Thursday, November 30, 2017

गीता हमें श्रेष्ठ कर्म करने की शिक्षा देती है;- सुबोध महाशय


Gita teaches us to do good deeds; - Subodh Mahasaya

फरीदाबाद 30 नवंबर(abtaknews.com )सूरजकुण्ड के अनगंपुर गांव स्थित महाशय श्रीचन्द पब्लिक स्कूल में  गीता  जयंती महोत्सव मनाया गया जिसमें स्कूल के सभी बच्चों ने बढ़ चढक़र भाग लिया। इस अवसर पर स्कूल के चेयरमेन सुबोध महाशय,वाईस चेयरमेन कपिल महाशय,प्रधानाचार्य रणविजय रंजन और स्कूल के अध्यापक व अध्यापिकाएं उपस्थित थे। इस मौके पर आचार्य राजेश ने वैदिक मंत्रों से हवन कराया जिसमें सभी ने मिलकर आहूति डाली। इसके उपरांत स्कूल के चेयरमेन सुबोध महाशय ने बच्चों को गीता भेंट की। इस अवसर पर सुबोध महाशय ने कहा कि श्रीमद् भागवत गीता में संसार की सभी समस्याओं का समाधान है। गीता को जितनी बार पढ़ा जाए,हर बार जीवन को समझने का नया संदेश अलग तरीके से सामने आता है। गीता व्यक्तिगत विकास और मोह,लालच के निकलने का सशक्त साधन है। गीता हमें कर्म करना सिखाती है। कर्म से ही प्राणी श्रेष्ठता हासिल करता है। उन्होनें कहा कि श्रीकृष्ण ने कुरूक्षेत्र के मैदान में अर्जुन को कर्म का पाठ पढ़ाया। गीता में कहा गया है कि श्रेष्ठ कर्म करने से धर्म की प्राप्ति होती है। धर्म से मनुष्य का उद्वार होता है। मनुष्य को हमेशा सद्कर्म करने चाहिए। सुबोध महाशय ने  कहा कि गीता केवल पुस्तक नहीं है,यह पूरे मानव जाति का कल्याण करने वाला गं्रथ है। गीता हमें श्रेष्ठ कर्म करने की शिक्षा देती है। हमें बुरे कार्यो और बुरे विचारों को त्यागकर अच्छे कार्य करने चाहिए। संसार में उग्रवाद,दुराचार की घटनाएं बढ़ रही है जिसे सुसंस्कारित शिक्षा से ही रोका जा सकता है। इस मौके पर प्रेम,भूषण,गीता शर्मा,पूनम शर्मा,कीर्ति,पिंकी सहित कई अध्यापक व अध्यापिकाएं  उपस्थित थी।                                                                                                                             


loading...
SHARE THIS

0 comments: