियमित करने व नियमित होने तक" समान काम समान वेतन " देने की मांग दोहराई । उन्होने बताया की नोकरी से निकाले गए गेस्ट टीचर मंत्रियों के आवासो पर जनवादी तरीके अपनी बहाली की मांग को लेकर आन्दोलन कर रहे है लेकिन मंत्रीगण मामले को कतई गंभीरता से नही ले रहे । संघ ने गेस्ट टीचरो के आन्दोलन का पुरजोर समर्थन किया ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: