Monday, October 23, 2017

पत्रकार बिजेंद्र शर्मा पर हमला करने के आरोपियों की मंगलवार को अदालत में होंगी सुनवाई



फरीदाबाद, 23 अक्टूबर(abtaknews.com) माननीय सर्वाेच्च न्यायालय के आदेशों की पालना करने की कहने पर दबगों द्वारा पत्रकाऱ  बिजेंद्र शर्मा व उनकी पत्नी पर घर में घुस कर किए गए हमले के मामले में आज विद्वान न्यायाधीश गरिमा यादव  की अदालत मेें जमानत याचिका पर आज सुनवाई होगी।
इस मामले में आठ आरोपियों को १४ दिन की न्यायिक हिरासत में नीमका जेल भेजा गया था। गौरतलब है कि १९ अक्तूबर दिवाली की रात करीब साढ़े ग्यारह बजे श्यामलाल के पुत्र मनोज, गुल्लू, रघुवीर, बॉबी, आदि हैवी बम चला रहे थे। जिससे क्षेत्र के लोग परेशानी महसूस कर रहे थे। इस संदर्भ में पत्रकार बिजेंद्र शर्मा ने पुलिस को सूचित किया था तथा पुलिस के सूचना देने के बावजूद न आने पर उनकी पत्नी रीना शर्मा ने बम चला रहे लोगों से बम न चलाने की गुजारिश की थी, किंतु इन लोगों ने माननीय सर्वाेच्च न्यायालय के आदेशों के अलावा आम आदमी की परेशानी को नजर अंदाज करते हुए रीना शर्मा केे साथ दुव्र्यवहार किया। इन लोगों द्वारा पत्नी रीना शर्मा के साथ दुव्र्यवहार किए जाने के बाद पत्रकार बिजेंद्र शर्मा भी आ गए तथा उन्होंने पुलिस को फिर से इस संदर्भ में सूचना दी। जब वह अपने घर वापस चले गए तो लाठी-डंडों तलवार से लैस श्यामलाल, मनोज, जगवीर, खुशीराम उर्फ गुल्लू, बॉबी, श्यामकली पत्नी श्यामलाल ने घर में घुस कर हमला बोल दिया। इनके बाद कैलाश, राम प्रकाश आदि ने भी इन पर हमला बोल दिया। इस हमले में पुत्र बिजेंद्र शर्मा को पसली में मल्टीपल फ्रैक्चर और बाएं हाथ में फै्रक्चर के अलावा सिर में गंभीर चोटें आई थीं। हमलावरों ने पत्रकार की पत्नी रीना शर्मा के साथ न सिर्फ छेडख़ानी की बल्कि उनके कपड़े भी फाड़ डाले और सोने के जेवरात छीन ले गए। इस संदर्भ में थाना सारन पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ १४७,१४८,२३२,५०६, ३५४ और ३७९ धाराओं में केस दर्ज किया था। सभी आरोपियों को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समने प्रस्तुत किया गया था। जहां से इन्हें १४ दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था। आज इस मामले मेें अदालत में सुनवाई होगी, देखना होगा कि सर्वाेच्च न्यायालय के आदेशों को धता बताने वाले और लोगों के जीवन से खिलवाड़इ करने वालों के खिलाफ विद्वान न्यायाधीश क्या फैसला लेते हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: