Wednesday, October 4, 2017

बुरी तरह फंसा फरीदाबाद की मंदिर का बंदूकधारी प्रधान, महिला ने दर्ज करवाया केस

women-F-I-R-Against-lalit-gosai-nit-faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com ) एनआईटी नंबर 5 स्थित बांके बिहारी मंदिर के प्रधान ललित गोस्वामी ने बिना अनुमति के भीड़ भरे बाजार में रावण जलाया, एक महिला से बदसलूकी की और उसे जान से मारने की धमकी दी। इन आरोपों में पुलिस ने ललित गोस्वामी के खिलाफ धारा 354ए, 506, 283 और 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। एनआईटी नंबर 5 की निवासी इस महिला ने एनआईटी थाना पुलिस में शिकायत की है कि उसके पति पत्रकार हैं। बांके बिहारी मंदिर में अनाधिकृत रूप से स्टार अस्पताल खोला गया है। इस पर उनके पति ने एक खबर प्रकाशित की थी। कुछ समय बाद रात के समय उनके घर के बाहर स्विफ्ट कार में कुछ लोग आए। उन्होंने दहशत फैलाने के लिए उनकी सेंट्रो कार के शीशे तोड़ दिए। कुछ वर्ष पहले ललित गोस्वामी ने उनके पति पर सेक्टर 16 स्थित तत्कालीन पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर हमला भी किया था। इनकी शिकायतें पुलिस में दर्ज है। पीडि़त महिला ने बताया कि हाल में गुजरे जन्माष्टमी पर पर्व पर बांके बिहारी मंदिर में आयोजक मंच पर नाचने-गाने में व्यस्त थे। तो मंदिर प्रांगण में रात को एक 5 वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की गई। पुलिस की मुस्तैदी के कारण आरोपी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाया। उनके पति ने यह खबर भी प्रकाशित की।

एक दिन मैं तेरी ही खबर बना दूंगा : महिला ने बताया कि इस खबर के प्रकाशन से ललित गोस्वामी बौखला गया और उन्हें निपट लेने के संदेश भेजने लगा। उसने उनके पति को सबक सिखाने के लिए मंदिर में एक बैठक भी बुलाई। इसके बाद 31 अगस्त, 2017 को सिद्धदाता आश्रम के सामने आनंद गार्डन में वह अपने परिवार सहित एक मैरिज रिसेप्शन में शिरकत करने गई थी। वहां पहले से ही ललित गोस्वामी बंदूक लेकर खड़ा हुआ था और उन्हें देखते ही गाली-गलौज करने लगा। जिसका उनके पति ने विरोध किया। तो वह कहने लगा कि ‘तुम हमारी ख़बरें लगाते हो, एक दिन मैं तेरी ही खबर बना दूंगा।’ तब कुछ लोगों ने बीच-बचाव करवा दिया था।

रावण की जगह तेरे परिवार को फूंक दूंगा : महिला के मुताबिक़ 30 सितंबर, 2017 को बांके बिहारी मंदिर के पास कुलबीर सिंह मार्ग पर ललित गोस्वामी प्रशासन की अनुमति के बिना दशहरा पर्व आयोजित कर रहा था ,बिना अनुमति के उसने सडक़ पर रावण का पुतला खड़ा किया हुआ था। जब वह अपनी कार में परिवार सहित वहां से गुजर रही थी। तो ललित गोस्वामी ने हाथ में बंदूक लेकर उसका रास्ता रोक लिया। उसने ललित गोस्वामी से उनका रास्ता खोलने के लिए कहा। तो वह आग बबूला हो गया और वह गुस्से से कहने लगा कि सडक़ तुम्हारे बाप की नहीं है। अगर ज्यादा जिद की। तो रावण की जगह तेरे परिवार को फूंक दूंगा। सारी की सारी गोलियां तेरे व तेरे परिवार में उतार दूंगा। तुम्हें जान से खत्म कर दूंगा। फिर वह वहां से किसी तरह से बचकर निकल गई।

बोरिया-बिस्तर बांध लो : आरोप है कि रावण दहन करने के पश्चात ललित गोस्वामी बंदूक लेकर उनके घर आया और कहने लगा कि अब तुम लोग अपना बोरिया-बिस्तर बांध लो। वह मेरे चरित्र पर लांछन लगाने लगा। उसने उससे गंदी भाषा में बात की। पुलिस ने शिकायत पर कार्यवाही करते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: