Wednesday, November 8, 2017

ग्रेटर फरीदाबाद सैक्टर 87 एसआरएस रॉयल हिल्स डबल मर्डर के आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

रॉयल सोसाईटी में हुए डबल मर्डर के आरोपियों को क्राईम ब्रांच डीएलएफ ने किया गिरफ्तार, सुपारी लेकर किया गया था दोनों युवकों का मर्डर

फरीदाबाद- 08 नवंबर,2017(abtaknews.com);  गत सप्ताह 30 अक्टूबर को ग्रेटर फरीदाबाद के सैक्टर 87 एसआरएस रॉयल हिल्स सोसाईटी के ए ब्लॉक कमरा नम्बर 1002 में हुए दो युवकों के डबल मर्डर के मामले में क्राईम ब्रांच डीएलएफ टीम ने सफलता हासिल करते हुए ब्लांईड डबल मर्डर की गुत्थी को सुलझा दिया है जिसमें यूपी के रहने वाले दो हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया गया है, दोनों आरोपी मृतकों के साथ सुरक्षाकर्मी बनकर उनके साथ पिछले डेढ माह से रह रहे थे, जिन्होंने एक सोची समझी साजिश के तहत सुपारी लेकर दोनों युवकों की हत्या की। हलांकि सुपारी लेकर हत्या करने की बात को आरोपी मनीष खारिज कर रहा है उसका कहना है कि उसने कहासुनी के चलते हत्या की थी। बता दें कि मरने वाले नरेन्द्र उर्फ कल्लू ने विदेश से पीएचडी की हुई थी और मारने वाला मनीष  बीएससी फाईनल का छात्र है।

फरीदाबाद डीएलएफ क्राईम ब्रांच पुलिस टीम ने आरोपी मनीष  गिरफ्त में नजर आ रहे ये दोनों युवक 30 अक्टूबर को ग्रेटर फरीदाबाद के सैक्टर 87 एसआरएस रॉयल हिल्स सोसाईटी के ए ब्लॉक कमरा नम्बर 1002 में मिली दो युवकों की हत्या के आरोपी हैं जिन्होंने मृतक युवकों के सुरक्षाकर्मी बनकर उन्हीं को मार डाला और मौके से फरार हो गये। यूपी के रहने दोनों आरोपियों को पुलिस बल्लभगढ बस स्टेंड से गिरफ्तार किया है। इस पूरी ब्लाईंड डबल मर्डर की गुत्थी सुलझाते हुए डीएलएफ क्राईम ब्रांच के ईचार्ज अशोक कुमार ने बताया कि आरोपी मनीष जो कि नोएडा और सागर जो कि मेरठ का रहने वाला है दोंनो को बल्लबगढ बस अड्डे से गिरफ्तार किया है जिन्होंने एक सोची समझी साजिस के चलते भनकपुर निवासी प्रेम और धतीर निवासी नरेन्द्र का रॉयल सोसाईटी के कमरे में गोली मारकर हत्या कर दी। 
डीएलएफ क्राईम ब्रांच इंचार्ज अशोक कुमार ने बताया कि मृतक नरेन्द्र उर्फ कल्लू ने पढाई में विदेश से पीएचडी कर रखी थी, पिछले कुछ महीने पहले उसके भाई का मर्डर हुआ था तभी से वो अपनी जान बचाने के लिये अपने गांव धतीर से दूर रायल हिल्स सोसाईटी में रह रहा था और उसके प्रेम जो कि पहले कई अपराधिक मामलों में लिप्त है वो ही रह रहा था,, इन्होंने अपनी सुरक्षा के लिये कुछ हथियार भी खरीेदे थे और इसी बीच सोची समझी चाल के तहत मनीष और सागर इनकी सुरक्षा के लिये लिये सुरक्षाकर्मी बनकर रहने लगे, 30 अक्टूबर की रात को मौके देखकर मनीष ने नरेन्द्र और प्रेम को गोली मार दी। डबल मर्डर की पूरी वारदात को सुपारी लेकर दोनों आरोपियों ने अंजाम दिया। वहीं आरोपियों के बारे में अशोक कुमार ने बताया कि आरोपी मनीष पढा लिखा बीएससी का छात्र है। इन दोनों आरोपियों से जिस मास्टर माईड ने सुपारी देकर हत्यायें करवाई है पुलिस उनकी तलाश में जुटी हुई है।आरोपी मनीष का कहना है कि उन्होंने किसी से भी कोई सुपारी नहीं ली थी, मामूली कहासुनी के चलते उसने दोनों को गोली मारी थी। ये सच है कि वो दोनों मृतकों के साथ सुरक्षाकर्मी बनकर ही रह रहे थे।

की लाश मिलने से पूरी सोसाईटी में सनसनी फैल गई, बंद कमरे में दोनों युवकों को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया, जिनकी लाश के पास एक देशी कट्टा और रिवाल्वर मिली है। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों युवकों के शवों को हिरासत में लेकर पोस्टमार्डम के लिये भिजवाया,, डीसीपी भूपेन्द्र ने डबल मर्डर की जानकारी देते हुए कहा कि एक युवक गांव भनकपुर और दूसरा पलवल जिले के गांव धतीर का है। पूरे मामले में गहनता से जांच की जा रही है। वीओ- ये हैं एसआरएस रॉयल हिल्स सोसाईटी के ए ब्लॉक का कमरा नम्बर 1002 जिसमें बंद पडे कमरे में में दो युवकों की लाश मिली है, ग्रेटर फरीदाबाद के सैक्टर 87 में हुए डबल मर्डर के बाद पूरे क्षेत्र में हडकंप मच गया, पुलिस सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची और कमरे में देखा तो दोनों युवकों के शवों के पास एक देशी कट्टा और दूसरी रिवाल्वर मिली, पुलिस ने दोनों हथियारों को बरामद कर शवों को पोस्टमार्डम के लिये सिविल अस्पताल भिजवा दिया है। 
इस डबल मर्डर के बारे में अधिक जानकारी देते हुए डीसीपी भूपेन्द्र की माने तो उन्हें सोसाईटी में डबल मर्डर की सूचना मिली थी जिसपर मौके पर पहुंचने पर देखा तो दो युवकों को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। जिनकी पहचान गांव भनकपुर और पलवल जिले के गांव धतीर के रहने वाले के रूप में हुई है। पूरे डबल मर्डर की वारदात के बारे मे जांच की जा रही है और मर्डर के तथ्यों को खोजा जा रहा है।
बाईट- भूपेन्द्र , डीसीपी सैंट्रल। 
अभी तक की मिली सूत्रानुसार जानकारी से पता लगा है के दोनों युवकों का मर्डर पुरानी रंजिस के तहत किया गया है, बाकी जांच के पता लगेगा।


loading...
SHARE THIS

0 comments: