Friday, October 13, 2017

ईएसआई अस्पताल में ईलाज के नाम पर उगाही, पीड़ितों ने क्षेत्रीय कार्यालय पर किया प्रदर्शन

esi-hospital-doctor-demand-money-victim-peoples-agitation-faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com) बिमारी के लिये ईएसआई के नाम पर अगर आप अपनी मेहनत मजदूरी की कमाई का कुछ पैसा कटवाते हैं तो सावधान हो जाईये, आपको इन पैसों के बदले ईलाज नहीं मिलेगा,, ऐसा कहना है दर्जनों लोगों का जो अपने बिमार परिजन का ईलाज ठीक से करवाने के लिये फरीदाबाद के ईएसआई अस्पताल और ईएसआई के क्षेत्रीय कार्यालय में चक्कर काट रहे हैं, बता दें कि संत नगर के रहने वाले एक व्यक्ति का ईलाज पहले ईएसआई में हुआ फिर उसके एक निजी अस्पताल में रैफर कर दिया गया और वहां से एक और निजी अस्पताल, जहां ईएसआई के पैनल पर आने के बाद भी ईलाज का पैसा मांगा जा रहा है, इसकी शिकायत ईएसआई अस्पताल में की तो उन्होंने गैर जिम्मेदार जबाब देते हुए कहा कि अपने परिजन को बचाना है तो पैसा लगाओ। 

संत नगर निवासी राकेश सैनी, एस डी यादव ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि बेहतर ईलाज की गारंटी के नाम पर कर्मचारियों की मेहनत मजदूरी के पैसो को काटने वाला कर्मचारी राज्य बीमा निगम लोगों को मौत परोस रहा है,, ऐसा मामला फरीदाबाद के संत नगर से सामने आया है जहां ईएसआई में बुखार की बिमारी से पीडित भर्ती हुए दो व्यक्तियों की जान रैफर किये गयेे पार्क अस्पताल में चली गई, और अब तीसरे व्यक्ति की भी कोई देखभाल नहीं की जा रही है, जिसको लेकर परिजनों ने ईएसआई से पार्क अस्पताल में रैफर अपने परिजन को दूसरे निजी अस्पताल में भर्ती करवाया जो कि ईएसआई के पैनल में आता है मगर अस्पताल वाले ईलाज के पैसे मांग रहे हैं जिसकी शिकायत लेकर परिजन ईएसआई अस्पताल पहुंचे तो वहां से गैर जिम्मेदारी भरा जबाब मिला कि अगर अपने परिजन को बचाना है तो पैसा खर्च करना ही होगा। जिसकी शिकायत लेकर दर्जनों लोग ईएसआई के क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचे तो वहां से वापिस ईएसआई अस्पताल भेज दिया गया, ईएसआई के एक दफ्तर से दूसरे दफ्तर चक्कर काट रहे लोगों का अरोप है कि ईएसआई लोगों की मेहनत मजदूरी वाली कमाई के पैसों को हडप रहा है जिनके बदले में उन्हें ठीक प्रकार का ईलाज भी नहीं मिल रहा है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: