Wednesday, November 8, 2017

पलवल में मलेरिया, डेंगू जैसी बिमारी से बचाव हेतु अधिकारियों की बैठक



पलवल, 08 नवम्बर,2017(abtaknews.com) उपायुक्त मनीराम शर्मा ने लोगों में मलेरिया, डेंगू जैसी बिमारी से बचाव हेतु स्वास्थ्य विभाग, आईएमए के चिकित्सक तथा नगर परिषद के अधिकारियों को लोंगो में जागरूकता उत्पन्न करने के उद्देश्य से अभियान चलाने बारे आवश्यक दिशा निर्देश दिए।उन्होंने स्वास्थ्य विभाग तथा नगर परिषद के अधिकारियों को जिला में नियमित तौर पर फौगिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि मलेरिया व डेंगू से बचाव के संबंध में लोगों में अधिक से अधिक जागरूकता उत्पन्न की जाए ताकि बदलते मौसम से होने वाली बिमारियों से बचा जा सके। 

सिविल सर्जन डॉ. आदित्स स्वरूप गुप्ता ने उक्त बिमारियों से बचाव के लिए लोगों से अपील की है कि सभी स्वंय व अपने परिवार के सदस्यों को पूरी बाजू के कपड़े पहने व पहनाएं, मच्छरदानी का प्रयोग करे, अपने घरों के आस-पास पानी खड़ा न होने दें, खड़े हुए पानी में काला तेल आदि का छिडक़ाव करें, गमलों व खाली बर्तनों, कन्टेनरों, कूलर, फ्रिज आदि में पानी इकट्ठा ना होने दे, इनको साफ रखें तथा अपने आस-पास साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। स्कूलों में भी बच्चों को जागरूक करने व इस अभियान में शामिल होने के लिए प्रेरित कर जनता को जागरूक किया जा रहा है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. जे.पी. प्रसाद व जिला स्वास्थ्य निरीक्षक सुरेश कुमार कौशिक ने बताया कि जिला में अब तक मलेरिया के 584 केस आए है। जिसमें सबसे ज्यादा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हथीन के 276 मलेरिया पोजिटीव केस है। 

उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी स्थिति ठीक है। अभी तक जिला में मलेरिया व डेंगू के कारण किसी भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं हुई है। जिला के सभी तालाबों में लार्वा नाशक मछली (गम्बोजिया व गप्पी) डाली गई हैं। ये मच्छलीयां मलेरिया व डेंगू के लार्वा को खा जाती हैं उन्हें पनपने नहीं देती। शहर में ब्रीडिंग चेकर्स वॉलेन्टियर्स के माध्यम से सोर्स रिडक्सन व एंटी लार्वा का कार्य करवाया जा रहा है तथा टेपीकोस दवाई का नालियों में छिडकाव करवाया जा रहा है। नगर पालिका/नगर परिषद/ग्राम पंचायत व स्वास्थ्य विभाग मिलकर फौगिंग का कार्य कर रहें हैं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: