Tuesday, October 10, 2017

तीन दिवसीय उद्यमशीलता जागरूकता शिविर का दूसरा दिन



फरीदाबाद, 10 अक्तूबर(abtaknews.com)वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा आयोजित तीन दिवसीय उद्यमशीलता जागरूकता शिविर के दूसरे दिन विद्यार्थियों को लघु उद्योग शुरू करने से संबंधित सरकारी औचारिकताओं और नियमों की जानकारी दी गई। शिविर का आयोजन सह-प्राध्यापक डॉ. वासुदेव मल्होत्रा की देखरेख में किया जा रहा है।
दूसरे दिन आयोजित विशेषज्ञ व्याख्यान में प्रो. तिलक राज ने लघु उद्योग से संबंधित तकनीकी और वाणिज्यिक पहलुओं के बारे में बताया। सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योगों को औद्योगिक विकास की रीढ़ बताते हुए उन्होंने कहा कि लघु उद्योगों में आने वाली चुनौतियों के बारे में बताया तथा बताया कि किस प्रकार से इन चुनौतियां का सामना किया जा सकता है। 
बोनी इंडस्ट्री के प्रबंध निदेशक तथा वाईएमसीए के पूर्व छात्र श्री राज भाटिया दूसरे दिन के मुख्य वक्ता रहे तथा उन्होंने लघु उद्योग के लिए परियोजना रिपोर्ट तैयार करने से संबंधित महत्वपूर्ण टिप्स विद्यार्थियों को दिये। उन्होंने बताया कि लघु उद्योगों से संबंधित वैज्ञानिक तथा तकनीकी पहलुओं के बारे में भी बताया। इंडस्ट्रियल सिस्टम फरीदाबाद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री रामेश चौधरी ने सरकारी एजेंसियों, बैंक तथा अन्य वित्तीय संस्थाओं से ऋण तथा वित्तीय सहयोग से संबंधित जानकारी विद्यार्थियों के साथ साझी की। उन्होंने बताया कि किस प्रकार बेहतर वित्त प्रबंधन से उद्यम को सफल बनाया जा सकता है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: