Saturday, October 7, 2017

झगड़े का बीच -बचाव करने वाले युवक पर कातिला हमला,पुलिस ने नहीं दर्ज की FIR



फरीदाबाद (abtaknews.com):सावधान अगर आपके सामने कोई झगड़ा कर रहा है तो बीच बचाव बिल्कुल मत करियेगा ,हम यह बात इसलिए कह रहे है कही आप झगडे का शिकार न हो जाएं।ऐसा ही एक मामला सामने आया है फरीदाबाद की इंद्रा कलोनी से जहाँ एक युवक को घर के सामने झगड़ रहे दो युवकों का बीच-बचाब करना मँहगां पड़ गया,झगड़ा कर रहे युवको ने अपने और साथियों के साथ मिलकर बीच बचाव कराने वाले युवक के घर मे घुस कर उस पर जानलेवा हमला कर दिया,लाठी डंडों से उसकी बुरी तरह से पिटाई कर दी और उसे अधमरा करके फरार हो गए ।इस हमले में घायल युवक के सिर में 37 टाँके आये है जिसका इलाज सिविल अस्पताल बादशाह खान में चल रहा है।इस घटना में स्थानीय पुलिस ने सोने पर सुहागे का काम किया घटना के तीन दिन बीत जाने के बाद भी पीड़ित की FIR नही की और उल्टे पीड़ित युवक पर फैसले का दबाव बना रही है ।इतना ही नही इस घटना की जाँच कर रहे पुलिसकर्मी  पर आरोप है कि उसने उनकी FIR दर्ज करने की एवज में 10 हजार रुपये भी ले लिए।

बी के अस्पताल के बिस्तर पर लहूलुहान हालत में अरविन्द यादव का इलाज चल रहा है। घायल युवक का कसूर सिर्फ इतना था की उसने अपने घर के सामने झगड़ा कर रहे दो लड़कों का बीच-बचाव करवा कर उनके घर भेज दिया था,जिसके बाद वह 20/25की संख्या में आये और उसके घर में घुस कर लाठी डंडों से बुरी तरह से पीट कर लहूलुहान कर दिया और फरार हो गए।
घायल युवक अरविन्द की पत्नी रानी के आखों से छलकते आंसू इस बात की गवाही दे रहे है की उसके पति को बदमाशो ने घर मे कितनी बुरी तरह से पीटा है ,इस महिला के मुताबिक उसके घर के सामने दो युवक झगड़ा कर रहे थे   झगड़ा देख उसके पति ने उनका बीच बचाव करा दिया लेकिन उन बदमाशो को ये बात नागवांर गुजरी और कुछ देर बाद उन्होंने 20/25 की संख्या में पहुँच कर उसके घर पर हमला कर दिया ,बदमाशो के हाँथो में लाठी डंडे थे जिससे उन्होंने उसके पति की घर मे ही बुरी तरह से पिटाई कर दी ,जिससे उसके पति के सिर में 37 टाँके सहित काफी  गंभीर चोटें आई है ।जिसकी शिकायत उन्होंने सेक्टर 7 थाना पुलिस से की लेकिन घटना को तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ FIR दर्ज नही की है और आरोपी खुलेआम घूम रहे है,पीड़िता के मुताबिक घर मे वह उसकी सास और एक दिव्यांग देवर रहते है अब उन्हें भी आरोपी जान से मारने की घमकी दे रहे है।वही पुलिस ने एक तो तीन दिन बीत जाने के बाद उनकी FIR दर्ज नही की उल्टे उनसे कारवाही करने के नाम पर 10 हजार रुपये भी ले लिए और अब पुलिस उनपर फैसले का दबाव बना रही है।वही पीड़िता रो-रो कर कह रही है की कभी किसी के झगड़े का बीच-बचाव नही करना चाहिए,क्योकि उनके पति ने भी केवल यही कसूर किया था जिसके बाद बदमाशो ने ये हालात कर दी।

घायल युवक के भाई रविंदर यादव ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि पुलिसकर्मी ने कार्यवाही करने की एवज में उनसे 10000 रुपये ले लिए और अभी तक उनकी FIR दर्ज नही की वही अब उल्टे उनपर फैसले का दबाव बना रही है। पुलिस जाँच अधिकारी सुनील कुमार ने बताया कि  इस घटना की कार्यवाही करने के नाम पर 10000 हजार रुपये उन्होंने नहीं लिए लेने के आरोपी जाँच अधिकारी सुनील की माने तो उसने उनसे रुपये नही लिए। जब पूछा गया की घटना के तीन दिन बीत जाने के बाद भी आरोपियों के खिलाफ FIR दर्ज क्यों नही की तो सुनील कुमार ने बेतुका बयान देते हुए कहा की रोजनामचे में इनकी शिकायत दर्ज कर ली गई है घायल की मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद FIR दर्ज कर ली जाएगी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: