Tuesday, November 14, 2017

एनएसयूआई फरीदाबाद के जिला अध्यक्ष कृष्ण अत्री ने नेहरू के जन्मदिवस पर गरीब बच्चों में बांटी स्टेशनरी



फरीदाबाद(abtaknews.com) एनएसयूआई फरीदाबाद के जिला अध्यक्ष कृष्ण अत्री ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिवस गरीब बच्चों में फल ,बिस्कुट , पैन कॉपी बाँटकर मनाया । इस दौरान मुख्य रूप से नेहरू कॉलेज अध्यक्ष मोहित त्यागी , उपाध्यक्ष अभिषेक वत्स मौजूद थे ।इस मौके पर जिला अध्यक्ष कृष्ण अत्री ने पंडित जवाहरलाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनका जन्म 14 नवंबर ,  1889 में उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद जिले में हुआ था ।

देशभर में जवाहरलाल नेहरू जी का जन्मदिन '14 नवंबर' बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है । नेहरू जी बच्चो से बेहद प्यार करते थे और यही कारण था कि उन्हें चाचा नेहरू बुलाया जाता था ।कृष्ण अत्री ने बताया कि भारत की स्वतंत्रता में जवाहरलाल नेहरू जी का प्रमुख योगदान रहा है । नेहरू जी  महात्मा गांधी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अंग्रेजों के खिलाफ लड़े । चाहे असहयोग आंदोलन की बात हो या फिर नमक सत्याग्रह  या फिर 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन की बात हो उन्होंने गाँधी जी के हर आंदोलन में बढ़ चढ़ कर भाग लिया । अत्री ने बताया कि नेहरू जी की विश्व के बारे में जानकारी से गांधी जी काफी प्रभावित थे और इसीलिए आजादी के बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद पर देखना चाहते थे । सन 1920 में उन्होंने  उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में पहले किसान मार्च का आयोजन किया था । 1923 में वह अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव चुने गए ।

इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा तथा छात्र नेता वरुण शर्मा ने संयुक्त रूप से कहा कि देश के इतिहास में एक ऐसा मौका भी आया था , जब महात्मा गांधी को स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पद के लिए सरदार वल्लभभाई पटेल और जवाहरलाल नेहरू में से किसी एक का चयन करना था । नेहरू जी के विन्रम राष्ट्रीय दृष्टिकोण के कारण उन्हें सबसे लंबे समय  15 अगस्त , 1947 - 27 मई ,1964 तक विश्व के सबसे विशाल लोकतंत्र की बागडोर संभालने का गौरव हांसिल भी हुआ ।
इस मौके पर सोनू सिंह , आरिफ खान , साहिल कनोजिया , दिनेश कटारिया  मौजूद थे ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: