Sunday, October 1, 2017

बल्लबगढ़ में किसान-मजदूर पंचायत ने कांग्रेस पार्टी में नई जान डाल दी


kisan-majdoor-panchayat-rally-by-congress-party-ballabgarh-faridabad

फरीदाबाद (abtaknews.com )बल्लभगढ़ की किसान-मजदूर पंचायत ने कांग्रेस पार्टी में नई जान डाल दी है।
kisan-majdoor-panchayat-rally-by-congress-party-ballabgarh-faridabad
‘किसान-मजदूर पंचायत’ की सफलता से प्रदेश में शुरु होगी सत्ता परिवर्तन की लहर : भूपेंद्र सिंह हुड्डा

बल्लबगढ़ नई अनाज मण्डी में आयोजित किसान-मजदूर पंचायत में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने किसान-कामगार-व्यापारियों को आह्वान करते हुए कहा कि वो जनविरोधी भाजपा सरकार को उखाड़ फैंकने के लिए एकजुट होकर संघर्ष करें। भाजपा ने अपने तीन साल के शासनकाल में आमजन को भयंकर आर्थिक संकट में धकेल दिया है, जिसके कारण आज सरकार के प्रति लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। आज की पंचायत में आपकी बड़ी हाजिरी इसका प्रमाण है। अगर इसी प्रकार से आपका साथ मिलता रहा तो तय है कि प्रदेश की भाजपा सरकार समय से पहले ताश के पत्तों की तरह ढह जाएगी।
किसानों की दुर्दशा का जिक्र करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसान वर्ग के लिए ऐसी स्थिति पैदा कर दी है, जो आजादी से पहले भी नहीं थी। स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद कांग्रेस शासनकाल में किसानों को लूट से बचाने के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित हुआ था, जो समय के साथ बढ़ता भी गया। लेकिन अब भाजपा राज में पहली बार ऐसा हुआ है कि किसानों की अपनी फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम पर बेचनी पड़ रही है। कांग्रेस पार्टी किसानों की इस तरह की अनदेखी को बर्दाश्त नहीं करेगी और उन्हें लामबन्द कर जागरूक करने का काम करती रहेगी। उन्होंने कहा कि गत चुनावों में भाजपा नेताओं ने जनता से अच्छे दिनों का वायदा किया था और धरातल पर सरकार कुछ अच्छा नहीं कर पाई तो लोगों को भ्रमित करने के लिए नया पैंतरा फैंक रही है कि वो अपनी समस्याओं के समाधान के लिए 2022 तक इन्तजार करें। कांग्रेस पार्टी के साथ-साथ जनता भी यह जानना चाहती है कि सरकार 2019 तक क्या करने वाली है ? लोगों के सामने सरकार की तस्वीर यह है कि उसने आमजन के लिए केवल तकलीफें बढ़ाई जबकि अपने चुनिंदा भाजपा के लाडले व्यवसायी घरानों की सम्पत्ति में आश्चर्यजनक बढ़ौतरी का मार्ग प्रशस्त किया। एक वर्ष में मुकेश अम्बानी की सम्पत्ति में 97 हजार करोड़ व गौतम अडानी की सम्पत्ति में 30 हजार करोड़ रूपये का इजाफा इसका जीता जागता उदाहरण है।
अपने शासनकाल की याद दिलाते हुए हुड्डा ने कहा कि उस समय हमारी बेहतरीन आर्थिक नीतियों की वजह से हर वर्ग की जेब में पैसा था। यही वजह थी कि चारों ओर विकास कार्यांे की झड़ी लगी हुई थी। बदरपुर फ्लाईओवर, राष्ट्रीय राजमार्ग फ्लाईओवर, सिक्स लेन, बाईपास रोड, मेडिकल कालेज, आईएमटी, मेट्रो रेल सहित शहर में सडक़ें व रेनीवेल पानी की बेहतर व्यवस्था यह सब कांग्रेस शासनकाल के बड़े प्रोजेक्ट रहे, जबकि भाजपा के तीन सालों में कोई भी ऐसा प्रोजेक्ट न हीं, जिसकी वह चर्चा कर सके बल्कि कांग्रेस सरकार में पास हुए परियोजनाओं का फीता काटकर झूठी वाहवाही लूट रहे है। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद के साथ-साथ बल्लभगढ़ तक मैट्रो का विस्तार भी कांग्रेस सरकार की ही देन रहा है। ये वो दिन थे यदि कोई व्यक्ति शहर के लेबर चौक पर सुबह 8 बजे मजदूर लेने जाता था तो काम के लिए मजदूर नहीं मिलते थे। आज स्थिति इसके उल्ट है। आप दोपहर तक लेबर चौक जायेंगे तो मजदूर खाली बैठे मिलेंगे। आज ना किसी के पास काम है और ना ही जेब में दाम है। व्यापारियों की जमा पूंजी भी घर परिवार का खर्च चलाते हुए इन तीन सालों में खत्म हो गई है। हालात इतने विकट हो गए हैं कि अब परिवार चलाने के लिए वे अपनी जायदाद भी बेचना चाहें तो बाजार में उन्हें खरीददार भी ढूंढें नहीं मिल रहे। श्री हुड्डा ने कहा कि भाजपा ने तीन वर्षाे में प्रदेश का विकास नहीं बल्कि विनाश किया है। आज न केवल लोगों की माली हालत बिगड़ी है बल्कि प्रदेश में चारों ओर असुरक्षा का माहौल बना हुआ है। हरियाणा में बढ़ रही अपराधिक घटनाओं ने क्या शहर और क्या गांव, सबको हिला कर रख दिया है। यहां तक कि आज न्यायालय सुरक्षित जगह नहीं रहे हैं। कानून व्यवस्था बनाए रखने में सरकार बुरी तरह विफल रही है। आए दिन फरीदाबाद में हत्याएं, लूटपाट, डकैती, बलात्कार व झपटमारी जैसे जघन्य अपराध घटित हो रहे है, जिससे आम आदमी अपनी व अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंतित है और आरक्षण आन्दोलन से लेकर रामपाल प्रकरण व अब राम रहीम मामले में भी खून-खराबा देखने को मिला। कानून व्यवस्था बनाये रखने में इतनी विफल सरकार को एक मिनट भी सत्ता में बने रहने का हक नहीं है। पंचायत में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने किसानों व मजदूरों से संबंधित 15 मांगें उठाते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने इन मांगों के प्रति कोई गंभीरता नहीं दिखाई, जिस पर पंचायत में मौजूद किसानों व मजदूरों ने हाथ उठाकर श्री हुड्डा का समर्थन करते हुए कहा कि वह उनके इस संघर्ष में पूरी तरह से उनके साथ है और श्री हुड्डा ने घोषणा की कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने पर उनकी इन सभी मांगों को एक कलम से पास करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला व कृषि ओमप्रकाश धनखड़ स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करवाने को लेकर कांग्रेस सरकार के दौरान अर्धनग्र होकर प्रदर्शन करते थे, लेकिन अब जब केंद्र व प्रदेश में तीन साल उनकी सरकार के कार्यकाल को बीत चुके है, अब तक उनकी सरकार में स्वामीनाथन रिपोर्ट क्यों लागू नहीं की गई।
पंचायत को सम्बोधित करते हुए रोहतक से सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने प्रदेश के बिगड़ते हालातों पर मुख्यमंत्री व भाजपा के मंत्री-विधायकों पर एक शायरी के अंदाज में हमला करते हुए कहा कि ‘बर्बाद गुलिस्ता करने को बस एक ही उल्लू काफी था, हर साख पर उल्लू बैठा है, अंजाम-ए गुलिस्ता क्या होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण जनता का गुस्सा उबाल पर है। भाजपा ने देश भर में नम्बर वन प्रदेश को जीरो पर ला दिया है। उन्होंने कहा कि युवाओं को ना रोजगार मिल रहा है और ना ही बेरोजगारी भत्ता। उन्होंने कहा कि 12वीं पास युवाओं को 6 हजार और स्नातक पास को 9 हजार बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में किया था, जिसे उसने पूरा नहीं किया। उन्होंने उपस्थित जनसमूह से वायदा करते हुए कहा कि आने वाले चुनावों में कांग्रेस के रुप में उनके सपनों की सरकार बनेगी और किसानों के कर्जे माफ करने के साथ बेरोजगार युवाओं को भत्ता भी दिया जाएगा। पंचायत को पूर्व स्पीकर एवं विधायक कुलदीप शर्मा, विधायक करण सिंह दलाल, विधायक उदयभान, विधायक ललित नागर, विधायक जयबीर वाल्मीकि आदि ने भी अपने-अपने संबोधन में भाजपा सरकार पर जमकर कटाक्ष किए।
इस अवसर पर ‘किसान-मजदूर पंचायत’ के सफल आयोजन पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा एवं सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने पंचायत के संयोजक पूर्व विधायक धर्म सिंह छोकर सहित आयोजकों विधायक ललित नागर, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव कुमारी शारदा राठौर, पूर्व विधायक रघुबीर सिंह तेवतिया, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन कुमार सिंगला, पूर्वमंत्री पं. शिवचरण लाल शर्मा, कांग्रेसी नेता विजय प्रताप, कांग्रेस फरीदाबाद के अध्यक्ष तरुण तेवतिया, पूर्व चेयरमैन अब्दुल गफ्फार कुरैशी, युवा पूर्व महापौर अशोक अरोड़ा, गुलशन बगगा, पूर्व पार्षद जगन डागर, एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप धनखड़, कृष्ण अत्री सहित पंचायत में मौजूद सभी कांग्रेसी नेताओं की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए उनसे आह्वान किया कि वह भाजपा सरकार को सत्ता से उखाडऩे के लिए एकजुट होकर कार्य करें और जन-जन में जाकर कांग्रेस सरकार की जनहितैषी नीतियों का प्रचार प्रसार करें।



loading...
SHARE THIS

0 comments: